Memory Alexa Hindi

Yantras

Pitra Dosh Hindi Image

Yantras

Pitra Dosh Hindi Image


पित्र दोष निवारण के उपाय
Pitra Dosh Nivran Ke upay



नोट --  इन सिद्ध यंत्रों की स्थापना सभी प्राणियों के कल्याण हेतु की गयी है , यदि आपके मन में कोई संदेह है , या आप इन यंत्रों में विश्वास नहीं रखते है तो आप इस पेज को बंद कर दें , परन्तु इन यंत्रों का उपहास एवं अनादर न करें ।

पितृ दोष Pitra Dosh को बहुत ही घातक माना जाता है वर्तमान समय , कलयुग में प्रत्येक जातक / परिवार में कुछ ना कुछ पितृ दोष pitr dosh किसी ना किसी रूप में रहता ही है। पितृ दोष pitr dosh का यदि निवारण ना किया जाय तो जीवन भर अस्थिरताओं का, संघर्षो का सामना करना पड़ता है, कई बार तो पितृ दोष से पीड़ित जातक ऊंचाई पर जाकर भी अपना सब कुछ गँवा देता है। पितृ दोष के निवारण pitr dosh ke nivaran के लिए अमावस्या, पितृ पक्ष pitr paksh सावन माह और शनिवार का दिन विशेष रूप से श्रेष्ठ फलदायक है।

hand logo जो जातक जीवित अवस्था में अपने माता पिता का अनादर करते है अथवा पिता की मृत्यु के पश्चात जो संतान अपने पिता का श्राद्ध नहीं करता हैं या सर्प हत्या या किसी निरपराध की हत्या करता है तो अगले जन्म में उसकी कुण्डली में पितृदोष ( Pitra dosha) लग जाता है। पितृ दोष को बहुत अशुभ प्रभाव देने वाला माना जाता है।

hand logo पितृ दोष होने पर व्यक्ति को अपने जीवन में बहुत अस्थिरता का सामना करना पड़ता है । उसे संतान के सम्बन्ध में कष्ट मिलता है। इस दोष के कारण नौकरी एवं व्यापार में परेशानियाँ आती है, सर पर कर्जा बना रहता है, कोर्ट कचहरी - मुकदमो का सामना करना पड़ता है। विवाह में बाधाये आती है , पारिवारिक जीवन में बहुत क्लेश अशान्ति रहती है, घर के सदस्य बीमार रहते है , मित्रो सम्बन्धियों से धोखा मिलता है, महत्वपूर्ण कार्यों में बार बार असफलता प्राप्त होती है। यहाँ पर हम कुछ उपाय बता रहे है जिसको करके इस घातक दोष में निश्चित ही कमी आ सकती है ।

hand logo याद रखे घर के सभी बड़े बुजर्ग को हमेशा प्रेम, सम्मान, और पूर्ण अधिकार दिया जाय , घर के महत्वपूर्ण मसलों पर उनसे सलाह मशविरा करते हुए उनकी राय का भी पूर्ण आदर किया जाय ,प्रतिदिन उनका अभिवादन करते हुए उनका आशीर्वाद लेने, उन्हे पूर्ण रूप से प्रसन्न एवं संतुष्ट रखने से भी निश्चित रूप से पित्र दोष में लाभ मिलता है । 

hand logo अपने ज्ञात अज्ञात पूर्वजो के प्रति ईश्वर उपासना के बाद उनके प्रति कृतज्ञता का भाव रखने उनसे अपनी जाने अनजाने में की गयी भूलों की क्षमा माँगने से भी पित्र प्रसन्न होते है । 

hand logo सोमवती अमावस्या को दूध की खीर बना, पितरों को अर्पित करने से भी इस दोष में कमी होती है ।

hand logo सोमवती अमावस्या के दिन यदि कोई व्यक्ति पीपल के पेड़ पर मीठा जल मिष्ठान एवं जनेऊ अर्पित करते हुये “ऊँ नमो भगवते वासुदेवाएं नमः” मंत्र का जाप करते हुए कम से कम सात या 108 परिक्रमा करे तत्पश्चात् अपने अपराधों एवं त्रुटियों के लिये क्षमा मांगे तो पितृ दोष से उत्पन्न समस्त समस्याओं का निवारण हो जाता है।

hand logo प्रत्येक अमावस्या को गाय को पांच फल भी खिलाने चाहिए।

hand logo अमावस्या को बबूल के पेड़ पर संध्या के समय भोजन रखने से भी पित्तर प्रसन्न होते है।

hand logo प्रत्येक अमावस्या को एक ब्राह्मण को भोजन कराने व दक्षिणा वस्त्र भेंट करने से पितृ दोष कम होता है । 

