Memory Alexa Hindi

सूर्य की स्थिति के अनुसार स्त्रियों का स्वभाव



एक वर्ष में सूर्य की सदैव दो ही स्थितियां होती हैं। एक है उत्तरायन ( सूर्य मकर संक्रांति 14 या 15 जनवरी से 17 जुलाई के आसपास तक) और दूसरी है दक्षिणायन (सूर्य 17 जुलाई के आसपास से मकर संक्रांति 14 या 15 जनवरी तक) यह स्थितियां लगभग 6-6 माह के लिए रहती हैं।

Indian Girl Image
हमारे शास्त्रों के अनुसार यदि किसी स्त्री का जन्म सूर्य की उत्तरायन स्थिति में (14 या 15 जनवरी से 17 जुलाई के आसपास तक) हुआ है तो वह स्त्री सौभाग्यशाली, अच्छे रूप-रंग वाली, आकर्षक व्यक्तित्व की मालकिन , गुणवान, पुत्रवान और धनवान होती है। ऐसी स्त्रियां घर के कार्य करने में माहिर होती हैं और हर जगह आसानी से यश को प्राप्त कर लेती है। ये अपने जीवन साथी की उन्नति मे प्रेरणा का काम करती है। समान्यता इन्हे जीवन मे सभी भौतिक सुखों की प्राप्ति होती है।
हमारे शास्त्रों के अनुसार जिन स्त्रियों का जन्म सूर्य की दक्षिणायन स्थिति (17 जुलाई के आसपास से मकर संक्रांति 14 या 15 जनवरी तक) में हुआ है वे अधिकांश समय किसी न किसी बीमारी से ग्रसित रहती हैं। ये हर चीज़ को संदेह की दृष्टि से देखती है। उनका स्वभाव कुछ क्रोधी होता है तथा उनके सुख में भी कमी रहती है।उन्हें हमेशा प्यार में कमी महसूस होती है। ये लोगो से जल्दी घुल मिल नहीं पाती है और लोगो के दोषों को ही देखती है।लेकिन यह अपने परिवार के प्रति 100 % समर्पित होती है। ईमानदारी और दृढ़ संकल्प इनके दो प्रमुख गुण होते है जिससे यह हर परिस्तिथि का डटकर मुकाबला करती है ।
Indian Women Image


Ad space on memory museum