Memory Alexa Hindi

शत्रु निवारण के उपाय

shatrunash-ke-upay

जानिए शत्रुओं से कैसे छुटकारा पाए

शत्रुनाश के उपाय
Shatrunash ke Upay


                   shatrunash-ke-upay

शत्रु निवारण के उपाय
Shatru Nivaran ke Upay



जीवन में कई बार ऐसा भी समय आता है कि कोई ताकतवर व्यक्ति / शत्रु किसी को अकारण ही परेशान करने लगता है। उससे जितना भी पीछा छुड़ाया जाय वह और भी ज्यादा परेशान करता है। उसके कारण व्यक्ति का जीना हराम हो जाता है हर समय भय, चिन्ता और असुरक्षा की भावना घेरे रहती है । उसकी शिकायत भी नहीं हो पाती है या शिकायत करने से भी कोई फायदा नहीं होता है । अनावश्यक धन की भी हानि होती है स्वास्थ्य भी ख़राब होने लगता है , मन किसी अज्ञात आशंका से भरा रहता है,
जानिए शत्रु नाश के उपाय, Shatrunash ke Upay,शत्रुनाश के उपाय, Shatrunash ke Upay ।
ऐसी स्तिथि में कुछ ऐसे उपाय बताये गए है जिन्हे चुपचाप पूर्ण विश्वास से करने से शत्रु के विरुद्ध जातक के प्रयास सफल होते है, शत्रु कमजोर पड़ने लगता है / शान्त हो जाता है अथवा मित्रवत व्यवहार करने लगता है ।
इन उपायों को करने से साहस आता है, नए शक्तिशाली मददगार मिल जाते है , सम्बंधित अधिकारी जिसके पास हम मदद के लिए जाते है वह ध्यान पूर्वक समस्या को सुनता है और उचित मदद करता है ।


शत्रु को परास्त करने के अचूक और अजमाए हुए उपाय
Shatru ko prast karne ke achuk aur ajmaye hue upay


Swastik यदि आपको कोई शत्रु अनावश्यक परेशान कर रहा हो तो एक भोजपत्र का टुकड़ा लेकर उस पर लाल चंदन से उस शत्रु का नाम लिखकर उसे शहद की डिब्बी में डुबोकर रख दें। आपका शत्रु आपका अहित नहीं कर पायेगा।

Swastik यदि कोई व्यक्ति किसी को बगैर किसी को अकारण ही परेशान कर रहा हो, तो शौच करते समय शौचालय में बैठे-बैठे वहीं के पानी से उस व्यक्ति का नाम लिखें और बाहर निकलने से पहले जिस जगह पर पानी से नाम लिखा था, उस स्थान को अपने बाएं पैर से तीन बार ठोकर मारें। लेकिन यह प्रयोग किसी बुरी भावना से न करें, अन्यथा खुद की हानि हो सकती है।

Swastik शत्रु shatru को शांत करने के लिए साबुत उड़द की काली दाल के 38 और चावल के 40 दाने मिलाकर किसी गड्ढे में दबा दें और उसके ऊपर नीबू को निचोड़ दें। नीबू निचोड़ते समय लगातार उस शत्रु का नाम लेते रहें, इस उपाय से जैसा भी शत्रु होगा वह बिलकुल निस्तेज जो जायेगा और वह आपका कोई भी अहित नहीं कर पायेगा ।

Swastik अगर शत्रु shatru पीछे पड़ा हो, किसी को बिना किसी कारण से परेशान कर रहा हो तो हनुमान जी की शरण में जाएँ । नित्य हनुमान जी को गुड़ या बूंदी का भोग लगाएं, हनुमान जी को लाल गुलाब चढ़ाकर हनुमान चालीसा , बजरंग बाण का पाठ करें और प्रतिदिन कच्ची धानी के तेल के दीपक में लौंग डालकर हनुमान जी की आरती करें , और अपने उनसे शत्रु को नष्ट करने / परास्त करने की प्रार्थना करें। अपनी कमीज़ की सामने वाली जेब में लाल रंग की छोटी हनुमान चालीसा रखें ,इससे संकटमोचन की कृपा से सभी तरह के अनिष्ट दूर होते है, मनोबल बढ़ता है, जातक निर्भय हो जाता है, नए और शक्तिशाली मित्र बनते है। शत्रु कुछ भी नहीं बिगाड़ पाता है और शांत हो जाता है।


