Memory Alexa Hindi
loading...

मुख्य द्वार का वास्तु

Rashi Anusaar Rog Nivaran Ke Upay

जानिए भवन के मुख्य द्वार के वास्तु टिप्स...

मुख्य द्वार के वास्तु टिप्स
Mukhy dwar ke vastu tips


 mukhya dwar vastu

वास्तुनुसार मुख्य द्वार
Vastu anusar mukh dwar





House माना जाता है कि जिस घर की स्त्री प्रातः मुख्य द्वार खोल कर सर्वप्रथम घर की दहलीज पर जल छिड़कती है उस घर से किसी भी प्रकार की बुरी / नकारात्मक ऊर्जा दूर रहती है और ऐसे भवन में माँ लक्ष्मी का आने का मार्ग प्रशस्त होता है ।

House मुख्य द्वार के दोनों तरफ व ऊपर कुमकुम, रोली, केसर, हल्दी आदि को घोलकर उनसे स्वास्तिक या ॐ का शुभ चिन्ह अवश्य ही बनाएं।

House यदि किसी भी भवन में एक ही मुख्य द्वार बनाना हो तो उसे पूर्व या उत्तर दिशा में ही बनाना चाहिए लेकिन यदि भवन पश्चिम या दक्षिण मुखी है तो उनमें कभी भी एक ही प्रवेश द्वार ना बनवाएं ।

House यदि भवन दक्षिण दिशा में हो और उसके पीछे उत्तर दिशा में दूसरा भवन हो अर्थात उत्तर दिशा बंद हो तो भवन के सामने दक्षिण दिशा में छोटा द्वार बना कर उसके बाएं अर्थात पूर्व दिशा में रिक्त स्थान देकर पूर्व दिशा की तरफ खुलने वाला बड़ा द्वार बनाये और इसे ही मुख्य द्वार का दर्जा दें अर्थात इसे ही ज्यादा उपयोग में लाएं ।

House यदि भवन पश्चिम दिशा में हो और उसके पीछे पूर्व दिशा में दूसरा भवन हो अर्थात पूर्व दिशा बंद हो तो भवन के सामने पश्चिम दिशा में छोटा द्वार बना कर उसके दायें अर्थात उत्तर दिशा में रिक्त स्थान देकर उत्तर दिशा की तरफ खुलने वाला बड़ा द्वार बनाये और इसे ही मुख्य द्वार का दर्जा दें अर्थात इसे ही ज्यादा उपयोग में लाएं ।

House मुख्य द्वार सदैव भवन के अंदर एवं घडी की दिशा में ही खुलना चाहिए । बाहर की तरफ एवं घडी की विपरीत दिशा में खुलने वाला मुख्य द्वार अशुभ माना जाता है ।

House ध्यान रहे की घर के मुख्य द्वार को खोलने बंद करने में किसी भी तरह की आवाज़ नहीं होनी चाहिए ।

House अगर एक द्वार के ऊपर दूसरा द्वार बनवाना पड़े तो ऊपर वाला द्वार नीचे वाले द्वार से छोटा एवं एक सीध में ही होना चाहिए ।

House घर का मुख्य द्वार और रसोई घर आमने-सामने न हो क्योंकि इससे घर के सदस्यों के बीमार होने का अंदेशा रहता है। यदि रसोई घर का स्थान परिवर्तन करना सम्भव ना हो तो उसके दरवाजे पर परदा लगा दें।

House भवन के मुख्य द्वार पर 4 x 4 इन्च का ताम्र धातु में निर्मित वास्तु दोष निवारण यन्त्र अवश्य ही लगाना चाहिए., इस उपाय से यदि मुख्य द्वार या भवन में कोई भी वास्तु दोष होता है तो वह काफी हद तक कम या दूर हो जाता है ।



House मुख्य द्वार के वस्तु दोष को दूर करने के लिए घर के द्वार पर घंटियों की झालर लगाएं जिसमें हिलने पर आवाज हो ,इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं हो पाता है घर के लोग ऊर्जा से भरे रहते है ।



House फेंगशुई के अनुसार भवन के मुख्य द्वार के हैंडल पर अंदर से लाल रंग के धागे अथवा फीते में 3 ताम्बे के छेद वाले सिक्के बांधे । इससे घर में धन का आगमन होता रहता है , धन रुकता है धन की हानि नहीं होती है ।





Published By : Memory Museum
Updated On : 2020-11-24 06:00:55 PM

Ad space on memory museum


अपने उपाय/ टोटके भी लिखे :-----
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Post
No Tips !!!!
Access denied for user ''@'localhost' (using password: NO)