Memory Alexa Hindi

मधुमेह, मधुमेह के घरेलू उपचार
Madhumeh, Madhumeh Ke Gharelu Upchar




madhumeh-ke-gharelu-upchar

मधुमेह, Madhumeh डायबिटीज
Madhumeh, Diabetes )


Diabetes Image
बदलता परिवेश और रहन-सहन शहर में मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा कर रहा है। खान-पान पर नियंत्रण न होना भी इसके लिए जिम्मेदार है। मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) के मरीज को सिरदर्द, थकान जैसी समस्याएं हमेशा बनी रहती हैं। मधुमेह Madhumeh में खून में शुगर ( sugar ) की मात्रा बढ जाती है।
ऐलोपैथिक में इसका कोई स्थायी इलाज नहीं मिल पाया है परन्तु आयुर्वेद के उपायों, जीवनशैली में बदलाव, शिक्षा तथा खान-पान की आदतों में सुधार द्वारा रोग को पूरी तरह नियंत्रित किया जा सकता है ( diabetes treatment in hindi ), मधुमेह के उपाय, madhumeh ke upay, मधुमेह के उपचार, madhumeh ke upchar ।



यहाँ मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) को नियंत्रण करने के ( diabetes treatment in hindi ) हम कुछ आसन से घरेलू उपाय बता रहे है
जानिए मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) , मधुमेह के उपाय, madhumeh ke upay, मधुमेह के उपचार, madhumeh ke upchar, मधुमेह से कैसे निजात पाएं, madhumeh se kaise nijat payen, मधुमेह का घरेलू इलाज, madhumeh ka gharelu ilaj, मधुमेह कैसे दूर करें, madhumeh kaise dur kare,

मधुमेह के उपाय
( Madhumeh Ke Upay )


अवश्य जाने :- गोरी त्वचा पाने के लिए रात में सोते समय करें ये उपाय, इससे त्वचा का रंग साफ होता है, चेहरे में चमक आती है,

Kalash One Image मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) पर नियंत्रण रखने के लिए नित्य प्रात: बिना कुछ भी खाए गिलोय अथवा नीम की दातुन से अपने दाँत साफ करने चाहिए । दातुन करने की प्रकिया में जो भी रस निकले उसे थूकें नहीं वरन नगलते जाएँ । गिलोय एवं नीम का रस मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) में चमत्कार का काम करता है ।
इस छोटे से उपाय को अपनी दिनचर्या बनाने से जीवन में कभी भी मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) पास भी नहीं आएगी और जिन्हे है उनकी पूरी तरह से नियन्त्रण में रहेगी ।

Kalash One Image 10 मिग्रा आंवले के जूस को 2 ग्राम हल्दी के पावडर में मिला लीजिए। इस घोल को दिन में दो बार लीजिए। इससे खून में शुगर नियंत्रण ( Sugar Niyantran ) में रहती है।

Kalash One Image लगभग एक महीने के लिए अपने रोज़ के आहार में एक ग्राम दालचीनी का इस्तेमाल करें, इससे ब्लड शुगर लेवल को कम करने के साथ वजन को भी नियंत्रण करने में मदद मिलेगी। यह मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) का अचूक उपचार है । ( madhumeh ka achuk upchar )


Kalash One Image Madhumeh, मधुमेह, मधुमेह के कारण, Madhumeh ke karan, ( diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )

Kalash One Image Madhumeh, मधुमेह, मधुमेह के प्रकार, Madhumeh ke karan ( diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )

Kalash One Image Madhumeh,मधुमेह, मधुमेह के लक्षण, Madhumeh ke lakshan (diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )

Kalash One Image Madhumeh, मधुमेह, मधुमेह के उपाय, मधुमेह के घरेलू उपचार | Madhumeh ke gharelu Upchaar, (diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )

Kalash One Image Madhumeh, मधुमेह, Sugar, शुगर, शुगर का उपचार, Sugar ka upchar, (diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )


Kalash One Imageमधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) को अपने से दूर रखने के सदैव एक उपाय करें। शोधो से यह पता चला है कि जिस घर में गेंहू के आटे में जौ और चने का आटा मिलाकर उसकी रोटी बनती है उस घर के सभी लोग निरोगी होते है, वहां पर मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) रोग का प्रवेश नहीं हो पाता है।
5 किलो आटे में एक एक किलो जौ और चने का आटा मिलाना चाहिए ।