Swastik यदि शत्रु shatru बहुत अधिक परेशान कर रहा हो तो एक मोर के पंख पर हनुमान जी के मस्तक के सिन्दूर से मंगलवार या शनिवार रात्री में उस शत्रु का नाम लिख कर अपने घर के मंदिर में रात भर रखें फिर प्रातःकाल उठकर बिना नहाये धोए उस मोर पंख को बहते हुए पानी में बहा देने से शत्रु शान्त हो जाता है ।

Swastik यदि कोई व्यक्ति किसी को बगैर किसी कारण के परेशान कर रहा हो तो शनिवार की रात्रि में 7 लौंग लेकर उस पर 21 बार उसका नाम लेकर फूंक मारें और अगले दिन रविवार को इनको आग में जला दें। यह प्रयोग लगातार 7 बार करने से अभीष्ट व्यक्ति का वशीकरण होता है अगर कोई शत्रु परेशान कर रहा हो तो वह शांत हो जाता है । लेकिन ध्यान दें कि यह प्रयोग किसी बुरी भावना से अथवा किसी का अहित करने के लिए कदापि नहीं करना चाहिए ।

Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यह साइट या इस साईट से जुड़ा कोई भी व्यक्ति, आचार्य, ज्योतिषी किसी भी उपाय के लिए धन की मांग नहीं करते है , यदि आप किसी भी विज्ञापन, मैसेज आदि के कारण अपने किसी कार्य के लिए किसी को भी कोई भुगतान करते है तो इसमें इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी । यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।।

अपने उपाय/ टोटके भी लिखे :-----
नाम:     

मोबाइल: 

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  • Admin Post
1.
pati patni anbanav
bhailal  

2.
Vevaha ka Baad karobar ma trace nahe hooters karo bar nahe calta ha Dushman Prasanna karta haa
Gurmeetsingh  

3.
Shatru ko mitra bnane ke upaay btaya.. Kripya krke
Shilpa  

4.
Dusham pr vijy
Ravi  

5.
Ji shatru jyada pareshan kar rage hai , koi upay bataye
Balraj  

6.
Dusman ka aana jana band karna hai ghar se dur rahe
Sumit gurjar  

7.
meri 1 dost hai ladki hai vo aur uske jija hi uske dusman bne hai uske jija uske sath ganda ghinauna kam.krna chahte hai
vo ghar me nhi bta pa rhi hai ghar me ladai jhagda na ho isliye
koi upay btaye ki uske jija ka usse pichha padna band kre
Rohit singh  

8.
Koi agar humse ek dum bt krna band kr de pr hum bt krna chahte hai koi upaye batye plz k wo bt krne lg jaye
Priya  

9.
सर मेरा बहुत दुश्मन हो गए है और वो लोग हमेशा मेरा पीछा करते है हमें मारने के लिए ,कुछ उपाय बताए।
कृष्णा महतो  

10.
mai kisi se shadi krna chahti thi pr usne muje dhokha diya uske liye upaye batye
priya  

11.
mera 10 hazaar rupaya ek beyant singh naam ke admi ne dhokhey m mujhe rakh k le liya or taal matol krta h. tb mujhe andaaza nhi tha ki mujhe dhokhey m rakh raha h vo admi.. but dhokhaa usney jaanbuj kr diya. pls guru ji koi achuk upsy bataye jissey kase bhi vo apne aap tyaar ho jye dene ko chahey kisi bji rup m de but paise vasul ho jye pure.. achuk upay de pls..
mujhe manshik asanti se feel hoti h es karan se .. paise ki bhoot tangi h waise bhi us pr es beyant singh ne ye dhokha de diya..
sudheer kumar sharma   

12.
मै बहुत परेशान हुँ आचार्य जी ,कृप्या मेरा समस्या का समाधान बताऐं। मेरा कोई भी काम नही हो रहा है, लोग ताने देतें है, की मै कब काम करूँगा ,कब मेरे भी एक अच्छा सा घर होगा, कब मैं शादी करुँगा, कुछ समझ मे नही आता है, और इस सभी का मजा मेरे कुछ अपने, दुश्मन मजा लेता है, कृप्या समाधान बताऐं।
ओम प्रकाश  

