Memory Alexa Hindi

jhadu ke upay, झाड़ू के उपाय,

 jhadu ke upay,  झाड़ू के उपाय,

Kalash One Image jhadu ke upay, झाड़ू के उपाय, Kalash One Image


 jhadu ke upay,  झाड़ू के उपाय,




ज्योतिष शास्त्र में झाड़ू को बहुत महत्त्व दिया गया है जी हाँ घरों में इस्तेमाल होने वाली झाड़ू को आर्थिक दृष्टि बहुत महत्वपूर्ण माना गया है।  मान्यता है कि झाड़ू के कारण भी व्यक्ति समृद्धशाली और निर्धन भी बन सकता है। झाड़ू का अगर सही इस्तेमाल ना किया जाय तो दरिद्रता आती है और यदि उसका सही इस्तेमाल क्या जाय तो घर कारोबार में सुख-समृद्धि का वास होता है। 
इसीलिए बहुत से विद्वान झाड़ू को लक्ष्मी और उनकी बहन अलक्ष्मी से भी जोड़ कर देखते है। 

शास्त्रों के अनुसार झाड़ू घर से दरिद्रता रूपी कचरे को साफ करके हमें सुख-संपत्ति प्रदान करती है। शास्त्रों में घर में झाड़ू रखने उसका उपयोग करने के कुछ नियम भी हैं जिनका यदि  पालन किया जाय तो परिवार में प्रेम, सहयोग के साथ साथ देवी लक्ष्मी की सदैव कृपा बनी रहती हैं। 

झाड़ू का धार्मिक महत्व भी माना गया है, रोगों को दूर करने वाली शीतला माता भी अपने एक हाथ में झाड़ू लिए हुए हैं।




 झाड़ू के इन उपायों से चमकेगी किस्मत 

यहाँ पर हम झाड़ू से जुड़ीं कुछ ऐसी जानकारियाँ, मान्यताएँ बता रहे है जो आपके लिए अवश्य ही उपयोगी साबित हो सकती है। जी हाँ झाड़ू के इन उपायों से चमक सकती है आपकी किस्मत । जानिए झाड़ू के उपाय, jhadu ke upay, झाड़ू का महत्त्व, jhadu ka mahtv, 

 मान्यता है कि झाड़ू को सदैव साफ जगह पर रखना चाहिए। और जब झाड़ू का कार्य न हो तब उसे ऐसे स्थान पर रखे, जहाँ पर इस पर लोगों की सीधी दृष्टि न पड़े। 

 झाड़ू को कभी भी घर के ईशान कोण में नहीं रखनी चाहिए अन्यथा देवता नाराज़ होते हैं और घर में दुर्भाग्य का प्रवेश होता है।

 घर में झाड़ू को रखने का सबसे उचित स्थान घर का दक्षिण पश्चिम कोण बताया गया है, यहाँ झाड़ू रखने से धन लाभ, धन में बरकत रहती है, धन का अपव्यय नहीं होता है

 यह भी मान्यता है कि झाड़ू को  शुक्लपक्ष में ना खरीदें,  शुक्लपक्ष में झाड़ू खरीदना दुर्भाग्य का सूचक माना जाता है। 

 झाड़ू को सदैव कृष्णपक्ष में खरीदना ही शुभ माना जाता है।

 झाड़ू को कभी भी सौम्य वारों में ना खरीदें, सौम्य वारों में झाड़ू खरीदने पर आर्थिक संकट आते  है। 

 झाड़ू को हमेशा कड़े वारों में ही खरीदना उचित है। 

शास्त्रों के अनुसार सूर्यास्त के बाद घर में कभी भी झाड़ू नहीं लगानी चाहिए। ऐसा करने से माता लक्ष्मी रूठ जाती हैं। 

अगर कभी बहुत जरुरी होने पर शाम को या सूर्यास्त के बाद झाड़ू लगानी भी पड़े तो झाड़ू से साफ की गयी मिट्टी को कभी भी घर से बाहर नहीं फेंकना चाहिए । इसे घर से बाहर निकालने पर माँ लक्ष्मी घर से बाहर चली जाती है और घर में अलक्ष्मी अर्थात दरिद्रता का प्रवेश होता है।

 घर में झाड़ू अच्छी कंडीशन में ही रखनी चाहिए,  बहुत ज्यादा पुरानी एवं टूटी हुई झाड़ू को घर में न रखें।

 झाड़ू को कभी भी खड़ा नहीं रखना चाहिए। मान्यता है कि इससे देवी लक्ष्मी का अपमान होता है और भाग्य रूठ जाता है। 



 झाड़ू को साफ, अलग जमीन से थोड़ा ऊँची जगह पर रखना चाहिए। 

 झाड़ू को घर में कभी भी ऐसे स्थान पर ना रखें जहां जूते-चप्पल रखे जाते हों। इससे मन लक्ष्मी का निरादर होता है।

 झाड़ू पर जाने-अनजाने भी पैर नहीं लगाना चाहिए, ऐसा होने से देवी महालक्ष्मी का निरादर होता है।

 यदि भूलवश कभी भी झाड़ू को पैर लग जाए तो तुरंत महालक्ष्मी से क्षमा माँग लेनी चाहिए। 

 एक बार और जब भी घर का मुखिया किसी खास काम से घर से बाहर जाये तो उसके जाने के तुरंत बाद घर में कभी भी झाड़ू ना लगाएं। ऐसा करने से कार्यो में विघ्न आ जाता है।

 जब भी किसी नए घर में प्रवेश करें, तो नई झाड़ू लेकर ही घर के अंदर जाएँ पुरानी झाड़ू लेकर बिलकुल भी ना जाएँ।  इससे नए घर में सुख-समृद्धि और शांति बनी रहेगी।

 मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए किसी मंदिर में ब्रह्म मुहूर्त या सूर्योदय से पूर्व गुप्त रूप से तीन झाड़ुओं का दान करें। जिस दिन यह करना हो, तीनो झाड़ू को उसके एक दिन पहले ही खरीद ले। यदि उस दिन कोई शुभ योग, पर्व हो तो इसकी महत्ता और भी बढ़ जाती है। ऐसा वर्ष में दो तीन बार अवश्य ही करें। 







TAGS: jhadu ke upay, झाड़ू के उपाय, jhadu, झाड़ू, jhadu ka mahtv, झाड़ू का महत्व, jhadu ke totke, झाड़ू के टोटके

Published By : MemoryMuseum
Updated On : 2018-08-28 14:14:01




Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।