Memory Alexa Hindi

रोग निवारण के उपाय

Rog Nivaran ke upay

Shiv Ji Tips Image

रोग निवारण के उपाय

Rog Nivaran ke upay

Rog Nivaran ke Upay

यदि आप या आपके परिवार का कोई भी सदस्य किसी भी प्रकार की बीमारी से ग्रस्त है या रोग एवं दुर्घटनाओं के सम्भावना अधिक रहती है तो यहाँ पर स्थापित सिद्ध 'महामर्तुन्जय यंत्र' के नित्य दर्शन से अवश्य ही लाभ प्राप्त करें, इस दिव्य ईश्वरीय वरदान में पूर्ण श्रद्धा रखें |

रोग निवारण के उपाय | Rog nivaran ke upay


                    maha mrityunjaya yantra hindi

रोग दूर करने के उपाय | Rog Dur Karne Ke upay



नोट --  इन सिद्ध यंत्रों की स्थापना सभी प्राणियों के कल्याण हेतु की गयी है, यदि आपके मन में कोई संदेह है, या आप इन यंत्रों में विश्वास नहीं रखते है तो आप इस पेज को बंद कर दें , परन्तु इन यंत्रों का उपहास एवं अनादर न करें ।

जिस घर में जब कोई रोग आ जाता है तो उस रोगी के साथ साथ उस घर के सभी व्यक्ति भी मानसिक रूप से चिंता और आशांति का अनुभव करने लगते है , लेकिन कुछ छोटी छोटी बातो को ध्यान में रखकर हम हालत पर काबू पा सकते है , शीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते है,
जानिए रोग निवारण के उपाय, Rog Nivaran ke upay, रोग दूर करने के उपाय, Rog Dur Karne ke upay, रोग निवारण टोटके, Rog Nivaran ke totke, रोग निवारण यंत्र, Rog Nivaran yantra, रोग दूर करने के टोटके, Rog Dur Karne ke Totke ।

महामृत्युञ्जय मंत्र
Mahamrtunjay Mantra

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।
उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥


Kalash One Image हिन्दु धर्म शास्त्रो में महामृत्युञ्जय मंत्र ( Mahamrtunjay Mantra ) को अत्यन्त शक्तिशाली माना गया है । किसी भी रोग में इसका जाप परम फलदायी कहा गया है इसे रोग निवारक या रोग मुक्ति मन्त्र भी कहते है । नित्य प्रात: स्नान के पश्चात सफ़ेद वस्त्र धारण करके ईशान या पूर्व दिशा की तरफ मुख करके रुद्राक्ष की माला से इस मन्त्र जप करने से आरोग्य की प्राप्ति होती है, असाध्य से असाध्य रोग भी दूर होते है ।


Kalash One Image सूर्य जब भी मेष राशी में प्रवेश करें (चैत्र शुक्ल प्रतिपदा) तो प्रात: काल नीम की ताजी कपोलें , मिश्री / गुड़ के साथ चबा कर / पीस कर कर खाने से वर्ष भर रोग दूर रहते है , यह घर के सभी छोटे बड़े व्यक्तियों को खाना चाहिए और दूसरो को बाटना भी चाहिए ।

Kalash One Image यदि आपके परिवार में कोई व्यक्ति बीमार है तो अगर संभव हो तो उसे सोमवार को डॉक्टर को दिखाएँ और उसकी दवा की पहली खुराक भगवान शिव को अर्पित करके कुछ राशी भी चड़ा दें और रोगी व्यक्ति के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करें , व्यक्ति के बहुत जल्दी ही ठीक हो जाने की सम्भावना बन जाती है ।

Kalash One Image हर पूर्णिमा को किसी भी शिव मंदिर में भगवान भोलेनाथ से अपने परिवार को निरोग रखने की प्रार्थना रखें ,तत्पश्चात मंदिर में और गरीबों में कुछ ना कुछ फल,मिठाई और नगद दान अवश्य दें ।