hand logo पितृ दोष ( pitra dosh )से पीड़ित व्यक्ति को प्रतिदिन शिव लिंग पर जल चढ़ाकर महामृत्यूंजय का जाप करना चाहिए ।

hand logo माँ काली की नियमित उपासना से भी पितृ दोष ( pitra dosh ) में लाभ मिलता है।

hand logo आप चाहे किसी भी धर्म को मानते हो घर में भोजन बनने पर सर्वप्रथम पित्तरों के नाम की खाने की थाली निकालकर गाय को खिलाने से उस घर पर पित्तरों का सदैव आशीर्वाद रहता है घर के मुखियां को भी चाहिए कि वह भी अपनी थाली से पहला ग्रास पित्तरों को नमन करते हुये कौओं के लिये अलग निकालकर उसे खिला दे।

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।



अपने उपाय/ टोटके भी लिखे :-----
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  • Admin Post
1.
ॐ नमः शिवाय जी,
आप सब लोगों को राहु ग्रह के बारे में गलत बताया जाता है जबकि राहु करोड़पति बनाता है और सब कुछ अचानक देता है!क्या आपने सुना कि किसी की अचानक लॉटरी लग गयी ,किसी को गड़ा हुआ धन मिल गया,कोई राजनीति में अचानक बहुत ऊंचे पद पर पहुंच गया या सट्टा बाजार में करोड़ों कमाएं तो यह सब राहु के कार्य हैं!राहु राक्षस है और अमृत चखकर बलशाली हो गया किन्तु राहु है तो नकारात्मक है फिर भी एक बुरा आदमी किसी को तो चाहता ही है और उस पर मेहरबान होता है!
राहु ग्रह वृष, मिथुन और कन्या राशि में बहुत अच्छा फल देते हैं पर डिग्री के अनुसार और दशा ,गोचर का सहयोग मिलना चाहिए!
जब शनि अच्छा हो और राहु अच्छा हो तो एक चाय वाला भी करोड़पति बन सकता है!
राहु को समझना बहुत कठिन है क्योंकि उसमें राक्षसों के गुण भी है और अमृत चखने के कारण देवो के भी!राहु के कारण स्वर्गीय इंदिरा गांधी जी, स्वर्गीय राजीव गांधी जी , अटल बिहारी वाजपेयी जी,
सफल हुए!
अगर राहु कुंडली में केंद्र स्थान के स्वामी के साथ संबंध बनाकर केंद्र में हो तो अपनी दशा में राजयोग देता है !
सुशील धीमान (918950917500)
सुशील धीमान  

2.
ॐ नमः शिवाय जी!
आप सब को बताना चाहता हूं कि आजकल लोगों को कालसर्प दोष के नाम पर ,केमुंद्रम दोष के नाम पर, ममंगलीक दोष के नाम पर , पितरों के दोष के नाम पर डराया जा रहा है और पूजा के नाम पर रुपया लिया जा रहा है जबकि इनको यह भी नही पता के सच्चाई में यह योग है या दोष?
क्या यह फायदा करेगा या नुकसान?
सचिन तेंदुलकर जी और धीरू भाई अम्बानी की कुंडली में कालसर्प योग है तो क्या वो गरीब है!

बिल गेट्स की कुंडली में केमुंद्रम योग है!क्या वो गरीब है?
अपने विचार दे!
सुशील धीमान ( 8950917500)
Sushil Dhiman  

3.
mujhai aapkai totkai ki book chahiyai ,
Sangeeta devi  

4.
Date of birth 14.4.1956
Time 15.20
Place- Tehsil Fatehabad
District Agra
Mobile 9058179438
Please tell me, what can I do ?
Rakesh Kumar Doneria  

5.
sabhi grah ka upay
robincho  

6.
sabhi grah ka upay
robincho  

7.
Rishabh dubey 20/12/1995time:12:20 pm
Rishabh dubey  

8.
i will try
vinay  

9.
Jald naukre lagna ka upay
janamjay Kumar jha  

10.
Jald naukre lagna ka upay
janamjay Kumar jha  

11.
Pitra dosh ke upay
Radheyshyam  

12.
गृह शांति निवारण हेतु उपाय बताओ
शैतानसिंह राजपुरोहित  

13.
gandi souch ko katam karna ka upa
jagdish  

14.
Me janm date 3.6.1972.........tim...8.58 sube siwana rajsthan
Bhoparam  

15.
sir my date of birth 02/11/1958 . time 6.45PM at Bareilly ( UP) please tell me Kaya mere kundli mein Pitra Dosa hai? Kya koi aur Dosa Hai Koi Naukre Nahi hai Koi kam nahi banta Hai Please tell me
samit kumar maitra  