13.
life unsattled
Girish Chandra  

14.
life unsattled
Girish Chandra  

15.
kripya meri burai jahan tak faily ho vahan tak meri burai ko door karne ki kripa ki jaay
indra kumar  

16.
Shtru ka nash ka upay
Yarjetsmaster  

17.
यदि शत्रुओं का भय हो तो गणेश चतुर्थी, बुधवार या चतुर्थी तिथि को गणेश जी Ganesh ji को पान के पत्ते पर स्वास्तिक बनाकर अर्पित करें।
इससे बल और साहस प्राप्त होता है, शत्रुओं निस्तेज होते है।
admin memorymuseum.net  

18.
Koi bhi kitna bhi upay kar le jo karam karo ge o pao ge
Amit Jaiswal   

19.
Mai bahot pareshan hu mere company me mujhe kuchh log bahar nikalwana chahte hai koi upay ho bataye
Prakash pandey  

20.
Mai bahot pareshan hu mere company me mujhe kuchh log bahar nikalwana chahte hai koi upay ho bataye
Prakash pandey  

21.
Mai bahot pareshan hu mere company me mujhe kuchh log bahar nikalwana chahte hai koi upay ho bataye
Prakash pandey  

22.
Ham.apni.pattni.se.bahut.pare.saan.he.
Saurabh  

23.
shadi main badha ke upay
gauri  

24.
Mere gar me buri atma ka vash hai usko kese dur kare or shrtru bhi bahot meli tratrik kara raha hai bahot pareshan kar rahe hai
pratigna Dilip bhai naik  

25.
40 चावल 38 ऊडद दाल ऊपाय सही है
रामप्रसाद यादव  

26.
Meri wiefe ka bhae meri patni ko chadawa badawa deta hai or meri patni mujhe yekar tekar karti hai mera sala vi dhamki deta hai main bacha ke wajah se jinda hu mera jindagi bilkul nark ban chuka hai mai bahut parsani me hu kirpya mujhe koe salah dijiye mujhe bardas karne ka sahan sakti nahi hai
Rajesh rajak  

27.
Dusman se bcho
sonu c p s   

28.
क्या सात लौंग का टोटका सात शनिवार को करना है या शनिवार से शुरू करें और सात दिन तक करना है
श्री राम द्विवेदी  

29.
parsani se chutakara pane hetu upay
ek mites ka diya lekar apane ghar ke purv disha deepak jala de air usame haldi dalde
sarvesh dubet  

30.
latrines me name lekhna
mohit  

1.
यदि आपको कोई शत्रु परेशान करता हो तो सूर्यास्त से पहले एक मुट्ठी तिल में शक्कर मिलाकर किसी सुनसान जगह में ईश्वर से अपने शत्रु पर विजय की प्रार्थना करते हुए डाल दें फिर वापस आ जाएँ पीछे मुड़ कर न देखे शत्रु पक्ष धीरे धीरे शांत हो जायेगा। इस उपाय को माह में एक दिन, 6 माह तक अवश्य ही करें ।
admin memorymuseum.net  

2.
यदि किसी जातक को उसका शत्रु अकारण ही करता हो तो किसी तरह से उसकी फोटो हासिल करके उसे किसी सुनसान जगह में गड्ढे में दबा दें फिर उसके ऊपर थूकें और मल मूत्र करें । इससे शत्रु निस्तेज हो जायेगा, उस जातक को परेशान करना बंद देगा ।
लेकिन यह प्रयोग किसी को बेवजह परेशान करने के लिए नहीं करना चाहिए ।
admin memorymuseum.net  

3.
श्री अरविन्द त्रिपाठी जी आप से अनुरोध है कि आप इस साइट पर बहुत ज्यादा अपना प्रचार ना करें इससे वास्तविक यूजर जिनको अपनी बात कहनी होती है वह कह नहीं पाते है। आप कृपा करके कुछ कुछ दिन के अंतराल में ही अपने बारे में लोगो को बताएं । धन्यवाद
admin memorymuseum.net  