क्लिक करें:- कैसी भी बवासीर की परेशानी से निजात पाने के लिए इस साइट पर दिए गए उपचारों को अवश्य ही जानिए ।

Kalash One Imageमधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) से दूर रहने का एक और अजमाया हुआ आसा उपाय है। जहाँ पर लोग सुबह खाली पेट हल्का गर्म पानी 3-4 गिलास पीते है, और हर बार खाने के थोड़ी देर बाद एक कप गर्म पानी चाय की तरह पीते है उस घर के लोगो को भी मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) का डर नहीं रहता है । यह मधुमेह का अचूक उपचार ( madhumeh ka achuk upchar ) है ।

Kalash One Imageमधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) और दिल के मरीजो के रोगियों के लिए बहुत लाभकारी प्रयोग :-
अच्छी क्वालिटी के दो मुट्ठी साफ गेंहू को 10 मिनट तक पानी में उबालने के बाद उन्हें ठंडा होने पर किसी कपडे में रख कर उसको लगातार पानी में भिगो कर रखे ताकि वो अंकुरित हो सके। उबालने के बाद 10-15 प्रतिशत गेंहू में ही अंकुरित होने का सामर्थ्य बचा होगा ।
जब 4-5 दिन के बाद गेंहू में लगभग एक इंच तक लंबे अंकुर निकल आये तो उन्हें सिर्फ दो से तीन तक खाली पेट खाएं इससे मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जायेगा । इस प्रयोग को ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने बहुत से लोगो पर जांचा और ये अद्भुत उपाय जांच में बिलकुल सही साबित हुआ।

यदि इसे दो और दिन तक अर्थात लगातार 5 दिन तक खाया जाय तो हार्ट अटैक की सम्भावना भी बिलकुल नगण्य हो जाती है ।
इसे खाने के बाद एक घंटे तक कुछ भी ना खाएं ।

जरूर पढ़े :- व्यापार में सफलता के लिए सही शुरुआत का होना आवश्यक है, अपने व्यापार को शुरू करने के सही समय/मुहूर्त को जानने के लिए क्लिक करें

Kalash One Image तुलसी के पत्तों में ऐन्टीआक्सिडन्ट और ज़रूरी तेल होते हैं जो इनसुलिन के लिये सहायक होते है । इसलिए शुगर लेवल को कम करने के लिए दो से तीन तुलसी के पत्ते को प्रतिदिन खाली पेट लें, या एक टेबलस्पून तुलसी के पत्ते का जूस लें। इससे मधुमेह में लाभ ( madhumeh me labh ) मिलता है

Kalash One Image काले जामुन डायबिटीज की अचूक औषधि ( Diabetes Ki Achuk Aushadhi ) मानी जाती है। मधुमेह के रोगी ( Madhumeh ki rogi) को काले नमक के साथ जामुन खाना चाहिए। इससे खून में शुगर की मात्रा नियंत्रित होती है ।

अवश्य पढ़ें :- घर पर ही कुछ खास, आसान उपायों को करते हुए जवां त्वचा पाएं, झुर्रियों को दूर भगाएं |

Kalash One Image करेले को मधुमेह की औषधि ( madhumeh ki aushadhi ) के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसका कड़वा रस शुगर की मात्रा कम करता है। अत: इसका रस रोज पीना चाहिए। उबले करेले के पानी से मधुमेह Madhumeh को शीघ्र स्थाई रूप से समाप्त किया जा सकता है।

Kalash One Image मधुमेह के उपचार Madhumeh ke upchar के लिए मैथीदाने का बहुत महत्व है, इससे पुराना मधुमेह, Madhumeh ( शुगर, डायबिटीज ), Diabetes भी ठीक हो जाता है। मैथीदानों का चूर्ण नित्य प्रातः खाली पेट दो टी-स्पून पानी के साथ लेना चाहिए ।

Kalash One Image काँच या चीनी मिट्टी के बर्तन में 5-6 भिंडियाँ काटकर रात को गला दीजिए, सुबह इस पानी को छानकर पी लीजिए। इससे मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) दूर होती है

Kalash One Image मधुमेह, Madhumeh ( शुगर, डायबिटीज ), Diabetes मरीजो को नियमित रूप से दो चम्मच नीम और चार चम्मच केले के पत्ते के रस को मिलाकर पीना चाहिए।