16.
sir kaya trikal Dosa bhi koi hota hai patrika mein .?
samit kumar maitra  

17.
sir kaya trikal Dosa bhi koi hota hai patrika mein .?
samit kumar maitra  

18.
Me or mera pariwar bohot paresan he hamare ghar me na to Santo rehati he or nahi barkat rehati he ham karz me Dave za rahe he or meri kundli me kaal sarp dhos bhi he or mere Ghar me pitr dhos he me or mera pura pariwar bohot paresani me he agar aap koi upaye bata de his Se mera kuch bhala ho sake to aap ki bohot kirpa hogi mharaj ...jay shree mahakal
Dharmendar shing baghel  

19.
Me or mera pariwar bohot paresan he hamare ghar me na to Santo rehati he or nahi barkat rehati he ham karz me Dave za rahe he or meri kundli me kaal sarp dhos bhi he or mere Ghar me pitr dhos he me or mera pura pariwar bohot paresani me he agar aap koi upaye bata de his Se mera kuch bhala ho sake to aap ki bohot kirpa hogi mharaj ...jay shree mahakal
Dharmendar shing baghel  

20.
hai maa hume maaf karo agar humse koi galti hui ho apna beta shamjh ke hume maaf kare hume aage badao aur mummy papa humse koi galti hui ho hume apna baccha shamjh ke hume maaf kar de
jitendra kumar  

21.
Said ke bhot presan hu
Anil malviya  

22.
p
abhishek  

23.
my date of birth is 25th nov.' 1955 .pl. do the remedy.
ALOK MUKHERJEE  

24.
rahu lagne main shani 5 bhav me guru 12bhav mein moon 6 bhav mein

pitra dosh ke upaye bataye
Bablu shaw  

25.
rahu lagne main shani 5 bhav me guru 12bhav mein moon 6 bhav mein

pitra dosh ke upaye bataye
Bablu shaw  

26.
rahu lagne main shani 5 bhav me guru 12bhav mein moon 6 bhav mein

pitra dosh ke upaye bataye
Bablu shaw  

27.
rahu lagne main shani 5 bhav me guru 12bhav mein moon 6 bhav mein

pitra dosh ke upaye bataye
Bablu shaw  

28.
rahu lagne main shani 5 bhav me guru 12bhav mein moon 6 bhav mein

pitra dosh ke upaye bataye
Bablu shaw  

29.
गुरूजी प्रणाम,

गुरूजी मेरा नाम नवीन कुमार मल्लिक है. मेरे पिता का नाम स्वर्गीय रविन्द्र कुमार मल्लिक है. मेरे माता का नाम स्वर्गीय सविता मल्लिक है. मेरा गोत्र कश्यप है. मैं एक बंगाली कायस्थ परिवार से हू.