4.
श्री उमा शंकर जी आप कृपा इस साइट पर किसी से कोई भी गिला शिकवा ना करें , अगर आपको किसी से कोई भी शिकायत है तो आप कंपनी की मेल आई डी पर संपर्क करके अपनी बात कहे, और कृपा अपना मोबाईल नंबर भी अवश्य ही डालें । धन्यवाद
admin memorymuseum.net  

5.
यदि आपको कोई शत्रु अकारण ही परेशान करता हो तो उसका नाम लेते हुए दो जायफल कपूर से जलाकर उसकी राख को नाले में बहाएं ।इस उपाय को करने से शत्रु शान्त जायेगा , यह उपाय बिलकुल गोपनीय तरीके से करें किसी को कुछ भी ना बताएं ।
admin memorymuseum.net  

6.
यदि आपको कोई शत्रु बेवजह ही परेशान कर रहा हैं तो कर्पूर के काजल से शत्रु का नाम लिखकर उसे अपने पैर से मिटा दें। इससे शत्रु परास्त होने लगता है ।
admin memorymuseum.net  

7.
षष्ठी तिथि के स्वामी भगवान शिव के पुत्र स्कंद देव अर्थात् भगवान कार्तिकेय हैं। भगवान कार्तिकेय शक्ति के देवता , देवताओं के सेनापति है।
मनुष्य को जीवन में रूप, निर्भयता, विजय, प्रतिष्ठा आदि सब इनकी कृपा से ही प्राप्त होते है। "षष्टी के दिन भगवान कार्तिकेय पर नीला धागा / रेशमी धागा चढ़ाकर उसे अपनी बाँह में बाँधने से शत्रु परास्त होते है समाज में विजय मिलती है"।
admin memorymuseum.net  

8.
यदि आपका कोई शत्रु आपको बहुत परेशान करता है या आपको लगता है की को आपको हानि पहुंचाता सकता है तो मंगलवार के दिन एक नए लाल कपडे में 900 ग्राम लाल मसूर की दाल , सवा किलो गुड , कोई भी एक ताम्बें का बर्तन , एक शीशी चमेली के तेल की और 11 रुपये बांधकर उसे पहले हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी के चरणों से लगाकर अपनी सफलता के लिए प्रार्थना करें फिर किसी भी गरीब जरुरतमंद को दान में दें दें ….
यह उपाय लगातार 3 मंगलवार तक बिलकुल चुपचाप करें और इस दौरान कोई भी गलत कार्य, किसी पर भी गुस्सा न करें ,शत्रु अपने आप शांत होने लगेंगे ।
admin memorymuseum.net  

9.
जो लोग बाहर से घर पर आकर अपने जूते, चप्पल, मोज़े इधर-उधर फैंक देते, फैला देते हैं, उनके शत्रु बहुत प्रबल होते है उन्हें बहुत परेशान करते हैं।
इससे छुटकारा पाने के लिए अपने चप्पल-जूते आदि को नियत जगह पर सलीके से रखें, इससे शत्रु निस्तेज रहते है, लोग सम्मान करते है।
admin memorymuseum.net  

10.
भगवान कार्तिकेय, भगवान शिव के पुत्र और देवताओं के सेनापति माने गए है। इनकी आराधना करने से व्यक्ति को निर्भयता मिलती है, कोई भी संकट निकट भी नहीं आता है।
षष्टी के दिन भगवान कार्तिकेय ( शिव मंदिर में शिव दरबार में होते है ) पर नीला रेशमी धागा चढ़ाकर उसे अपनी बाँह में बाँधने से शत्रु परास्त होते है, मुक़दमे , राजद्वार, समाज में विजय मिलती है।
admin memorymuseum.net  

11.
षष्ठी तिथि के स्वामी भगवान शिव के पुत्र और देवताओं के सेनापति भगवान कार्तिकेय हैं। इनकी कृपा से निर्भयता प्राप्त होती है, राजद्वार , मुक़दमे आदि में सफलता मिलती है, शत्रु परास्त होते है। भगवान कार्तिकेय के गायत्री मंत्र "ओम तत्पुरुषाय विधमहे: महा सैन्या धीमहि तन्नो स्कन्दा प्रचोद्यात:॥" की एक माला का का जप अवश्य ही करें |
षष्टी के दिन भगवान कार्तिकेय पर ( मंदिर में शिव दरबार में कार्तिकेय जी भी होते है ) नीला रेशमी धागा / रिबन चढ़ाकर उसे अपनी बाँह में बाँधने से शत्रु परास्त होते है समाज में विजय मिलती है ।
admin memorymuseum.net  

