Memory Alexa Hindi

पथरी के उपाय
Pathri ke Upay





Stone Image
पथरी ( Pathri ) अर्थात किडनी में स्‍टोन ( Kidney Me Stone ) की समस्‍या आजकल आम हो चली है। इसकी बड़ी वजह खान-पान की गलत आदतें होती हैं। जब नमक एवं अन्य खनिज (जो हमारे मूत्र में होते हैं) वे एक दूसरे के संपर्क में आते है या अगर किसी कारण से पेशाब गाढा हो जाता है तो किडनी ( Kidney ) के अन्दर छोटे-छोटे पत्थर जैसी कठोर वस्तुएं बन जाती हैं जिन्हे गुर्दे की पथरी ( gurde ke pathri ) के अर्थात किडनी में स्‍टोन ( Kidney Me Stone ) रूप में जाना जाता है,
जानिए, पथरी के उपाय, Pathri ke Upay, पथरी के उपचार, pathri ke upchar, पथरी, pathri, पथरी के उपाय, ( stone, stone treatment, ) ।

गुर्दे की पथरी ( gurde ke pathri ) अलग अलग आकार की हो सकती है| कुछ पथरी ( Pathri ) रेत के दानों की तरह बहुत हीं छोटे आकार के होते हैं तो कुछ बहुत हीं बड़े। आमतौर पर छोटे मोटे पथरी मूत्र के जरिये शरीर के बाहर निकल जाया करते हैं लेकिन जो पथरी ( Pathri ) आकार में बड़े होते हैं वे बाहर नहीं निकल पाते एवं मूत्र के बाहर निकलने में बहुत ही बाधा डालते हैं उससे बहुत हीं ज्यादा पीड़ा उत्पन्न होती है। पथरी का दर्द ( pathri ka dard ) कभी-कभी बर्दाश्त से बाहर हो जाता है।
Kidney Stone Wife



इसमें पेशाब करने में बहुत दिक्कत होती है और कई बार पेशाब रूक जाता है। पथरी होने की कोई उम्र नहीं होती है, यह किसी भी उम्र में हो सकती है।

Kalash One Image पथरी, Pathri ( Stone,Kidney stone,Stone Treatment )
पथरी के उपाय, Pathri ke upay

Kalash One Image पथरी, Pathri ( Stone,Kidney stone,Stone Treatment )
पथरी की दवा, pathri ki dava,

Kalash One Image पथरी, Pathri ( Stone,Kidney stone,Stone Treatment )
पथरी के अचूक इलाज, pathri ke achuk ilaj,

Kalash One Image पथरी, Pathri ( Stone,Kidney stone,Stone Treatment )
पथरी के आयुर्वेदिक उपचार, pathri ke ayurvedic upchar,


अवश्य पढ़ें :- उत्तम पुत्र प्राप्ति हेतु स्त्री को हमेशा पुरूष के बायें तरफ़ एवं योग्य कन्या प्राप्ति के लिये स्त्री को पुरूष के दाहिनी तरफ सोना चाहिये, जानिए मनचाही संतान प्राप्ति के अचूक उपाय

पित्त की थैली में पथरी (गॉल ब्लैडर स्टोन) (Gall bladder stone ) का होना भी एक आम स्वास्थ्य समस्या है। पित्त की थैली पेट के दाएं ऊपरी भाग में लिवर के ऊपर चिपकी होती है। गॉल ब्लाडर में पथरी बनना एक भयंकर पीड़ादायक रोग है। इसे पित्त पथरी कहते हैं। पित्ताशय में दो तरह की पथरी बनती है।

hand logo प्रथम कोलेस्ट्रोल निर्मित पथरी।

hand logo दूसरी पिग्मेन्ट से बननेवाली पथरी।

इसमें से लगभग अस्सी प्रतिशत पथरी कोलेस्ट्रोल तत्व से ही बनती हैं।

वैसे तो पथरी, pathri, पथरी के उपाय, ( stone, stone treatment, ) रोग किसी को भी और किसी भी आयु में हो सकता है लेकिन महिलाओं में इस रोग के होने की सम्भावना पुरुषों की तुलना में कम होती है। पित्त की पथरी को घरेलू उपचार के माध्यम से ठीक किया जा सकता है। गॉल ब्लैडर स्टोन की बीमारी आमतौर पर तीस से साठ वर्ष के उम्र के लोगों में पाई जाती है और स्त्रियों की अपेक्षा पुरूषों में चार गुना अधिक पाई जाती है।
बच्चों और वृद्धों में मूत्राशय की पथरी ज्यादा बनती है, जबकि वयस्को में अधिकतर गुर्दो और मूत्रवाहक नली में पथरी बनती है।

