Memory Alexa Hindi


om मकर संक्रांति के दान om

om Makar Sankranti Ke Daan om


makar-sankranti-ke-dan

om मकर संक्रांति में स्नान का महत्व om

om Makar Sankranti Me Snan Ka Mahatva om



om हिन्दु धर्म में मकर संक्रांति का महत्व Makar Sankranti Ka Mahatva बहुत बताया गया है । मकर संक्रांति Makar Sankranti से भगवान सूर्यदेव उत्तरायण हो जाते हैं। ज्योतिष की दृष्टि से भी यह दिन बहुत महत्वपूर्ण है।

Tags : मकर संक्रांति, Makar Sankranti, मकर संक्रांति 2018, Makar Sankranti 2018, मकर संक्रांति के दान, Makar Sankranti Ke Daan, मकर संक्रांति में स्नान का महत्व, मकर संक्रांति में क्या करे दान, Makar Sankranti Men Kya Karen Daan

om मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी को मनाया जाता है लेकिन इस वर्ष 2018 में चूँकि सूर्य धनु राशि से मकर राशि में रात्रि 08 बजे प्रवेश करेगे । अतः मकर संक्रांति का पूर्ण काल 15 जनवरी को सूर्य उदय से दोपहर 12 बजकर 30 मिनट तक रहेगा इसी कारण वर्ष 2018 में मकर संस्कृति 15 जनवरी को मनाई जाएगी ।

om शास्त्रो के अनुसार इस दिन विधिपूर्वक स्नान करने एवं पूर्ण श्रद्धा पूर्वक दान करने से जीवन में समस्त सुखो की प्राप्ति होती है, कार्यो से अवरोध दूर होते है, माँ लक्ष्मी का घर कारोबार में अटूट वास होता है,पुण्य संचय होते है, सभी प्रकार के पापो से मुक्ति मिलती है , पितर प्रसन्न होते है पितरो का आशिर्वाद प्राप्त होता है ।

om शास्त्रों के अनुसार मकर संक्रांति Makar Sankranti को सभी जातकों को चाहे वह स्त्री हो अथवा पुरुष सूर्योदय से पूर्व अवश्य ही अपनी शय्या का त्याग करना चाहिए । हर मनुष्य को मकर संक्रांति के दिन स्नान Makar Sankranti Ke Din अवश्य ही करना चाहिए । संक्रांति पर्व पर स्नान के संबंध में शास्त्रों में कहा गया है कि-
रवि संक्रमणे प्रासेन स्नानाद्यस्तु मानवः।
सप्तजन्मनि रोगो स्द्यान्निर्धनश्चैव जायतेः।

om अर्थात् सूर्य की संक्रांति के दिन जो मनुष्य स्नान नहीं करता है। वो सात जन्मों तक रोगी रहता है। देवी पुराण में लिखा है कि जो व्यक्ति मकर संक्रांति के दिन Makar Sankranti Ke Din स्नान नहीं करता है। वह रोगी और निर्धन बना रहता है।

om विशेषकर मकर संक्रांति Makar Sankranti पर तिल-स्नान को अत्यंत पुण्यदायक बतलाया गया है। शास्त्रो के अनुसार इस दिन तिल - स्नान करने वाला मनुष्य सात जन्म तक आरोग्य को प्राप्त करता है, जातक रूपवान होता है उसे किसी भी रोग का भय नहीं होता है ।

om आरोग्य की कामना करने वालें मनुष्य को चाहिए कि इस तिल का उबटन बना कर उसे पूरे शरीर पर लगाए फिर स्नान करे इससे पूरे वर्ष स्वास्थय लाभ मिलता है।

om मकर संक्रान्ति Makar Sankranti के पुण्यकाल में हर मनुष्य को तीर्थ या नदी तट पर सफेद तिल मिश्रित जल से शुद्ध मनोभाव से स्नान करना चाहिए । यदि नदी में स्नान करना संभव ना हो, तो अपने घर में पूर्वाभिमुख होकर जल में तिल, दुर्वा, कच्चा दूध डालकर स्नान करें।

om इस दिन तीर्थों, मन्दिर, देवालय में देव दर्शन, एवं पवित्र नदियों में स्नान का विशेष महत्व है। इस दिन लाल रंग के वस्त्र धारण करना एवं गोरोचन का तिलक लगाना श्रेयकर है।

om मकर संक्रांति के दिन दान Makar Sankranti Ke Din Daan करने का अति विशेष महत्व है।

om हमारे शास्त्रों के अनुसार इस दिन किए गए दान का सहस्त्रों गुना पुण्य प्राप्त होता है।

om इस दिन कंबल, गर्म वस्त्र, घी, गुड़, दाल-चावल की कच्ची खिचड़ी और तिल आदि का दान विशेष रूप से फलदायी माना गया है।

om इस दिन तिल के दान से आपकी कुंडली के कई दोष दूर होते है , विशेष रूप से कालसर्प योग, शनि की साढ़ेसाती और ढय्या, राहु-केतु के दोष दूर हो जाते हैं।

om इस दिन तिल के लड्डुओं के साथ हरे मूंग और चावल की खिचड़ी का दान करना सर्वश्रेष्ठ माना गया है।

om इस दिन घर में खिचड़ी बना कर पहले घर के मंदिर में भगवान को भोग लगाएं फिर सभी सदस्यों के एक साथ प्रेम पूर्वक खाने से परिवार बढ़ता है ।

pandit-ji
ज्योतिषाचार्य डॉ० अमित कुमार द्धिवेदी
कुण्डली, हस्त रेखा, वास्तु एवं प्रश्न कुण्डली विशेषज्ञ



Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।