गुरूजी मेरे जनम की तारीख 01.03.1978, दिन बुधवार, समय करीब 2:45-3:00 AM के बीच में भरवारी गाँव, इलाहबाद में हुवा था. गुरु जी मेरी समस्या ये है की बचपन से लेकर आज तक मेरा मन भटकता रहा है. न ही मेरा मन कभी पढने में लगा है और न ही किसी काम काज में. किताबे इकाक्ट्हा करके जमा कर लिया पर कभी पढ़ा नहीं. बचपन से ही मुझे गुस्सा अहंकार चिडचिडाहट रहती है. मैं एक कमजोर आत्मविश्वास, संकोची और दब्बू किस्म का इन्सान हु और हमेसा हर चीज से डरा सहमा रहता हूँ. मेरी बुद्धि बचपन से ही कमजोर रही है मैं हर बात पर हां-हाँ करता रहता हु सर हिलाता रहता हु पर मेरी बुद्धि में छोटी से छोटी बात तक नहीं घुसती है. मैं एक मंद बुदधि का आदमी हु मैं कोई भी सही और सोच समझ कर निर्णय लेने वाला इन्सान नहीं हु. मैं हमेसा क़र्ज़ लेकर अपना सारा जमा धन बर्बाद कर डाला आज की तारीख में मैं नौकरी छोड़ कर बैठा हुवा हु. एक अच्छी नौकरी सिर्फ अपने अहंकार, गुस्से, तुनक-मिजाजी और चिडचिडाहट की वजह से छोड़ दिया है बचपन से लेकर अभी तक मेरे दिलो दिमाग में सिर्फ गन्दी भावनाए, गंदे असलील विचार ही बसे रहते हैं. हर वक़्त झुन्झुनलाहत होती रहती है. मैं एक जल्दी हार मान जाने वाला इंसान हु. बस अपने बाल पकड़ कर नचाता रहता हु और सोचता रहता हु. मैं इतना डरपोक और कमजोर हु कि मैं अकेले एक शहर से दुसरे शहर तक ट्रेन से जाने में घबराता हु, जब भी कुछ पूजा पाठ करता हु, मंत्र पाठ करता हु तो सिर्फ जम्हाई आती रहती है मन भटकता रहता है. गुरूजी बचपन से लेकर अभी तक मेरा खुद पर बिलकुल भी वश नहीं रहा है. मैं सुबह 11 बजे सोकर उठता हूँ. मैं कभी भी DISIPLINE में नहीं रहा हूँ. जिसकी वजह से मैं सिर्फ इंटरमीडिएट तक ही पढ़ा हूँ. बचपन से ही मैं बहुत Short Tempered, छोटी-छोटी बातो पर बहुत जल्दी गुस्सा हो जाता हूँ उत्तेजित हो जाता हु, चिडचिडाहट होती रहती है, घर पर भी मैं झगडा करता हु गाली गलौज करता रहता हु. इसी गुस्से की वजह से मुझे अपनी 13 साल पुरानी नौकरी छोडनी पड़ी. मुझे कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है की क्या करु क्योंकि मैं एक LOOSER हूँ. गुरूजी बचपन से लेके अभी तक मेरा किसी भी काम में मन नहीं लगता है. पिछले 6 महीने से अच्छी नौकरी छोड़ कर खली बैठा हूँ. गुरूजी आत्मविश्वास बिलकुल ख़तम हो चुका है आलस और डर इतना की कही भी इंटरव्यू देने जाने का मन नहीं करता है कही भी नौकरी करने का मन नहीं करता है दिमाग बिलकुल काम नहीं करता है. दिन भर बाल पकड़ कर नचाता रहता हु फ़ालतू की बाते इधर उधर की बाते सोचता रहता हु. गुरूजी मुझे रास्ता दिखाइए.

गुरूजी अभी मैंने कोई भी रत्न या gemstone नहीं धारण किया है. गुरूजी मैं आपके बताये हुए उपाय भी करता हु.

इससे पहले भी मैं मंगल और शनिवार को मंदिर भी जाता था. चालीसा और मंत्र आरती पढता हु. दरगाह भी जाता था. गाय को रोटी भी देता था. मुझे बचपन से ही हमेसा यही लगता है की कुछ तो है मेरे ऊपर चाहे घर या वास्तु की खराबी हो चाहे शैतानी फिरका हो चाहे काला जादू हो चाहे गृह नछ्त्रो का प्रकोप हो और ये सिर्फ मेरे ऊपर ही नहीं पूरे परिवार के ऊपर है सबकी हालत ऐसी ही है. मैं सिर्फ इंटरमीडिएट तक ही पढ़ा हु क्योंकि मेरा मन ही नहीं लगा.

गुरूजी बचपन से लेके अभी तक मेरा किसी भी काम में मन नहीं लगता है. पिछले 6 महीने से अच्छी नौकरी छोड़ कर खली बैठा हूँ. गुरूजी आत्मविश्वास बिलकुल ख़तम हो चुका है आलस और डर इतना की कही भी इंटरव्यू देने जाने का मन नहीं करता है कही भी नौकरी करने का मन नहीं करता है दिमाग बिलकुल काम नहीं करता है. दिन भर बाल पकड़ कर नचाता रहता हु फ़ालतू की बाते इधर उधर की बाते सोचता रहता हु. गुरूजी मुझे रास्ता दिखाइए.

मेरा स्वयं पर कण्ट्रोल वश है ही नहीं. जब मेरा किसी चीज में मन ही नहीं लगेगा तो मैं काम कैसे करुगा.मैं एक मंद और भ्रष्ट बुद्धि वाला काहिल और आलसी इन्सान हु. पिछले डेढ़ साल से एक दुकान खोल कर बैठा हु पर दुकान पर बैठने का मन ही नहीं करता है सिर्फ फालतू में किराया जा रहा है. सबने मुझे मना किया था की दुकान मत खोलो पर मैं नहीं माना और लाखो रुपया दुकान पर लगा दिया और अब दुकान मेरे लिए साप चछुन्दर का मामला हो गया है न ही निगल पा रहा हु न ही थूक पा रहा हु.

कृपया मेरी समस्या का समाधान कीजिये
NAVEEN KUMAR MALLIK  

30.
Fhhijkiigtb gvvdvbhhhb dcbhhghnhu hhfbhuuhnhb
rohit  

No Tips !!!!