Kalash One Image रोगी व्यक्ति को मंगलवार और शनिवार किसी भी दिन हनुमान जी की मूर्ति से सिंदूर लेकर उसके माथे पर लगाने से उसका दिल मजबूत होता है और रोगी जल्दी स्वस्थ भी होता है ।


Kalash One Image यदि कोई बीमार व्यक्ति प्रात: काल एक गिलास पानी लेकर पूर्व दिशा की ओर मुंह करके खड़े होकर एँ मन्त्र का 21 बार जाप करके पी जाय एवं ईश्वर से अपने रोग को दूर करने के लिए प्रार्थना करें तो शीघ्र ही स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होता है। यह प्रयोग सोमवार से शुरू करके रविवार तक लगातार 7 दिन तक करना चाहिए ।

Kalash One Image अशोक के वृक्ष की ताजा तीन पत्तियों को प्रतिदिन प्रातः चबाने से चिंताओं से मुक्ति मिलती है और स्वास्थ्य भी उत्तम बना रहता है ।

Kalash One Image यदि किसी बीमार व्यक्ति का रोग ठीक ना हो रहा हो तो उसके तकिये के नीचे सहदेई और पीपल की जड़ रखने से बीमारी जल्दी ठीक होती है ।


Kalash One Image यदि किसी रोगी को मृत्युतुल्य पीड़ा हो रही हो , तो जौ के आटे ( बाजार में यह आसानी से उपलब्ध है ) में काले तिल और सरसों का तेल मिला कर रोटी बना कर रोगी के ऊपर से 7 बार उतार कर किसी भैंसे को खिलाएं त्वरित लाभ मिलता है ।

Kalash One Image यदि कोई व्यक्ति लम्बे समय से बीमार है तो उसे घर के दक्षिण पश्चिम कोने ( नैत्रत्य कोण ) के कमरे में दक्षिण दिशा में सर रखकर सुलाएं , उनकी दवाएं और जल कमरे के ईशान कोण में रखें । ध्यान रखें रोगी व्यक्ति अपनी दवाएं और अपना खाना पीना ईशान कोण अथवा पूर्व की तरफ मुंह करके ही खाएं ।

Kalash One Image यदि घर का कोई व्यक्ति अधिक समय से बीमार हो तो उसके तकिये के नीचे मणिक्य रखने से वह जल्दी स्वस्थ होता है ।


Ad space on memory museum



दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यह साइट या इस साईट से जुड़ा कोई भी व्यक्ति, आचार्य, ज्योतिषी किसी भी उपाय के लिए धन की मांग नहीं करते है , यदि आप किसी भी विज्ञापन, मैसेज आदि के कारण अपने किसी कार्य के लिए किसी को भी कोई भुगतान करते है तो इसमें इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी । यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।।

अपने उपाय/ टोटके भी लिखे :-----
नाम:     

ई-मेल:   

मोबाइल: 

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Post
1.
घर में कोई सदस्य बीमार हो जाए तो उसको नित्य शहद में थोड़ा सा चन्दन मिला कर चटाएं ।
शीघ्र ही तबियत सही होने लगेगी।
admin memorymuseum.net  

2.
अगर घर में कोई बीमार बना रहता है तो करे ये उपाय। बाजार से से कपास के कुछ फूल खरीद लें। फिर रविवार को शाम को 5 फूल, साफ कर के आधा गिलास पानी में भिगो दें। अगले दिन सोमवार को प्रात: उठ कर गिलास से फूल को निकाल कर फेंक दें और उसके पानी को पी जाएं।
जिस गिलास या बर्तन में पानी पीएं, उसे घर में कहीं पर भी उल्टा कर के रख दें। कुछ ही दिनों में स्वास्थ्य सही होना शुरू हो जायेगा ।
admin memorymuseum.net  