12.
यदि शत्रुओं का भय हो तो गणेश चतुर्थी, बुधवार या चतुर्थी तिथि को गणेश जी Ganesh ji को पान के पत्ते पर स्वास्तिक बनाकर अर्पित करें।
इससे बल और साहस प्राप्त होता है, शत्रुओं निस्तेज होते है।
admin memorymuseum.net  


यहाँ पर आप अपनी समस्याऐं, अपने सुझाव , उपाय भी अवश्य लिखें |
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Reply
1.
pati patni anbanav
bhailal  

2.
Vevaha ka Baad karobar ma trace nahe hooters karo bar nahe calta ha Dushman Prasanna karta haa
Gurmeetsingh  

3.
Shatru ko mitra bnane ke upaay btaya.. Kripya krke
Shilpa  

4.
Dusham pr vijy
Ravi  

5.
Ji shatru jyada pareshan kar rage hai , koi upay bataye
Balraj  

6.
Dusman ka aana jana band karna hai ghar se dur rahe
Sumit gurjar  

7.
meri 1 dost hai ladki hai vo aur uske jija hi uske dusman bne hai uske jija uske sath ganda ghinauna kam.krna chahte hai
vo ghar me nhi bta pa rhi hai ghar me ladai jhagda na ho isliye
koi upay btaye ki uske jija ka usse pichha padna band kre
Rohit singh  

8.
Koi agar humse ek dum bt krna band kr de pr hum bt krna chahte hai koi upaye batye plz k wo bt krne lg jaye
Priya  

9.
सर मेरा बहुत दुश्मन हो गए है और वो लोग हमेशा मेरा पीछा करते है हमें मारने के लिए ,कुछ उपाय बताए।
कृष्णा महतो  

10.
mai kisi se shadi krna chahti thi pr usne muje dhokha diya uske liye upaye batye
priya  

11.
mera 10 hazaar rupaya ek beyant singh naam ke admi ne dhokhey m mujhe rakh k le liya or taal matol krta h. tb mujhe andaaza nhi tha ki mujhe dhokhey m rakh raha h vo admi.. but dhokhaa usney jaanbuj kr diya. pls guru ji koi achuk upsy bataye jissey kase bhi vo apne aap tyaar ho jye dene ko chahey kisi bji rup m de but paise vasul ho jye pure.. achuk upay de pls..
mujhe manshik asanti se feel hoti h es karan se .. paise ki bhoot tangi h waise bhi us pr es beyant singh ne ye dhokha de diya..
sudheer kumar sharma   

12.
मै बहुत परेशान हुँ आचार्य जी ,कृप्या मेरा समस्या का समाधान बताऐं। मेरा कोई भी काम नही हो रहा है, लोग ताने देतें है, की मै कब काम करूँगा ,कब मेरे भी एक अच्छा सा घर होगा, कब मैं शादी करुँगा, कुछ समझ मे नही आता है, और इस सभी का मजा मेरे कुछ अपने, दुश्मन मजा लेता है, कृप्या समाधान बताऐं।
ओम प्रकाश  

13.
life unsattled
Girish Chandra  

14.
life unsattled
Girish Chandra  

15.
kripya meri burai jahan tak faily ho vahan tak meri burai ko door karne ki kripa ki jaay
indra kumar  

16.
Shtru ka nash ka upay
Yarjetsmaster  

17.
यदि शत्रुओं का भय हो तो गणेश चतुर्थी, बुधवार या चतुर्थी तिथि को गणेश जी Ganesh ji को पान के पत्ते पर स्वास्तिक बनाकर अर्पित करें।
इससे बल और साहस प्राप्त होता है, शत्रुओं निस्तेज होते है।
admin memorymuseum.net  