पथरी का यदि समय पर इलाज ना किया जाय तो इसका रक्तचाप और ह्रदय पर बुरा असर पड़ता है,लिवर के ख़राब होने का खतरा भी बढ़ जाता है| अत: पथरी होने पर लापरवाही ना करें इसका सही और प्रभावी इलाज करे जिससे भविष्य में फिर से पथरी बन भी ना सके |
यहाँ पर हम आपको पथरी के कुछ आसान घरेलू नुस्खे के बारे में जानकारी देते हैं


Ad space on memory museum


इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।

यहाँ पर आप अपनी समस्याऐं, अपने सुझाव , उपाय भी अवश्य लिखें |
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Reply
1.
Patri
rahul  

2.
mere pass Ek dva hai Usse Pathri nikal hi jati hai mujhse contact kro or fayda hasil kro
Aadil  

3.
contact me
Aadil  

4.
किडनी स्टोन हैं 9.5mm 8.3 4.2
तीन है उपाय बता दो परेशान हूं
राजू सिंह  

5.
Pathri h 6mm ka

Gokhru ka paryog kaise kare batana
Anita   

6.
Kidni stone
karan  

7.
Sir meri kidney mai 7.6 MM ki pathari h .
Aap koi achha upay bta do sir .mai kaafi presaan hu .
Plz sir...
Aap ki badi meharbaani hogi .
Plz .....
irfan  

8.
Pathari pit me 7542909414
name ranji  

9.
Pit ki thaili me pathari ko kaise hatay sir
ranjit  

10.
Pit ki thaili me pathari ko kaise hatay sir
ranjit  

11.
Pathri
devendra kumar  

12.
patri kese nikale
Hemant kumar gogliya   

13.
Patri
mamta  

14.
Mere kidney mein left 6mm right 7mmki pathri hai upay chahiye
Ravinder sherawat  

15.
Kidney stone
Kaise nikalen
RAVINDER SHERAWAT  

16.
Pesab ki theli me pathry ke upay
subhas   

17.
Kase kerr upaye
shivam chauhan  

18.
Kase kerr upaye
shivam chauhan  

19.
Gurthe me 7mm ker phtree hai bhut drd hotahai koer upae ho to btao place mera mo 7500340032
ibran   

20.
Kiss neekle phtri Mo no 7500320032
mohd ibran  

21.
Kiss neekle phtri Mo no 7500320032
mohd ibran  

22.
Kiss neekle phtri Mo no 7500320032
mohd ibran  

23.
Kirni 8mm hai
Md Aftab  

24.
Kirni 8mm hai
Md Aftab  

25.
Pathry he
nilesh 9993128519  

26.
Mere gurde me patri h or ne chahta hu bas tin din me ye nikal jay daya kha kr me ub chuka hu
imran  

27.
Mere gurde me patri h or ne chahta hu bas tin din me ye nikal jay daya kha kr me ub chuka hu
imran  

28.
I don't no
sagar malviya  

29.
Pith k thaili k andar k pathri ko nikal na h gharelu upaye
meena singh  

30.
Kidney me hai pathari uska upay chahiye ki Kaiser thik hoga
jugindar  



1.
पथरी के लिए एक बहुत ही आजमाया हुआ उपाय है जो पुराने समय से चला आ रहा है |
नित्य प्रात: दो चम्मच प्याज के रस को पिसी मिश्री के साथ मिलाकर पीने से केवल 20-25 दिन में ही पथरी गल कर निकल जाती है|
admin memorymuseum.net  