3.
भादों माह में अच्छे स्वास्थ्य के लिए ना करें ये काम :-

भादों माह में दही ना खाएं, भादों माह में दही खाने से स्वास्थ्य ख़राब होता है।
भादों माह में गुड़ नहीं खाएं, भादों माह में गुड़ खाने से गला ख़राब होता है, स्वर बिगड़ता है।
भादों माह में तिल का तेल नहीं खाएं, इस माह तिल के तेल का सेवन करने से आयु का नाश होता है।
भादों माह में नारियल का तेल नहीं खाएं, इस माह में नारियल का तेल खाने से संतान सुख में कमी आती है।
भादों माह में दूसरे का दिया भात नहीं खाएं अन्यथा धन का नाश होता है।
admin memorymuseum.net  

4.
अगर घर में कोई लगातार बीमार रहता हो, परेशानियाँ खत्म नहीं हो रही है तो कपूर को घी में भिगोकर इसे घर में सुबह शाम जला दे।
ऐसा करने से घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है, सकारत्मक ऊर्जा फैलती है, स्वास्थ्य ठीक होता है ।
admin memorymuseum.net  

5.
हर माह के प्रथम सोमवार को अपने ईष्ट देव का नाम लेते हुए थोड़ी सी पीली सरसों अपने सर पर से 7 बार घुमाकर घर से बाहर फ़ेंक दें .....रोग आपके पास भी नहीं आयेंगे । इसको करते समय ॐ शब्द का उच्चारण करते रहे|
admin memoryuseum.net  

6.
यदि कोई बार बार बीमार होता है तो वह सोमवार की रात 9 बजे के पश्चात शिवालय में जाकर शिवलिंग पर कच्चा दूध मिश्रित जल अर्पित करते समय 'ऊँ जूं सः' का जाप करें।
एवं प्रतिदिन इस मंत्र का 108 बार जप करें। इस उपाय से असाध्य से असाध्य बीमारी से भी मुक्ति मिलती है।
admin memorymuseum.net  

7.
यदि घर पर किसी की तबियत ज्यादा समय ख़राब रहती हो तो सोते समय उनका सिरहाना पूर्व की ओर रखें |
और उनके सोने वाले कमरे में सेंधा नमक के कुछ टुकडे एक कटोरी में रखें |
इससे स्वास्थ्य सभी रहता है |
admin memorymuseu.net  

8.
यदि कोई जातक बहुत बीमार रहता है तो प्रत्येक सोमवार की रात को 9 बजे के पश्चात किसी शिवालय में जाकर कच्चा दूध मिश्रित जल शिवलिंग पर अर्पित करते समय "ऊँ जूं सः" मन्त्र का जाप करें। प्रतिदिन इस मंत्र का 108 बार अर्थात एक माला जप अवश्य ही करें।
इस उपाय से भगवान भोलेनाथ की कृपा से असाध्य रोगों से भी छुटकारा मिलता है।
admin memorymuseum.net  

9.
यदि घर में कोई व्यक्ति बीमार हो तो एक कटोरी में केसर घोलकर उसके कमरे में रखे इससे व्यक्ति शीघ्र ही स्वस्थ होने लगता है।
admin memorymuseum.net  

10.
मान्यता है कि हर माह के प्रथम सोमवार को ( जो 6 जून को है) अपने ईष्ट देव का नाम लेते हुए थोड़ी सी पीली सरसों अपने सर पर से 7 बार घुमाकर घर से बाहर फ़ेंक दें ....इस उपाय को करने से घर रोग दूर रहते है, स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है ।
admin memorymuseum.net  

11.
चैत्र माह में प्रथम नवरात्र के दिन 7 ताजी नीम की पत्तियों को 3-4 चम्मच पानी में पीस कर उसमें थोड़ा सा सेंधा नमक और 7 काली मिर्च को पीस कर मिला कर इस मिश्रण को चाटने से वर्ष भर रोग दूर रहते है ।
admin memorymuseum.net  

