Memory Alexa Hindi

जोड़ों के दर्द का इलाज
Jodo ke dard ka ilaj


jodo-ke-dard-ka-ilaj



जोड़ों का दर्द की दवा
Jodo ka dard ki dawa


यदि यूरिक एसिड बड़ा है तो एक आजमाया हुआ चमत्कारी उपाय करें | किसी आयुर्वेदिक स्टोर या पंसारी की दुकान से )चोबचीनी का चूर्ण ले आएं फिर इसे आधा चम्मच सुबह खाली पेट और आधा चम्मच रात को सोने के समय पानी से 7-8 दिन तक ले | इस लेने से 7-8 दिन में ही यूरिक एसिड पूरी तरह से ठीक हो जाता है। गठिया, किसी भी जोड़ो के दर्द में बहुत अधिक आराम मिलता है |
जिन्हे गठिया की निरंतर समस्या चली आ रही हो वह इस प्रयोग को तीन चार महीने तक हर माह दोहराते रहे। इसके बाद यूरिक एसिड की, गठिया की समस्या कभी पास भी नहीं आएगी।

घुटने का दर्द, कंधे का दर्द हो या कमर दर्द हो किसी भी तरह के दर्द में गेंहू के दाने के बराबर चूने को अनार के रस या पानी में मिलाकर दिन में दो बार पी लीजिए।
इससे सभी तरह के दर्द में अति शीघ्र आराम मिलता है । लेकिन जिन्हे पथरी की शिकायत हो वह ये ना लें।

जोड़ो के दर्द से बचने के लिए ताम्बे के बर्तन में पानी पिए | शोध में यह पाया गया है कि जो लोग ताम्बे के बर्तन में पानी पीते है उन्हें गठिया , जोड़ो के दर्द की सम्भावना बहुत कम होती है , और जिन्हे है उन्हें ताम्बे के बर्तन में पानी पीने से बहुत आराम मिलता है। प्रात: खाली पेट एक लहसन कली, दही के साथ दो महीने तक लगातार लेने से जोड़ो के दर्द ( jodo ke dard ) में आशातीत लाभ प्राप्त होता है।

250 ग्राम दूध एवं उतने ही पानी में दो लहसुन की कलियाँ, 1-1 चम्मच सोंठ और हरड़ तथा 1-1 दालचीनी और छोटी इलायची डालकर उसे अच्छी तरह से धीमी आँच में पकायें। पानी जल जाने पर उस दूध को पीयें, गठिया ( gathiya ), घुटने का दर्द , जोड़ो के दर्द ( jodo ke dard ) में शीघ्र लाभ प्राप्त होगा ।

संतरे के रस में १15 ग्राम कार्ड लिवर आईल मिलाकर सोने से पूर्व लेने से जोड़ो के दर्द ( jodo ke dard ) में बहुत लाभ मिलता है।

अमरूद की 4-5 नई कोमल पत्तियों को पीसकर उसमें थोड़ा सा काला नमक मिलाकर रोजाना खाने से से जोड़ो के दर्द में काफी राहत मिलती है।

काली मिर्च को तिल के तेल में जलने तक गर्म करें। उसके बाद ठंडा होने पर उस तेल को मांसपेशियों पर लगाएं, जोड़ो का दर्द ( jodo ka dard ) दूर होता है ।

दो तीन दिन के अंतर से खाली पेट अरण्डी का 10 ग्राम तेल पियें। इस दौरान चाय-कॉफी कुछ भी न लें जोड़ो के दर्द ( jodo ke dard ) , गठिया में जल्दी ही फायदा होगा।

दर्दवाले स्थान पर अरण्डी का तेल लगाकर, उबाले हुए बेल के पत्तों को गर्म-गर्म बाँधे इससे भी जोड़ो के दर्द (jodo ke dard ) में तुरंत लाभ मिलता है।

गाजर को पीस कर इसमें थोड़ा सा नीम्बू का रस मिलाकर रोजाना सेवन करें । यह जोड़ो के लिगामेंट्स का पोषण कर दर्द से राहत दिलाता है।

हर सिंगार के ताजे 4-5 पत्ती को पानी के साथ पीस ले, इसका सुबह-शाम सेवन करें , घुटने , जोड़ो के दर्द ( jodo ke dard ) में अति शीघ्र स्थाई लाभ प्राप्त होगा ।

गठिया रोगी को अपनी क्षमतानुसार हल्का व्यायाम अवश्य ही करना चाहिए क्योंकि इनके लिये अधिक परिश्रम करना या अधिक बैठे रहना दोनों ही नुकसान दायक हैं।

100 ग्राम लहसुन की कलियां लें।इसे सैंधा नमक,जीरा,हींग,पीपल,काली मिर्च व सौंठ 5-5 ग्राम के साथ पीस कर मिला लें। फिर इसे अरंड के तेल में भून कर शीशी में भर लें। इसे एक चम्मच पानी के साथ दिन में दो बार लेने से गठिया के दर्द , ( gathiya ke dard ) जोड़ो के दर्द ( jodo ke dard ) में आशातीत लाभ होता है।


Ad space on memory museum


इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।