Memory Alexa Hindi

Diwali Diye नाग पंचमी Diwali Diye
Diwali Diye Nag Panchmi
Diwali Diye


nagpanchami-ka-mahatv


Diwali Diye नाग पंचमी का महत्व Diwali Diye
Diwali DiyeNag Panchmi Ka Mahtva
Diwali Diye

27 जुलाई बृहस्पतिवार को नागपंचमी (Nag Panchami) का महत्वपूर्ण पर्व है। पंचमी तिथि के स्वामी नाग देवता (Nag Devta)हैं, निर्णय सिंधु के अनुसार षष्टी युक्त पंचमी में नाग देवता की पूजा करने से नाग देवता प्रसन्न होते है अत: नाग पंचमी शुक्रवार 28 जुलाई को मनाना ही श्रेष्ठ रहेगा । पचमी तिथि के स्वामी नाग देवता (Naag Devta) को माना गया है। शास्त्रो के अनुसार प्रत्येक माह के दोनों पक्षो की पंचमी तिथि को नाग देवता (Naag Devta) की अवश्य ही पूजा करनी चाहिए। शास्त्रों के अनुसार श्रावण माह की पंचमी अर्थात नाग पंचमी (Naag Panchmi) के दिन नाग देव की पूजा करने से भय तथा कालसर्प दोष (Kaal Sarpdosh) दूर होता है।

पंचमी को नाग देवता (Naag Devta) का पूजन करने से घर में किसी की भी सांप काटने से मृत्यु नहीं होती है और अगर सांप काटने से किसी की मृत्यु हो भी गयी हो तो उसे मुक्ति मिलती है, जातक को निर्भयता प्राप्त होती है ।
नाग पंचमी (Naag Panchmi) एवं प्रत्येक माह के दोनों पक्षो की पंचमी को "अनंत, बासुकि, शंख, पद्म, कंबल, कर्कोटक, अश्वतर, घृतराष्ट, ऊ शंखपाल, कालिया, तक्षक और पिंगल" इन बारह पुण्यदायक नागों के नामो का उच्चारण करना चाहिए अथवा पांच पौराणिक नागों ---------

जानिए एक ऐसा शिवलिंग जो निरन्तर बढ़ रहा है



"अनंत, वासुकि, तक्षक, कर्कोटक व पिंगल" के नामो का कम से कम 21 बार उच्चारण करें ।

पुराण के अनुसार यदि कोई जातक पूरे वर्ष भर नाग की पूजा नहीं कर पाता है तो उसे श्रावण माह की शुक्लपंचमी जिसे नाग पंचमी के नाम भी कहते है इस दिन नागों की पूजा अवश्य ही करनी चाहिए।
गरुणपुराण के अध्याय 69 में श्री हरि जी ने कहा है कि नाग पंचमी के दिन नागों की पूजा करने से मुक्ति तो मिलती ही है साथ में पितृगण भी प्रसन्न होते हैं, उनका आशीर्वाद मिलता है।
इस दिन पीपल के वृक्ष के नीचे कच्ची मिट्टी के बर्तन में दूध रखना चाहिए।



Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।