Memory Alexa Hindi

शनि देव को कैसे प्रसन्न करें

Shani Dev Ko Kaise Prasan Kare

shanidev-ke-upay

hand-logo शनि अमावस्या 2019, शनि देव के उपाय hand-logo
hand-logo Shani Amavasya 2019, Shani Dev Ke upay hand-logo


 shanidev-ke-upay

hand-logo शनि अमावस्या, शनि देव को कैसे प्रसन्न करें hand-logo
hand-logo Shani Amavasya, Shani Dev ko Prassan kaise Karen hand-logo


shani dev ke upay शनि देव Shani Dev को न्याय का देवता कहा गया है जो मनुष्यों को उनके कर्मो के अनुसार फल देते है। जीवन में किसी भी तरह के सुखो की प्राप्ति हेतु शनि देव को अपने अनुकूल करना उनकी कृपा प्राप्त करना परम आवश्यक है।

shani dev ke upay शास्त्रों के अनुसार शनि देव की कृपा प्राप्त करके सभी मनोरथो को अवश्य सिद्द किया जा सकता है।

shani dev ke upay शनिदेव को परमपिता परमात्मा के जगदाधार स्वरूप कच्छप का ग्रहावतार और कूर्मावतार भी कहा गया है।

shani dev ke upay वह महर्षि कश्यप के पुत्र सूर्यदेव की संतान हैं। उनकी माता का नाम छाया है।

अवश्य पढ़ें :- इन उपायों से परीक्षा में मिलेगी श्रेष्ठ सफलता,

shani dev ke upay इनके भाई मनु सावर्णि, यमराज, अश्वनी कुमार जी है और शनि देव की बहन का नाम यमुना और भद्रा है।

shani dev ke upay उनके गुरु शिवजी हैं और उनके मित्र हैं काल भैरव, हनुमान जी, बुध और राहु ।

shani dev ke upay शनि न्याय के देवता है जो यदि शनिदेव बुरे कर्मो का दण्ड देते हैं तो शुभ कामों से कृपा भी बरसाते हैं। शास्त्रों में शनि के दस अति पुण्य प्रदान करने वाले नामों का वर्णन है, जिनका स्मरण,जप करने से ही सभी बड़े से बड़ा सकंट कैसे भी दु:खों का नाश होता है।
विशेषकर शनिवार को तो शनि देव के वह दस कल्याणकारी नमो का अवश्य ही उच्चारण करना चाहिए यदि पीपल के पेड़ के नीचे इन नामो का जाप किया जाय तो शनि देव अति प्रसन्न होते है। शनि देव के 10 नाम है :-----

कोणस्थ, पिंगल, बभ्रु, कृष्ण, रौद्रान्तक, यम, सौरि, शनैश्चर, मन्द, पिप्पलाश्रय

यह भी देखें :- प्रेम में सफलता के उपाय, मनचाहा प्यार पाने के उपाय

shani dev ke upay ज्यातिष शास्त्रों में सूर्य पुत्र शनि देव को कठोर एवं क्रूर ग्रह बताया गया है जिनकी दशा में समान्यता जातक को कष्ट उठाने पड़ते है । लेकिन इनसे हमेंशा अशुभ परिणाम ही नहीं मिलते हैं। शनि ग्रह से सम्बन्धित फलादेश देखते समय यह अवश्य ही देखना चाहिए कि क्या साढ़े साती सचमुच अशुभ फलदायी है।

shani dev ke upay यदि शनि प्रतिकूल हो तो यहाँ बताये जा रहे उपायों को करें, अपना चरित्र उत्तम बनाए रखे धैर्य का साथ ना छोड़े, बड़े बुजुर्गो और स्त्रियों को पूर्ण सम्मान दें तो शनि की दशा आसानी से कट जाती है ।

shani dev ke upayजब किसी जातक को शनि देव की कृपा प्राप्त होती है तो उसका भाग्य जागृत हो जाता है। शनि देव में रंक को राजा बनाने की शक्ति है ।

shani dev ke upay शनिवार के दिन शनि भगवान की विधि पूर्वक पूजा करने से शनि महाराज प्रसन्न होते है। अगर कुंडली में शनि की दशा, या किसी भी ग्रह की दशा खराब चल रही है तो भी इस दिन उनकी आराधना करने से अशुभ ग्रहो के प्रभाव को कम किया जा सकता है।

shani dev ke upayशनिवार के दिन मंदिर में शनि देवता के दर्शन अवश्य करें लेकिन ध्यान रहे कि उनकी आँखो में झाँकने की गलती भूल कर भी ना करें |