2.
स्नेहा ही पथरी में सहजन बहुत उपयोगी है |
आप पथरी में 25 ग्राम सहजन की जड़ की छाल को लगभग 250 ग्राम पानी में उबालें फिर छान लें । फिर इसे थोड़ा गर्म रहने पर ही अपनी माता जी को पिलायें । इसको पीने से कैसी भी पथरी हो, वह कट के गल के 20-25 दिनों में ही निकल जाती है ।
admin memorymuseum.net  

3.
एक पानी से भरा गिलास में दो चम्‍मच मेथी दाना डाल कर उसे रात में भिगो दें। सुबह इस पानी को छानकर खाली पेट पी जाएं और उन मेथी के दानो को चबा चबा कर खा लें | रात भर पानी में मेथी भिगोने से पानी में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी ऑक्‍सीडेंट गुण बढ जाते हैं।
इसका एक महीने तक नित्य सेवन करने से शरीर की पथरी गल कर निकल जाती है और पथरी होने के कारणों पर प्रहार होता है अर्थात भविष्य में पथरी बनने नहीं पाती है |
admin memorymuseum.net  

4.
6 ग्राम पपीते की जड़ पीस कर इसे 50 ग्राम पानी में अच्छी तरह से घोल कर साफ़ कपडे से छान ले और पथरी के मरीज़ को पीला दे।
इस घोल को लगातार 21 दिन तक रोगी को पिलाने से पथरी गल कर पेशाब के रास्ते बाहर निकल जाती है।
admin memorymuseum.net  

5.
पथरी के मरीज़ो के लिए तरबूज़ की गिरी ( मिंगी ) रामबाण का काम करती है । तरबूज के बीजों का छिलका निकालकर सुबह सुबह उसकी 15 ग्राम गिरी को सिलबट्टे पर थोड़े से पानी के साथ अच्छी तरह से पीस / घोट लें फिर इसमें आधा लीटर पानी मिलाकर थोड़ी सी पिसी हुई मिश्री भी मिलाएं जिससे इसका स्वाद मीठा हो जाये फिर खाली पेट ही इसे धीरे धीरे पी लें ।

इस उपाय को सुबह शाम दोनों समय लगभग 11 दिन करें । इससे गुर्दे और मूत्राशय की पथरी आसानी से गल कर निकल जाती है , ह्रदय को बल मिलता है , ह्रदय के रोगों में भी लाभ मिलता है । यह बहुत ही आसान, परीक्षित, और बहुत कम खर्चे का इलाज है ।
admin memorymuseum.net  

6.
लगातार 15 दिन तक दिन में दो बार 100 ग्राम चुकंदर का जूस और 100 गाजर का जूस ( एक बार में 200 ग्राम ) बराबर मात्रा में मिलाकर पीने से गाल ब्लाडर और किडनी दोनों ही जगह की पथरी नष्ट हो जाती है ।
इसको लेने के बाद एक घंटे तक कुछ भी ना लेंवे ।
admin memorymuseum.net  

7.
गॉल ब्लैडर अर्थात पित्त की थैली में पथरी को दूर करने के लिए सुबह खाली पेट पचास मिली लीटर नींबू का रस पिएं इससे 10 से 12 दिन में ही आराम मिलता है,गॉल ब्लैडर की पथरी गलने लगती है ।
admin memorymuseum.net  

8.
कई लोगो को पथरी का ऑपरेशन कराने के बाद भी पथरी हो जाती है, या आपको पथरी नहीं है और आप चाहते है कि आपको कभी ना हो तो आप होमियोपेथी दवा है CHINA 1000 की दो-दो बूंद सीधे जीभ पर एक ही दिन 3 बार सुबह-दोपहर-शाम डाल दीजिए |
यह दवा इतनी कारगर है की फिर जीवन मे कभी भी स्टोन नहीं बनेगा।
admin memorymuseum.net  

