Memory Alexa Hindi

सास बहु के सम्बन्ध

saas-bahu-ke-sambandh

सास बहु के सम्बन्ध

saas-bahu-ke-sambandh

सास बहु के उपाय
Saas bah ke upay



                    vashikaran ke Upay

सास बहु के बीच अच्छे सम्बन्ध कैसे बने
saas bahu ke bech ache sambandh kaise banne




हिन्दू धर्म शास्त्रों में पुत्र का बहुत महत्व है । पुत्र को अपने माता पिता अपने पितरों को नरक से बचाने वाला कहा गया है। हर माता पिता की यह हार्दिक इच्छा होती है कि उनके योग्य और वंश का नाम रौशन करने वाला पुत्र हो जिसके साथ वह अपना जीवन बिता सके।

हर व्यक्ति चाहता है कि उसके घर में सुख शान्ति हो लेकिन कई बार देखा जाता है कि परिवार में लड़के की शादी होने पर जब घर में बहु आती है तो परिवार के लोगो का उसके साथ सामंजस्य नहीं बैठ पाता है घर में कलह होनी शुरू हो जाती है । आज कल शादी के बाद अलग रहने का चलन बहुत ही ज्यादा बढ़ गया है इससे माँ बाप जिन्होंने अपने पुत्र को बढ़े ही लाड़ प्यार से पाला होता है की स्थिति बहुत ही विकट हो जाती है ।
पहले पुत्र को बुढ़ापे का सहारा कहा जाता था अब पुत्र जब पढ़ लिख कर कुछ करने लायक होता है बहुधा देखा जाता है कि शादी के बाद अपनी पूर्णतया अलग ही दुनिया बसा लेता है, या तो अलग हो जाता है या साथ रह कर भी ऐसी स्तिथि हो जाती है कि अलगाव ही बना रहता है । इसके बहुत से कारण हो सकते है ।


शादी के बाद एक लड़की अपना सब कुछ छोड़ कर एक नए घर, नए वातावरण में आती है वहाँ पर उसे अपना सबसे नजदीकी अपना पति ही लगता है जिसको वह अपना तन, मन, धन सब कुछ सौप देती है लेकिन उस घर में उसके पति के पहले से ही रिश्ते माता पिता, भाई भाभी, बहन बहनोई होते है जिनके साथ वह लम्बे समय से रह रहा होता है । इन रिश्तों से आपसी सामंजस्य बनाना बहु और परिवार के अन्य सदस्यों के लिए कई बार बहुत ही कठिन हो जाता है ।

इसके अतिरिक्त आज कल की संस्कृति, तेजी से बढ़ते टी वी , इन्टरनेट के चलन, बढ़ते भौतिकवाद के कारण भी नव दम्पति अपनी एक अलग ही रूमानी दुनिया का सृजन कर लेते है जिसके कारण भी कई बार टकराव होने लगता है।

याद रखिये साथ में रहने से परिवार और नव दम्पति दोनों को ही बहुत लाभ होते है । उस घर की आने वाली संताने सुशिक्षित और सुसंस्कृत होती है, परिवार में आर्थिक , सामाजिक और मानसिक सुरक्षा रहती है , बड़ी से बड़ी मुश्किलें भी आसानी से हल हो जाती है ।

परिवार में टकराव , अनबन सबसे ज्यादा सास और बहु के बीच ही होती है , लेकिन इसका सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव लड़के पर ही पड़ता है । यहाँ पर हम कुछ उपाय बता रहे है जिससे सास बहु के बीच कलह दूर रह सकती है ।

hand logo सास व बहू में आपसी संबंध में कटुता होने पर बहू या सास दोनों में कोई भी चांदी का चौकोर टुकड़ा अपने पास रखें, और ईश्वर से अपनी सास / बहु से सम्बन्ध अच्छे रहने की प्रार्थना करे । इससे दोनों के बीच में सम्बन्ध प्रगाढ़ होते है ।

hand logo सास या बहु में जो भी कोई सम्बन्ध सुधारने को इच्छुक हो वह शुक्ल पक्ष के प्रथम बृहस्पतिवार से माथे पर हल्दी या केसर की बिंदी लगाना शुरू करें।

hand logo सास-ससुर का कमरा सदैव दक्षिण-पश्चिम दिशा में ही होना चाहिए और बेटे-बहू का कमरा पश्चिमी या दक्षिण दिशा में। अगर बेटे-बहू का रूम दक्षिण-पश्चिम में होता है, तो उनका सास-ससुर से झगडा बना ही रहेगा, घर में आये दिन कलेश रहेगा । परिवार पर अपना नियंत्रण रखने के लिए इस दिशा में घर के बडों को ही रहना चाहिए।.


