Memory Alexa Hindi

राशिनुसार रत्न

rashi-anusar-ratn

राशि के अनुसार भाग्यशाली रत्न धारण करें

rashi-anusar-ratn




rashi-logo वृषभ व तुला राशि :- वृषभ व तुला राशि वालों को हीरा या ओपल रत्न को धारण करना चाहिए । लेकिन यदि जन्मपत्रिका में शुक्र शुभ हो तभी इसे धारण करें । हीरा या ओपल रत्नों को पहनने से कला, संगीत, सौन्दर्य प्रसाधन के कार्यों में उन्नति, प्रेम में सफलता, की प्राप्ति होती है । जातक का यश सभी दिशाओं में फैलता है ।

हीरा धारण करने से स्वास्थ्य, साहस वा समझदारी बढ़ती है। पुरुषों में वीर्य दोष मिटाता है। विवाह में अड़चने दूर होती है। अग्नि व चोरी का डर दूर होता है। लेकिन यह भी कहा जाता है कि पुत्र की कामना रखने वाली महिला को हीरा नहीं पहनना चाहिए अतः वे महिलाएं जो पुत्र संतान चाहती हैं या जिनकी संतान पुत्र है उन्हें ज्योतिष सलाह एवं परीक्षण के बाद ही हीरा धारण करना चाहिए ।

वृषभ व तुला राशि वालो को कम से कम 2 रत्ती के हीरे को सोने या प्लेटिनम की अँगूठी में लगवाकर शुक्रवार के दिन सुबह "ऊँ शुं शुक्राय नमः" मन्त्र की एक माला का जाप करके 10 से 12 बजे के बीच में दाहिने हाथ की मध्यमा उंगली यानी मिडिल फिंगर अथवा अनामिका उँगली यानी रिंग फिंगर में पहनना चाहिए।

rashi-logo मिथुन व कन्या :- मिथुन व कन्या राशि वालो को पन्ना को को धारण करना चाहिए। लेकिन ध्यान रखें कि कुंडली में बुध ख़राब ना हो । पन्ना धारण करने से व्यापार, एक्सपोर्ट के कार्यों, पत्रकारिता में, प्रकाशन में, सेल्स के कार्य में शीघ्र ही उल्लेखनीय सफलता प्राप्त होती है ।

पन्ना पहनने से निर्धनता दूर होती है परीक्षाओं में सफलता मिलती है। इसके धारण करने से गले सम्बन्धी रोग दूर रहते है एकाग्रता विकसित होती है।

मिथुन व कन्या राशि वालो को कम से कम 3 रत्ती के पन्ने को चाँदी , सोने या प्लेटिनम की अँगूठी में बनवाकर बुधवार के दिन सुबह ऊँ बुं बुधाय नमः मन्त्र का जाप करते हुए 10 से 12 बजे के बीच में दाहिने हाथ की सबसे छोटी उंगली यानी कनिष्का उँगली में पहनना चाहिए।

rashi-logo सिंह राशि :- सिंह राशि वालों को माणिक धारण करना चाहिए । माणिक उनका तेज बढ़ाकर उन्हें ऊर्जावान बनाता है लेकिन यदि जन्मपत्रिका में सूर्य शुभ हो तभी इसे धारण करें । यदि सिंह राशि वाले माणिक धारण करें तो उन्हें राजनीति, प्रशासनिक क्षेत्र, उच्च नौकरी के क्षेत्र में सफलता का कारक होता है।

सिंह राशि वालो को कम से कम 3 रत्ती के माणिक्य को सोने की अँगूठी में बनवाकर रविवार के दिन सुबह "ऊँ घृणि सूर्याय नमः" मन्त्र का जाप करते हुए सूर्योदय से एक घंटे के भीतर दाहिने हाथ की अनामिका उंगली यानी रिंग फिंगर में पहनना चाहिए।

सिंह राशि के जातक यदि मूंगा भी धारण करें तो अत्यंत लाभदायक सिद्द होता है। क्योंकि सिंह राशि के जातको के लिए मूंगा राजयोग कारक रत्न माना जाता है।

<< पिछले पेज पर जाएँ                                                        अगले पेज पर जाएँ >>


Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।