अवश्य पढ़ें :- कैसे इन छोटे,आसान लेकिन बहुत ही अचूक उपाय आप अपने कैरियर / व्यापार में चार चाँद लगा सकते है,

Kalash One Image ग्रीन टी भी मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) मे बहुत फायदेमंद मानी । जाती है ग्रीन टी में पॉलीफिनोल्स होते हैं जो एक मज़बूत एंटी-ऑक्सीडेंट और हाइपो-ग्लाइसेमिक तत्व हैं, शरीर इन्सुलिन का सही तरह से इस्तेमाल कर पाता है।

Kalash One Image सहजन के पत्तों में दूध की तुलना में चार गुना कैलशियम और दुगना प्रोटीन पाया जाता है। मधुमेह madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) में इन पत्तों के सेवन से भोजन के पाचन और रक्तचाप को कम करने में मदद मिलती है। इसके नियमित सेवन से भी लाभ प्राप्त होता है ।

                                         


Published By : Memory Museum
Updated On : 2019-05-05 05:00:00 PM

Ad space on memory museum


इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।
यहाँ पर आप अपनी समस्याऐं, अपने सुझाव , उपाय भी अवश्य लिखें |
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Reply
1.
dibitiz 157
shaikh rais  

2.
Kuch nahi hai
Firoj  

3.
एक अध्ययन के अनुसार 9 करोड़ डायबिटीज अर्थात मधुमेह के मरीजों की आबादी के साथ भारत विश्व के तीन सबसे ज्यादा मधुमेह पीड़ित देशों में से है । मधुमेह में तिल का तेल बहुत ही लाभदायक साबित होता है। तिल के तेल में विटामिन ई और अन्य एंटीऑक्सिडेंट्स , जैसे कि लिगनैंस, प्रचुर मात्रा में होते हैं. जो टाइप 2 डायबिटीज में फायदा करते हैं।
तिल का तेल डायबिटीज की रोकथाम करने में भी मदद करता है इसके नियमित रूप से सेवन करने से रक्त में ग्लूकोज का स्तर, और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो जाता है। तिल के तेल के सेवन से मधुमेह के कारण होने वाली अन्य बीमारियाँ भी दूर रहती है ।
admin memorymuseum.net  

4.
Type -1 diabetes ko control krne ke upay
Raghu patidar  

5.
नित्य दोपहर और रात के खाने से 15-20 मिनट पहले एक चौथाई चम्मच दालचीनी के चूर्ण को गुनगुने पानी में मिलाकर उसका सेवन करें । इससे शीघ्र ही मधुमेह नियंत्रित हो जाता है , शरीर को ताकत मिलती है । इसके नियमित रूप से सेवन करने से इन्सुलिन भी बंद हो जाती है ।
admin memorymuseum.net  

6.
Please advise for improvement of sugar problem.
Regards
M S Chouhan
Mobile-9899103167
M S CHOUHAN  

7.
HKDFG HG S DJ
SURESH JAT   

8.
type 1 मधु मेह का उपचार
sanjay patidar  

9.
मधुमेह type 2 है उपाय
अनिल वाळके  

10.
Adrak ka ras kitna or kitne bar lena h.
Salt mix karna h
Renu Kapoor  

11.
मधुमेह पर नियंत्रण रखने के लिए नित्य प्रात: बिना कुछ भी खाए गिलोय अथवा नीम की दातुन से अपने दाँत साफ करने चाहिए । दातुन करने की प्रकिया में जो भी रस निकले उसे थूकें नहीं वरन नगलते जाएँ । गिलोय एवं नीम का रस मधुमेह में चमत्कार का काम करता है ।
इस छोटे से उपाय को अपनी दिनचर्या बनाने से जीवन में कभी भी मधुमेह पास भी नहीं आएगी और जिन्हे है उनकी पूरी तरह से नियन्त्रण में रहेगी ।
admin memorymuseum.net  