hand logo किचन कभी भी घर के ईशान कोण या मध्य में ना हो, यह आपसी संबंधों के लिए बेहद घातक है। घर की रसोई आग्नेय कोण यानी उत्तर-पूर्व में होनीं चाहिए , रसोई गलत जगह में होने पर सास-बहू के आपसी क्लेश, मनमुटाव बना ही रहेगा ।
अगर रसोई में दोष है तो उसके आग्नेय कोण में एक लाल रंग का बल्ब लगा दें , इसके अतिरिक्त अगर रसोई घर आग्नेय दिशा के स्थान पर किसी और दिशा में बनी हो तो उसकी दक्षिण और आग्नेय दिशा की दीवार को लाल रंग से रंगकर कर उसका दोष दूर किया जा सकता हैं।

hand logo जिस घर की स्त्रियां / बहु घर के वायव्य अर्थात उत्तर-पश्चिम कोण में शयन / निवास करती है वह अपना अलग से घर बसाने के सपने देखने लगती है। इसलिए इस दिशा में नई दुल्हन को तो बिलकुल भी नहीं रखे अन्यथा उसका परिवार के साथ अलग होना तय है । वास्तु शास्त्र के नियम अनुसार दक्षिण-पश्चिम कोण में सास को सोना चाहिए , उसके बाद बड़ी बहु को पश्चिम दिशा में और उससे छोटी बहु को पूर्व दिशा में शयन करना चाहिए। इससे घर की स्त्रियों में प्रेम बना रहेगा ।

hand logo सास बहु में कलेश होने पर जो चाहता है कि आपसी रिश्ते सुधरे उसे गले में चांदी की चेन धारण करनी चाहिए और यह भी ध्यान रहे कि कभी किसी से भी कोई सफेद वस्तु न लें।





Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यह साइट या इस साईट से जुड़ा कोई भी व्यक्ति, आचार्य, ज्योतिषी किसी भी उपाय के लिए धन की मांग नहीं करते है , यदि आप किसी भी विज्ञापन, मैसेज आदि के कारण अपने किसी कार्य के लिए किसी को भी कोई भुगतान करते है तो इसमें इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी । यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।।

यहाँ पर आप अपनी समस्याऐं, अपने सुझाव , उपाय भी अवश्य लिखें |
नाम:     

ई-मेल:   

मोबाइल: 

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Reply
1.
sir, meri sas k karan mere or mere bhusband ko door hona pada or ab main apni mumy papa k ghar reh rahi hun kyunki meri sas bolti main tuje apne bete k sath nhi rehne dungi divorce ka case chal raha h husband nhi chahta but apni mom k liye muje divorce dene ko b tayar h plz koi aisa solution btao jisse mere husband muje talak dene se mana kare sir meri choti beti b h 1 saal ki plzzz..
raini  

2.
sir,
mere bhai ka naam bhushan hai iske life me bhahot pareshani pls aap kuch upay bataye isko achi job nahi,khud ka makan nahi, shadi bhi nahi hui iska dob-15.01.1980 time 6.45 am place - bhandara (maharashtra)
BHUSHAN  

3.
Saas bahu me nahi banti hai.choti choti batao pe bahas hote hote baat badti jaati hai.essa mahine me do teen baar ho jata hai
Rajash bhalla   

4.
sir meri patni aur maa ki bilkul nhi banti.meri patni bhaut ziddi nature ki hai. hamare ghar ko usne narak bna ke rakha hai. meri maa bholi bhali hai. usko to bilkul bhi achha nhi chahti. isi karan hum alag room le kar reh rahe hai.meri patni ghar vapas nhi jana chahti.SIR PLZ KOI ACHOOK SA UPAY BATAYEN .JIS SE MERA TOOTA HUA GHAR PHIR SE EK HO JAYE.MAIN ZINDGI BHAR AAPKA AABHARI RAHUNGA.PLZ SIR MAIN SACH MEIN BHAUT DUKHI HU. Thanks
Sandeep Sukh  

5.
Kundali visheshan mera dob hai 01-01-1994
Time hai 9 - 5 pm
Place Mumbai
Kiran chavda  

6.
संतान कब तक होगी
.अचॅना यादव  

7.
Mere bhaiyo ki shadi nhi hui abhi tq unki umra36.aur34 h dono sharab pite h abhi rahu or mangal k jaap krwaye h pr frk nhi h .papa ka samman bhi nhi krte or karj bahut ho gaya h plz kich upay bataye.
Anisha sharma  

8.
Mere bhaiyo ki shadi nhi hui abhi tq unki umra36.aur34 h dono sharab pite h abhi rahu or mangal k jaap krwaye h pr frk nhi h .papa ka samman bhi nhi krte or karj bahut ho gaya h plz kich upay bataye.
Anisha sharma  

9.
संतानसुख कब है जन्म ता.10:04:1984
हेमत मोतिराम मगरे  



No Tips !!!!

सास बहु के सम्बन्ध

saas-bahu-ke-sambandh