Memory Alexa Hindi

कब्ज के घरेलू उपाय
Kabj ke Gharelu Upay




kabj Image
आज कब्ज ( Kabj ) से दुनिया भर में बड़ी संख्या में लोग पीड़ित हैं, इसका कारण है कभी भी कुछ भी खा लेना। खाने के बाद बैठे रहना या रात को भोजन के पश्चात बिस्तर पर सो जाना, इन्ही सब वजह से कब्ज पैदा होता हैं। कब्ज ( Kabj ) सभी बीमारियों का मूल कारण है, इसलिए इससे बचना बहुत ही जरुरी है।
वैसे तो यह किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन बढ़ती उम्र में जैसे जैसे शरीर की सक्रियता कम होती जाती है यह व्यक्ति को बुरी तरह से जकड लेती है ।
यहाँ बताए गए कब्ज के आसान से उपायों से आप निःसंदेह ही कब्ज से छुटकारा ( Kabj se Chutkara ) पा सकते हैं
जानिए कब्ज के घरेलू उपाय, (Kabj ke Gharelu Upay) कब्ज से छुटकारा, ( Kabj se Chutkara ) कब्ज का रामबाण इलाज, ( kabj ka ramban ilaj )

dhan logo कब्ज ( Kabj ) का एक बड़ा कारण शरीर मे पानी की कमी का होना भी है। पानी की कमी से आंतों में मल सूख जाता है और शौच में जोर लगाना पडता है। इसलिए कब्ज के रोगी को दिन मे 4 से 5 लीटर पानी अवश्य ही पीना चाहिये।

dhan logo नित्य रात्रि में सोते समय नाभि में गाय के देशी घी की दो बूंदे लगाकर हल्की मालिश करने से पेट की समस्याएँ दूर होती है, कब्ज में भी आराम मिलता है।

dhan logo 20 ग्राम त्रिफला रात को 1/2 लीटर पानी में भिगोकर रख दीजिए। सुबह उठने के बाद शौच जाने से पहले त्रिफला को छानकर उस पानी को पियें और फिर थोड़ा सा टहल भी लें । इससे थोड़ी ही देर में पेट बिलकुल साफ़ हो जाएगा और इस उपाय को लगातार करने से कुछ ही दिनों में कब्‍ज की शिकायत पूरी तरह से दूर हो जाएगी।

dhan logo रात को सोने से पहले एक चम्‍मच शहद को एक गिलास पानी के साथ मिलाकर नियमित रूप से पीने से कब्‍ज बिलकुल दूर हो जाता है।

dhan logo सुबह उठने के बाद नींबू के रस को काला नमक मिलाकर गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से पेट साफ रहता है।

dhan logo प्रतिदिन प्रातःकाल बिना कुछ खाए चार पाँच दाने काजू, 5 दाने मनुक्का के साथ खाने से भी कब्ज में अवश्य ही लाभ होता है।

dhan logo दूध या पानी के साथ रात में सोते वक्‍त इसबगोल की भूसी लेने से भी कब्‍ज शीघ्र ही समाप्‍त होता है।

dhan logo हर रोज रात में हर्र के बारीक चूर्ण को कुनकुने पानी के साथ लेने से कब्‍ज दूर होता है ।

dhan logo पका हुआ बेल कब्ज के लिये बहुत ही लाभदायक है। इसे पानी में उबालकर, मसलकर इसका रस निकालकर लगातार 15 दिन तक पियें। कब्ज दूर हो जाएगी ।

dhan logo किशमिश को पानी में कुछ देर तक भिगो कर रखे, इसके बाद इसे पानी से निकालकर खा लीजिए। नियमित रूप से इसका सेवन करने से जल्द ही कब्ज दूर हो हो जाता है।

dhan logo प्रतिदिन अमरुद, पपीता, नींबू और अंगूर को अपने आहार में शामिल करें इससे भी कब्ज में बहुत फायदा होता है ।

dhan logo कब्ज में गरिष्ठ, बासी व बाजार के खुले, तले भुने खाद्य पदार्थों से दूर रहे । चाय, कॉफी, धूम्रपान व नशीली वस्तुओं से भी दूर रहे ।

dhan logo कब्ज से बचने के लिए सूर्योदय से पूर्व बिस्तर अवश्य ही छोड़ दें। सुबह कुछ देर टहलने, नियमित व्यायाम वा योगासन की अवश्य ही आदत डालें।

dhan logo अंजीर को रात भर पानी में डालकर भिगो कर रखे , इसके बाद सुबह उठकर इसको खाने से कब्‍ज की शिकायत दूर होती है।

dhan logo कच्चा पालक खाने या पालक के रस के सेवन से भी कब्ज समाप्त होता है। एक गिलास पालक का रस रोज पीने से पुरानी से पुरानी कब्ज भी मिट जाती है।

dhan logo रात को सोते समय एक गिलास दूध में 1-2 चम्मच घी मिलाकर पीने से भी कब्ज रोग का समाप्त होता है।

dhan logo अलसी के बीज के सेवन से भी कब्ज़ में बहुत आराम मिलता है। अलसी के बीज को सुबह नाश्ते में दलिया अथवा कॉर्नफ्लेक्स के साथ मिलाकर खा सकते हैं अथवा 20 - 25 ग्राम अलसी के बीज को सुबह गर्म पानी के साथ खाएं, इससे कब्ज पास तक नहीं फटकती है ।

dhan logo तांबे के लोटे को रात में 4 गिलास पानी से भरकर उसमें एक चाँदी का टुकड़ा या चाँदी का सिक्का डाल दें| प्रात: शौच जाने से पहले इस पानी को पालथी मारकर पीने से कब्ज दूर होती है, पेट के समस्त रोगो से बचाव होता है | इस उपाय को नियम से करते रहने से बालो का झड़ना रुकता है, बाल असमय सफ़ेद नहीं होते है, आँखों की रौशनी बढ़ती है |

dhan logo 100 ग्राम सौंफ को पीस लें फिर इसमें 20 ग्राम पिसा काला नमक और 10 ग्राम पिसी काली मिर्च मिला लें । इस चूर्ण को नित्य रात में सोने से पहले गुनगुने पानी से लें । इससे पेट ठीक रहता है ,कब्ज बिलकुल भी नही होती है ।

dhan logo कब्ज को जड़ से मिटाने के लिए नित्य खाली पेट गाजर खाएं या उसका जूस पियें। गाजर के सेवन से पेट साफ रहता है , गाजर आँतो से खुरच खुरच कर मल को निकाल डालती है । गाजर के सेवन से पेट के सभी रोग जैसे गैस, अपच आदि भी दूर होते है।

Ad space on memory museum


इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।
यहाँ पर आप अपनी समस्याऐं, अपने सुझाव , उपाय भी अवश्य लिखें |
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Reply
No Tips !!!!




Access denied for user ''@'localhost' (using password: NO)