12.
thanks for these wonderful tips.
harshit pandey  

13.
मराठीमे लीखणा
मधुमेह का ऊपाय
लक्ष्मण फलके  

14.
एक अमरीकी शोध के अनुसार मधुमेह के रोगी के आहार में ‘फाइबर ’( मोटे रेशेदार पदार्थ ) की मात्रा अधिक होनी चाहिए ।
हर व्यक्ति को कम से कम रोजाना 40 ग्राम फाइबर जरूर अपने भोजन में शामिल करना चाहिए। समान्यता भोजन में 15 से 20 ग्राम फाइबर शामिल रहता है। इसे यदि 20 ग्राम और बढ़ा दें तो मधुमेह और दिल की बीमारी से बचा जा सकता है । फाइवर भोजन के बाद रक्त में शर्करा के स्तर को बढ़ने नहीं देते । ये कब्ज को दूर करते हैं, रक्त में कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करते हैं और इसके सेवन से वजन भी नियंत्रित रहता है ।
चोकर , हरी पत्तो वाली सब्जियाँ और मेथी से फाइबर की पूर्ति की जा सकती है ।
admin memorymuseum.net  

15.
Su
AKHTAR   

16.
Jamun ki gudhli ko pess kr ubal kr pina
Jitendra pareek  

17.
sugar ke ilaaj
krella sugar ke liye bahut labhdayak hota hai krele ke juice ko subah khalli pet lene se madhumeh ke rog theeke hote hai
kamal  

18.
Sugar in
We have to sacrifice to eat sugar , potato, rices , sweets
Abhilekh singh   

19.
सुगर के लिए
मैथी 100 ग्राम
अजवायन 100 ग्राम
कलोंजी 100 ग्राम
काली जीरी 100 ग्राम
सभी पीस कर 2 ग्राम दोहपह ओर 2 ग्राम शाम भोजन के बाद खाली पेट न खाये
कृष्ण पाल गेजवाल  

20.
uncontrolled diabeties
vikesh  

21.
मधुमेह में फ्रिज का पानी बिलकुल भी नहीं पिए ।
मधुमेह के शिकार होने पर रात में एक छोटे मिटटी के घड़े में 10 -12 गिलास पानी भरकर उसमें एक चम्मच मेथी और एक चम्मच अजवाइन डाल दें ,
रात में जब भी नीद खुले और पानी पीना हो तो उसी पानी को मिटटी के गिलास में पियें। फिर सुबह उठकर उस पानी के तीन चार गिलास आराम से पालथी मार कर पियें। बचा हुआ पानी दूसरे दिन भी रात में और अगले दिन सुबह के समय पियें ।
तीसरे दिन घड़े का पानी बदल कर उसमें फिर से एक चम्मच मेथी और एक चम्मच अजवाइन डाल कर उस जल का सेवन करें। ऐसा नियमित रूप से करने पर शीघ्र ही महुमेह नियंत्रित हो जाता है और लगातार नियंत्रित रहता है ।
यह बहुत ही आसान और अचूक उपाय है, अगर आप महुमेह को परास्त करना चाहते है तो इसे अवश्य ही करें ।
admin memorymuseum.net  

22.
घरेलू उपाये,मै , जामुन का पत्ता ,बेल पत्ता , करेला का पत्ता ,निम का
पत्ता ,सारे पत्ते बराबर मात्रा में ले ,
सभी पत्ते को पीस् कर गोली बना ले
बेर की गुटली के बराबर बना धुप में
सुखाले , फिर सुबह एवं शाम को खाली पैट ले फिर , शुगर का इलाज है फिर कोई दवा खाने की जरूरत नही पडेगी न ही डॉक्टर की ।।
Mukti natayan pandey  

23.
Please help me .
Meri umar 30 years h mujhe sugar h. Mai bahut pareshan hu. 9811786451
toseeb khan   

24.
madhu meh
Rambabu sahani  

25.
पंसारी की दुकान पर आसानी से उपलब्ध होने वाले पनीर के 7 से 8 फुल रात को एक ग्लास पानी मे भीगोकर सुबह सुबह उन्है अच्छै से मसल कर छान कर खाली पेट पी जाये उसके बाद साठ मीनीट तक कुछ भी ना ले.....ज्यादा नही दस दिनो मे ही खुद उसका असर देखे !!!
पप्पु पंडीत  

26.
Suka karelaa100 meethi.100 gurmad patte100 jamunki guthli100 neem ki niboli 100 In sab ka curan 1spon khali pait dely lena he hum ko bhi kesi ne bataya h
yatendrarajput  