9.
पथरी की होमियोपेथी मे एक अचूक दवा है, उसका नाम हे BERBERIS VULGARIS ये MOTHER TINCHER है । यह दवा होमियोपेथी की दुकान से ले आएं, इस दवा की 10-15 बूंदों को एक चौथाई कप गनगुने पानी मे मिलाकर सुबह,दोपहर,शाम और रात अर्थात दिन में 4 बार लें । इसको लगातार डेढ़ महीने तक लेना है ,दो महीने भी लग जाते है |
इससे कही भी स्टोन हो चने हो गोलब्लेडर मे हो या फिर किडनी मे हो, या फिर मुत्रपिंड मे , यह दवा सभी स्टोन को पिघलाकर निकाल देती है ।
आप दो महीने बाद चैक करवा लीजिए आपको पता चल जायेगा कि पथरी पूर्णतया ख़त्म हो गयी है अथवा उसका कुछ अंश बचा भी है। यह दवा का साइड इफेक्ट नहीं है | यही दवा से पित की पथरी gallbladder stones भी ठीक कर देती है ।
admin memorymuseum.net  

10.
गलबलेडर की पथरी का अचूक उपाय :-
गलबलेडर अर्थात पित्त की पथरी में नित्य पाँच दिन तक दिन में चार गिलास सेब का ताजा निकाला हुआ जूस पियें और 5, 6 सेब भी खाएं । छठवें दिन रात में भोजन ना करें वरन शाम को एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच सेंधा नमक लें , उसके दो घंटे बाद पुन: एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच सेंधा नमक लें , उसके और दो घंटे बाद रात को सोने से पहले आधा कप जैतून या तिल के तेल का आधे कप नींबू के रस में अच्छी तरह से मिला कर सेवन करें , पथरी अवश्य ही निकल जाएगी , प्रात: शौच में आपको हरे रंग की पथरी नज़र आ जाएगी ।
admin memorymuseum.net  

11.
पथरी का होमियोपेथी इलाज !
______________

होमियोपेथी मे किसी भी होमियोपेथी के दुकान पर BERBERIS VULGARIS की देव का MOTHER TINCHER ! लेना है ये उसकी पोटेंसी हे|
अब इस दवा की 10-15 बूंदों को एक चौथाई (1/ 4) कप गुनगुने पानी मे मिलाकर दिन मे कम से कम तीन बार और अधिक से अधिक चार बार (सुबह,दोपहर,शाम और रात) लेना है । इसको लगातार एक से डेढ़ महीने तक लेते रहने से जितनी भी कही भी हो गोलब्लेडर ( gall bladder ) ,किडनी या फिर मुत्रपिंड मे हो यह दवा उन सभी पथरी को गलाकर निकल देती है ।
99% केस मे डेढ़ से दो महीने मे ही सब टूट कर निकाल देता हे कभी कभी हो सकता हे तीन महीने भी हो सकता हे लेना पड़े। तो आप दो महीने बाद सोनोग्राफी करवा लीजिए आपको पता चल जायेगा कितना टूट गया है कितना रह गया है | अगर रह गया हहै तो थोड़े दिन और ले लीजिए । यह दवा का साइड इफेक्ट नहीं है |
पथरी दोबारा भविष्य मे ना बने उसके लिए एक और होमियोपेथी दवा CHINA 1000 का उपयोग करें । इस दवा की एक ही दिन सुबह-दोपहर-शाम मे दो-दो बूंद सीधे जीभ पर डाल दीजिए । सिर्फ एक ही दिन मे तीन बार ले लीजिए फिर भविष्य कभी भी पथरी की शिकायत नहीं होगी ।
admin memorymuseum.net  

12.
गुर्दे में पथरी होने पर 15 दिन तक लगातार 5 - 6 ग्राम कच्चा पपीता और इतना ही गुड लेकर उसमें 4 बूंद कलौंजी का तेल मिलाकर सुबह शाम खाली पेट लें , इस दौरान पालक, टमाटर आदि का सेवन ना करें । 15 दिन के बाद पथरी चैक कराएं , पूरी सम्भावना है कि पथरी निकल चुकी होगी ।
admin memorymuseum.net  

13.
सदैव भोजन भोजन के बाद पेशाब करने की आदत डालें। इससे पथरी का डर बिलकुल भी नहीं रहता है।
admin memorymuseum.net  


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।

पथरी के उपाय | पथरी के उपचार

Pathri Ke Upay

पथरी की कैसी भी समस्या के आसान उपचारों के लिए इस साइट का अवश्य ही विज़िट करें ।