18.
Koi bhi kitna bhi upay kar le jo karam karo ge o pao ge
Amit Jaiswal   

19.
Mai bahot pareshan hu mere company me mujhe kuchh log bahar nikalwana chahte hai koi upay ho bataye
Prakash pandey  

20.
Mai bahot pareshan hu mere company me mujhe kuchh log bahar nikalwana chahte hai koi upay ho bataye
Prakash pandey  

21.
Mai bahot pareshan hu mere company me mujhe kuchh log bahar nikalwana chahte hai koi upay ho bataye
Prakash pandey  

22.
Ham.apni.pattni.se.bahut.pare.saan.he.
Saurabh  

23.
shadi main badha ke upay
gauri  

24.
Mere gar me buri atma ka vash hai usko kese dur kare or shrtru bhi bahot meli tratrik kara raha hai bahot pareshan kar rahe hai
pratigna Dilip bhai naik  

25.
40 चावल 38 ऊडद दाल ऊपाय सही है
रामप्रसाद यादव  

26.
Meri wiefe ka bhae meri patni ko chadawa badawa deta hai or meri patni mujhe yekar tekar karti hai mera sala vi dhamki deta hai main bacha ke wajah se jinda hu mera jindagi bilkul nark ban chuka hai mai bahut parsani me hu kirpya mujhe koe salah dijiye mujhe bardas karne ka sahan sakti nahi hai
Rajesh rajak  

27.
Dusman se bcho
sonu c p s   

28.
क्या सात लौंग का टोटका सात शनिवार को करना है या शनिवार से शुरू करें और सात दिन तक करना है
श्री राम द्विवेदी  

29.
parsani se chutakara pane hetu upay
ek mites ka diya lekar apane ghar ke purv disha deepak jala de air usame haldi dalde
sarvesh dubet  

30.
latrines me name lekhna
mohit  



1.
यदि आपको कोई शत्रु परेशान करता हो तो सूर्यास्त से पहले एक मुट्ठी तिल में शक्कर मिलाकर किसी सुनसान जगह में ईश्वर से अपने शत्रु पर विजय की प्रार्थना करते हुए डाल दें फिर वापस आ जाएँ पीछे मुड़ कर न देखे शत्रु पक्ष धीरे धीरे शांत हो जायेगा। इस उपाय को माह में एक दिन, 6 माह तक अवश्य ही करें ।
admin memorymuseum.net  

2.
यदि किसी जातक को उसका शत्रु अकारण ही करता हो तो किसी तरह से उसकी फोटो हासिल करके उसे किसी सुनसान जगह में गड्ढे में दबा दें फिर उसके ऊपर थूकें और मल मूत्र करें । इससे शत्रु निस्तेज हो जायेगा, उस जातक को परेशान करना बंद देगा ।
लेकिन यह प्रयोग किसी को बेवजह परेशान करने के लिए नहीं करना चाहिए ।
admin memorymuseum.net  

3.
श्री अरविन्द त्रिपाठी जी आप से अनुरोध है कि आप इस साइट पर बहुत ज्यादा अपना प्रचार ना करें इससे वास्तविक यूजर जिनको अपनी बात कहनी होती है वह कह नहीं पाते है। आप कृपा करके कुछ कुछ दिन के अंतराल में ही अपने बारे में लोगो को बताएं । धन्यवाद
admin memorymuseum.net  

4.
श्री उमा शंकर जी आप कृपा इस साइट पर किसी से कोई भी गिला शिकवा ना करें , अगर आपको किसी से कोई भी शिकायत है तो आप कंपनी की मेल आई डी पर संपर्क करके अपनी बात कहे, और कृपा अपना मोबाईल नंबर भी अवश्य ही डालें । धन्यवाद
admin memorymuseum.net  

5.
यदि आपको कोई शत्रु अकारण ही परेशान करता हो तो उसका नाम लेते हुए दो जायफल कपूर से जलाकर उसकी राख को नाले में बहाएं ।इस उपाय को करने से शत्रु शान्त जायेगा , यह उपाय बिलकुल गोपनीय तरीके से करें किसी को कुछ भी ना बताएं ।
admin memorymuseum.net  