27.
मधुमेह में नित्य सुबह शाम 4-5 लहसुन की कली , 1/2 चम्मच हल्दी और थोड़ी सौंठ डाल कर पाव भर दूध को अच्छी तरह से गर्म करें फिर इसमें 2 बूँद शिलाजीत की डाल दे । यह दूध मधुमेह में रामबाण है । इस दूध का गर्मा गर्म सेवन करने से मधुमेह नियंत्रित रहती है शरीर में किसी भी तरह की थकावट कमजोरी भी नहीं आती है और ह्रदय एवं रक्तचाप भी सामान्य रहता है ।
admin memorymuseum.net  

28.
everyday atleast 20-25 walking is necessary it helps to decrease the suger level.
tapasya pande  





1.
मधुमेह में नित्य सुबह शाम 4-5 लहसुन की कली , 1/2 चम्मच हल्दी और थोड़ी सौंठ डाल कर पाव भर दूध को अच्छी तरह से गर्म करें फिर इसमें 2 बूँद शिलाजीत की डाल दे । यह दूध मधुमेह में रामबाण है । इस दूध का गर्मा गर्म सेवन करने से मधुमेह नियंत्रित रहती है शरीर में किसी भी तरह की थकावट कमजोरी भी नहीं आती है और ह्रदय एवं रक्तचाप भी सामान्य रहता है ।
admin memorymuseum.net  

2.
मधुमेह में फ्रिज का पानी बिलकुल भी नहीं पिए ।
मधुमेह के शिकार होने पर रात में एक छोटे मिटटी के घड़े में 10 -12 गिलास पानी भरकर उसमें एक चम्मच मेथी और एक चम्मच अजवाइन डाल दें ,
रात में जब भी नीद खुले और पानी पीना हो तो उसी पानी को मिटटी के गिलास में पियें। फिर सुबह उठकर उस पानी के तीन चार गिलास आराम से पालथी मार कर पियें। बचा हुआ पानी दूसरे दिन भी रात में और अगले दिन सुबह के समय पियें ।
तीसरे दिन घड़े का पानी बदल कर उसमें फिर से एक चम्मच मेथी और एक चम्मच अजवाइन डाल कर उस जल का सेवन करें। ऐसा नियमित रूप से करने पर शीघ्र ही महुमेह नियंत्रित हो जाता है और लगातार नियंत्रित रहता है ।
यह बहुत ही आसान और अचूक उपाय है, अगर आप महुमेह को परास्त करना चाहते है तो इसे अवश्य ही करें ।
admin memorymuseum.net  

3.
एक अमरीकी शोध के अनुसार मधुमेह के रोगी के आहार में ‘फाइबर ’( मोटे रेशेदार पदार्थ ) की मात्रा अधिक होनी चाहिए ।
हर व्यक्ति को कम से कम रोजाना 40 ग्राम फाइबर जरूर अपने भोजन में शामिल करना चाहिए। समान्यता भोजन में 15 से 20 ग्राम फाइबर शामिल रहता है। इसे यदि 20 ग्राम और बढ़ा दें तो मधुमेह और दिल की बीमारी से बचा जा सकता है । फाइवर भोजन के बाद रक्त में शर्करा के स्तर को बढ़ने नहीं देते । ये कब्ज को दूर करते हैं, रक्त में कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करते हैं और इसके सेवन से वजन भी नियंत्रित रहता है ।
चोकर , हरी पत्तो वाली सब्जियाँ और मेथी से फाइबर की पूर्ति की जा सकती है ।
admin memorymuseum.net  

4.
मधुमेह पर नियंत्रण रखने के लिए नित्य प्रात: बिना कुछ भी खाए गिलोय अथवा नीम की दातुन से अपने दाँत साफ करने चाहिए । दातुन करने की प्रकिया में जो भी रस निकले उसे थूकें नहीं वरन नगलते जाएँ । गिलोय एवं नीम का रस मधुमेह में चमत्कार का काम करता है ।
इस छोटे से उपाय को अपनी दिनचर्या बनाने से जीवन में कभी भी मधुमेह पास भी नहीं आएगी और जिन्हे है उनकी पूरी तरह से नियन्त्रण में रहेगी ।
admin memorymuseum.net  

5.
नित्य दोपहर और रात के खाने से 15-20 मिनट पहले एक चौथाई चम्मच दालचीनी के चूर्ण को गुनगुने पानी में मिलाकर उसका सेवन करें । इससे शीघ्र ही मधुमेह नियंत्रित हो जाता है , शरीर को ताकत मिलती है । इसके नियमित रूप से सेवन करने से इन्सुलिन भी बंद हो जाती है ।
admin memorymuseum.net  