यह भी देखें :- जानिए रात्रि में किस समय के देखे सपने अवश्य सच होते है, स्वप्नों की अनोखी दुनिया

shani dev ke upay शनि देव को काला / नीला रंग अति प्रिय है। शनिवार के दिन सांय काल शनि मंदिर में शनि देव पर काला वस्त्र और सुरमा अवश्य ही चढाएं।

shani dev ke upay शनिवार के दिन शनि मंदिर में सरसों के तेल का दीपक जलाएं, सांय काल प्रदोष काल में ( 6 बजे से 8 बजे के बीच ) पीपल पर भी दीपक अवश्य ही जलाएं ।

shani dev ke upay शनि देव पर कड़वा तेल ( सरसो का तेल ) काले उड़द, काले तिल, लोहा, गुड़ एवं नीले या काले पुष्पों चढ़ाने से शनि देव प्रसन्न होते है ।

shani dev ke upay कोई भी पूजा बिना प्रशाद के पूरी नहीं होती है , शनिवार के दिन शनि देव को प्रसाद के रूप में श्री फल / नारियल , इमरती या तेल से बनी वस्तुएं के साथ अन्य फल चढ़ाएं, इससे आरोग्य की प्राप्ति होती है, कार्यो से अड़चने दूर होती है, आर्थिक हानि हो रही हो तो बंद होती है।

यह भी देखें :- यह है मधुमेह / शुगर के अचूक उपचार,

shani dev ke upay शनि की साढ़े के दुष्प्रभावों को दूर करने के लिए नित्य हनुमान चालीसा एवं बजरंग बाण का पाठ करना चाहिए।

shani dev ke upay शनिवार के दिन नंगे पैर हनुमान मंदिर जाएॅ और वहाँ पर जाकर अपने माथे पर उनके चरणो का सिंदूर लगाएॅ।

shani dev ke upay शनि की दशा में शुभ फलों की प्राप्ति हेतु काले घोड़े की नाल की अंगूठी बनाकर उसे दाएं हाथ की मध्यमा उंगली में पहनना चाहिए।

shani dev ke upay शनिवार के दिन शनि देव के मंदिर में सरसों का तेल और तांबा चढ़ाना चाहिए।

shani dev ke upay शनिवार के दिन लोहे के बर्तन में कड़वा तेल डालकर उसमें एक रूपया डालकर अपना चेहरा देखते हुए शनि का दान लेने वाले को दान दें ।

अवश्य पढ़ें :- इन उपायों से मिलेगा योग्य और मनचाहा जीवन साथी, जानिए शीघ्र विवाह के उपाय,

shani dev ke upay शनि दशा में महामृत्युंजय मंत्र का जाप रोज 108 बार करें। अथवा कम से कम 21 बार तो जरुर करें।

shani dev ke upay हर सोमवार को शिवलिंग पर कच्चा दूध चढ़ाते हुए काले तिल चढ़ाएं ।

shani dev ke upay शनि की दशा में रात्रि के समय कुत्ते को दूध पिलाएॅ, लेकिन स्वयं न पीएॅ।

यह भी पढ़े :- नौकरी पाने के अचूक उपाय,

shani dev ke upay शनि की दशा में शराब, माँस, मछली अण्डे आदि का सेवन न करें।

shani dev ke upay नित्य अपनी थाली के भोजन मे से एक रोटी अलग करके उसके तीन हिस्से करके , एक गाय , एक कुत्ते और एक कौओं को खिलाएॅ।

Published By : Memory Museum
Updated On : 2019-06-03 08:35:55 PM



Ad space on memory museum


अपने उपाय/ टोटके भी लिखे :-----
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Post
No Tips !!!!
No Tips !!!!
दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।

शनि देव को कैसे प्रसन्न करें

shani ki sadesati