6.
यदि आपको कोई शत्रु बेवजह ही परेशान कर रहा हैं तो कर्पूर के काजल से शत्रु का नाम लिखकर उसे अपने पैर से मिटा दें। इससे शत्रु परास्त होने लगता है ।
admin memorymuseum.net  

7.
षष्ठी तिथि के स्वामी भगवान शिव के पुत्र स्कंद देव अर्थात् भगवान कार्तिकेय हैं। भगवान कार्तिकेय शक्ति के देवता , देवताओं के सेनापति है।
मनुष्य को जीवन में रूप, निर्भयता, विजय, प्रतिष्ठा आदि सब इनकी कृपा से ही प्राप्त होते है। "षष्टी के दिन भगवान कार्तिकेय पर नीला धागा / रेशमी धागा चढ़ाकर उसे अपनी बाँह में बाँधने से शत्रु परास्त होते है समाज में विजय मिलती है"।
admin memorymuseum.net  

8.
यदि आपका कोई शत्रु आपको बहुत परेशान करता है या आपको लगता है की को आपको हानि पहुंचाता सकता है तो मंगलवार के दिन एक नए लाल कपडे में 900 ग्राम लाल मसूर की दाल , सवा किलो गुड , कोई भी एक ताम्बें का बर्तन , एक शीशी चमेली के तेल की और 11 रुपये बांधकर उसे पहले हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी के चरणों से लगाकर अपनी सफलता के लिए प्रार्थना करें फिर किसी भी गरीब जरुरतमंद को दान में दें दें ….
यह उपाय लगातार 3 मंगलवार तक बिलकुल चुपचाप करें और इस दौरान कोई भी गलत कार्य, किसी पर भी गुस्सा न करें ,शत्रु अपने आप शांत होने लगेंगे ।
admin memorymuseum.net  

9.
जो लोग बाहर से घर पर आकर अपने जूते, चप्पल, मोज़े इधर-उधर फैंक देते, फैला देते हैं, उनके शत्रु बहुत प्रबल होते है उन्हें बहुत परेशान करते हैं।
इससे छुटकारा पाने के लिए अपने चप्पल-जूते आदि को नियत जगह पर सलीके से रखें, इससे शत्रु निस्तेज रहते है, लोग सम्मान करते है।
admin memorymuseum.net  

10.
भगवान कार्तिकेय, भगवान शिव के पुत्र और देवताओं के सेनापति माने गए है। इनकी आराधना करने से व्यक्ति को निर्भयता मिलती है, कोई भी संकट निकट भी नहीं आता है।
षष्टी के दिन भगवान कार्तिकेय ( शिव मंदिर में शिव दरबार में होते है ) पर नीला रेशमी धागा चढ़ाकर उसे अपनी बाँह में बाँधने से शत्रु परास्त होते है, मुक़दमे , राजद्वार, समाज में विजय मिलती है।
admin memorymuseum.net  

11.
षष्ठी तिथि के स्वामी भगवान शिव के पुत्र और देवताओं के सेनापति भगवान कार्तिकेय हैं। इनकी कृपा से निर्भयता प्राप्त होती है, राजद्वार , मुक़दमे आदि में सफलता मिलती है, शत्रु परास्त होते है। भगवान कार्तिकेय के गायत्री मंत्र "ओम तत्पुरुषाय विधमहे: महा सैन्या धीमहि तन्नो स्कन्दा प्रचोद्यात:॥" की एक माला का का जप अवश्य ही करें |
षष्टी के दिन भगवान कार्तिकेय पर ( मंदिर में शिव दरबार में कार्तिकेय जी भी होते है ) नीला रेशमी धागा / रिबन चढ़ाकर उसे अपनी बाँह में बाँधने से शत्रु परास्त होते है समाज में विजय मिलती है ।
admin memorymuseum.net  

12.
यदि शत्रुओं का भय हो तो गणेश चतुर्थी, बुधवार या चतुर्थी तिथि को गणेश जी Ganesh ji को पान के पत्ते पर स्वास्तिक बनाकर अर्पित करें।
इससे बल और साहस प्राप्त होता है, शत्रुओं निस्तेज होते है।
admin memorymuseum.net  


शत्रु निवारण के उपाय

shatrunash-ke-upay

शत्रुओं को परास्त करने के अचूक उपाय