6.
एक अध्ययन के अनुसार 9 करोड़ डायबिटीज अर्थात मधुमेह के मरीजों की आबादी के साथ भारत विश्व के तीन सबसे ज्यादा मधुमेह पीड़ित देशों में से है । मधुमेह में तिल का तेल बहुत ही लाभदायक साबित होता है। तिल के तेल में विटामिन ई और अन्य एंटीऑक्सिडेंट्स , जैसे कि लिगनैंस, प्रचुर मात्रा में होते हैं. जो टाइप 2 डायबिटीज में फायदा करते हैं।
तिल का तेल डायबिटीज की रोकथाम करने में भी मदद करता है इसके नियमित रूप से सेवन करने से रक्त में ग्लूकोज का स्तर, और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो जाता है। तिल के तेल के सेवन से मधुमेह के कारण होने वाली अन्य बीमारियाँ भी दूर रहती है ।
admin memorymuseum.net  

7.
मधुमेह में 100 ग्राम मेथीदाना, 100 ग्राम तेजपत्ता, 150 ग्राम जामुन के बीज और 250 ग्राम बेल के पत्तो को धूप में सुखाकर सिलबट्टे पर पीस लें ।
फिर नित्य सुबह नाश्ते से एक घंटे पहले एक चम्मच चूर्ण को गरम पानी के साथ लें और रात को भी खाने से एक घंटे से पहले एक चम्मच चूर्ण को गरम पानी के साथ लें ।
इसका लगातार 2 माह तक सेवन करने से मधुमेह समाप्त हो जाती है ।
admin memorymuseum.net  

8.
मधुमेह के रोगियों को नित्य हरे धनिया की चटनी अवश्य ही खानी चाहिए । हरा धनिया मधुमेह में बहुत लाभदायक है ।
यह शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ाता है और खून में गुलूकोज़ की मात्रा को भी कम करता है।
admin memorymuseum.net  

9.
मधुमेह के रोगियों को नित्य हरे धनिया की चटनी अवश्य ही खानी चाहिए । हरा धनिया मधुमेह में बहुत लाभदायक है ।
यह शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ाता है और खून में गुलूकोज़ की मात्रा को भी कम करता है।
admin memorymuseum.net  

10.
मधुमेह और दिल के मरीजो के रोगियों के लिए बहुत लाभकारी प्रयोग :-
अच्छी क्वालिटी के दो मुट्ठी साफ गेंहू को 10 मिनट तक पानी में उबालने के बाद उन्हें ठंडा होने पर किसी कपडे में रख कर उसको लगातार पानी में भिगो कर रखे ताकि वो अंकुरित हो सके। उबालने के बाद 10-15 प्रतिशत गेंहू में ही अंकुरित होने का सामर्थ्य बचा होगा ।
जब 4-5 दिन के बाद गेंहू में लगभग एक इंच तक लंबे अंकुर निकल आये तो उन्हें सिर्फ दो से तीन तक खाली पेट खाएं इससे मधुमेह से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जायेगा । इस प्रयोग को ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने बहुत से लोगो पर जांचा और ये अद्भुत उपाय जांच में बिलकुल सही साबित हुआ।
यदि इसे दो और दिन तक अर्थात लगातार 5 दिन तक खाया जाय तो हार्ट अटैक की सम्भावना भी बिलकुल नगण्य हो जाती है ।
इसे खाने के बाद एक घंटे तक कुछ भी ना खाएं ।
admin memorymuseum.net  

11.
नित्य प्रात: दो चम्मच अदरक के रस में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीने से मधुमेह में आशातीत लाभ मिलता है,
शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है|
admin memorymuseum.net  

