Memory Alexa Hindi
loading...

सुरीली आवाज के उपाय

Saraswati Second Hindi Yantra

सुरीली आवाज के उपाय
Surli awaz ke upay

 

    माँ सरस्वती




hand-logo 13.सुरीली आवाज़ की चाह रखने वालो को ज्यादा चीखना चिल्लाना नहीं चाहिए । इससे वोकल कॉर्ड्स में समस्या हो जाती है। गले की मांसपेशियों में खिंचाव होता है । आवाज़ पर बहुत बुरा असर होता है । 

hand-logo 14.खाना खाने के बाद  चुटकी भर काली मिर्च को एक चम्मच घी के साथ मिलाकर खाने से बैठी हुई आवाज साफ हो जाती है।

hand-logo 15.50  ग्राम मिश्री,25  ग्राम मुलहठी तथा 25  ग्राम काली मिर्च लेकर इन तीनों को मिलाकर पीस कर चूर्ण बनाकर किसी शीशी में रख लें। नित्य सुबह-शाम एक छोटा चम्मच चूर्ण को शहद मिला कर सेवन करने से गला ठीक वा आवाज़ सुरीली रहती है।

hand-logo 16. पानी को गुनगुना गरम कर उसमें चुटकीभर नमक डालकर दिन में 3-4 बार गरारा करने से बैठी हुई आवाज सही हो जाती है।


hand-logo17.5 ग्राम मुलहठी, 5 आँवले और 5 मिश्री को एक गिलास पानी में धीमी आंच पर उबालें । जब यह आधा रह जाय तो इस काढ़े का गर्म गर्म सेवन करें, इससे बैठा हुआ गला खुल जाता है आवाज सुरीली होती है ।

hand-logo 18.भोजन के पश्चात् 1 ग्राम काली मिर्च के चूर्ण में थोड़ा सा घी डालकर उसे चटाने से भी आवाज सुरीली होती है ।


Ad space on memory museum



इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।






दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।