12.
यदि घर में कोई रोगी हो अर्थात किसी की तबियत ख़राब हो तो एक कटोरी में केसर घोलकर उसके कमरे में रखे दें। इससे वह वह जल्दी ही स्वस्थ हो जाएगा।
admin memorymuseum.net  

13.
यदि घर के किसी सदस्य की तबियत ख़राब रहती है तो एक गोमती चक्र को चांदी में पिरोकर उसके पलंग के सिरहाने पर बाँध दें ।
इससे रोग घटना शुरू हो जाता है!
admin memorymuseum.net  

14.
मान्यता है कि हर माह के प्रथम सोमवार को ( जो 4 अप्रैल को है) अपने ईष्ट देव का नाम लेते हुए थोड़ी सी पीली सरसों अपने सर पर से 7 बार घुमाकर घर से बाहर फ़ेंक दें .....
इस उपाय को करने से रोग दूर रहते है, स्वास्थ्य अच्छा बन रहता है |
admin memorymuseum.net  

15.
यदि घर में कोई व्यक्ति निरंतर बीमार रहता है दवा का भी कुछ खास असर नहीं हो रहा है, तो होलिका दहन के समय देशी घी में दो लौंग, एक बताशा, एक पान का पत्ता इन सभी वस्तुओं को होली की आग में डाल दें।
फिर अगले दिन होली की राख को उस रोगी के शरीर में लगायें उसके बाद उसे गर्म जल से स्नान करायें।
इस उपाय से रोगी को शीघ्र ही स्वस्थ्य लाभ प्राप्त होता है ।
admin memorymuseum.net  

16.
यदि किसी व्यक्ति की बीमारी का पता नहीं चल पा रहा हो या दवा असर नहीं कर रही हो अर्थात व्यक्ति स्वस्थ भी नहीं हो पा रहा हो, तो एक-एक मुट्ठी सात प्रकार के अनाज लेकर उसे पानी में उबाल कर छान लें। फिर छने व उबले अनाज (बाकले) में एक तोला सिंदूर की पुड़िया और 50 ग्राम तिल का तेल डाल कर कीकर (देसी बबूल) की जड़ में डालें या किसी भी रविवार को दोपहर १२ बजे भैरव स्थल पर चढ़ा दें। इससे तबियत सही होने लगेगी ।
admin memorymuseum.net  

17.
मान्यता है कि हर माह के प्रथम सोमवार को सुबह सवेरे अपने ईष्ट देव का नाम लेते हुए थोड़ी सी पीली सरसों अपने सर पर से 7 बार घुमाकर घर से बाहर फ़ेंक दें .....इस उपाय को करने से रोग दूर रहते है।
admin memorymuseum.net  

18.
यदि घर में किसी की तबियत आये दिन ख़राब रहती है तो उसके उत्तम स्वास्थ्य के लिए प्रात: स्नान करने के बाद एक काला रेशमी डोरा लेकर "ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय नम:" का जाप करते हुए उस पर थोड़ी थोड़ी दूरी पर सात गाँठ लगा कर उसे उस ब्यक्ति / बच्चे के गले में धारण करा दें इससे उसका स्वास्थ्य उत्तम बना रहेगा ।
admin memorymuseum.net  


रोग निवारण के उपाय

Rog Nivaran ke upay

Shiv Ji Third Hindi Image

रोग निवारण के उपाय

Rog Nivaran ke upay

Rog Nivaran ke Upay

यदि आप या आपके परिवार का कोई भी सदस्य किसी भी प्रकार की बीमारी से ग्रस्त है या रोग एवं दुर्घटनाओं के सम्भावना अधिक रहती है तो यहाँ पर स्थापित सिद्ध 'महामर्तुन्जय यंत्र' के नित्य दर्शन से अवश्य ही लाभ प्राप्त करें, इस दिव्य ईश्वरीय वरदान में पूर्ण श्रद्धा रखें |