12.
कैसी भी पुरानी शुगर हो, इन्सुलिन लग रही हो तब भी यह उपाय करे , इससे शीघ्र ही शुगर नियंत्रित होने लगती है।
आम की ताजी पत्तियों को तोड़ कर उसे धुप में अच्छी तरह से सूखा कर इनको पीसकर इसका पाउडर बना लें। फिर रोज़ सुबह खाली पेट एक चम्मच इस पाउडर का गुनगुने सेवन पानी के साथ करें। इस उपाय से मधुमेह बहुत ही जल्दी कंट्रोल में आ जाता है।
अथवा
यदि किसी कारण पाउडर का सेवन नहीं कर पाएं तो आम की ताजा पत्तियों को रात में एक गिलास पानी में भिगोकर रख दे। फिर सुबह उठकर इसको उबाल कर इसको छानकर खाली पेट इसका सेवन करें। ऐसा करने से भी अति शीघ्र शुगर नियंत्रण में हो जाता है।
इन दोनों उपाय में से किसी भी एक उपाय को करने से बहुत ही जल्द शुगर से छुटकारा मिल सकता है।
नोट :- इस उपाय को करते समय दवा बंद ना करे, दवा भी अवश्य ही लेते रहे। एक माह बाद अपने मधुमेह की जाँच करवा कर खुद ही परिणाम देखें ।
admin memorymuseum.net  

13.
मधुमेह के रोगियों को नित्य लहसुन, अदरक हरे धनिया की चटनी अवश्य ही खानी चाहिए । लहसुन और हरा धनिया मधुमेह में बहुत लाभदायक है ।
यह शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ाता है और खून में गुलूकोज़ की मात्रा को भी कम करता है। इस चटनी के नित्य सेवन से मधुमेह में बहुत आराम मिलता है।
admin memorymuseum.net  

14.
मधुमेह में एक आसान सी घरेलु औषधि बना कर उसका उपयोग करे
इस औषधि के निर्माण के लिए आवश्यक है -

1 – गेंहू का आटा 100 ग्राम
2 – वृक्ष से निकली गोंद 100 ग्राम
3 – जौ 100 ग्राम
4 – कलुन्जी 100 ग्राम

उपरोक्त सभी सामग्रियों को लगभग 1.25 लीटर पानी में 10 मिनिट तक उबालें ।
फिर इसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें। ठंडा होने पर इस मिश्रिण को छानकर इस पानी को किसी काँच या चीनी मिट्टी के बर्तन में सुरक्षित रख दें ।
अब सात दिन प्रतिदिन सुबह खाली पेट तक एक छोटा कप पानी पियें। फिर इसका सात सात दिन तक लगातार सेवन करते रहे । मात्र एक माह में ही आश्चर्यजनक रूप से मधुमेह नियंत्रित हो जाता है। इसके बाद अगले माह इसका एक दिन छोड़कर सेवन करें।
admin memorymuseum.net  

15.
मधुमेह में नित्य प्रात: ताजे 20 पत्ते बेल पत्र के दांतो से चबा चबा कर खाने से कैसी भी शुगर / मधुमेह ( Diabetes ) दूर होती है। एक माह के बाद हर सप्ताह में 2 - 3 दिन ऐसा करते रहने से भविष्य में मधुमेह होने का खतरा भी ख़त्म हो जाता है। यह बहुत ही आजमाया हुआ उपाय है।
admin memorymuseum.net  

16.
कलौंजी मधुमेह का अचूक इलाज है। नित्य 2 ग्राम कलौंजी खाने से शरीर में भरपूर मात्रा में इन्सुलिन बनने लगता है। कलौंजी पैन्क्रियाज़ को भी उत्तेजित करता है ।
नित्य कलौंजी का सेवन करने से मधुमेह का नाश होता है।
admin memorymuseum.net  

17.
250 ग्राम हरे प्याज को जड़ो समेत बहुत अच्छी तरह से कई बार धो कर साफ कर लें फिर इनको जड़ो समेत 4 लीटर पानी में रात भर भिगो दो। अब सुबह खाली पेट इस पानी को छान कर इसका कम से कम दो गिलास सेवन करे। इसके बाद दिन में जब भी प्यास लगे तब इसी पानी का सेवन करे।
प्रक्रिया को प्रतिदिन करें, नियमित रूप से दो माह तक इस पानी का सेवन करने से शुगर पूरी तरह से नियंत्रित हो जाती है।
admin memorymuseum.net  


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।

मधुमेह के घरेलू उपचार

शुगर के घरेलू उपचार

डायबिटीज के घरेलू उपचार

Diabetes Ke Gharelu Upchar

Madhumeh Ke Upchaar

मधुमेह Madhumeh/शुगर Sugar के आसान और घरेलु उपचारों से उसको नियंत्रण करने के लिए इन उपायों का अवश्य ध्यान रखें ।