Memory Alexa Hindi

गृह निर्माण के लिए शुभ मुहूर्त
Grah Nirman Ke Shubh Muhurat

                        

गृह निर्माण के मुहूर्त
Grah Nirman Ke Muhurat



 


किसी भी वस्तु या कार्य को प्रारंभ करने में मुहूर्त देखकर उसे करने से मन को बड़ा सुकून और आत्मविश्वास मिलता है। और जब बात सबसे आवश्यक किसी सुंदर और और सपनो के भवन बनाने की हो तो सर्वप्रथम  'मुहूर्त' Muhurat को ही प्राथमिकता देनी चाहिए। जी हाँ अपना मकान अपना सुन्दर सा घर हर व्यक्ति चाहता है जो उसकी पहचान उसकी सबसे बड़ी आवश्यकता होती है । 
मुहूर्त अर्थात शुभ तिथि, वार, माह व नक्षत्रों में कोई भी भवन बनाना प्रारंभ करने से जातक को शारीरिक, सामाजिक, आर्थिक और मानसिक लाभ प्राप्त होता हैं । मुहूर्त ऐसा शुभ ऐसा उपर्युक्त होना चाहिए ताकि भवन निर्माण में कोई भी रूकावट ना आ सके।

यहाँ पर हम भवन निर्माण के बारे में कुछ अचूक बातो के बारे में बता रहे है जिससे आप सभी को अवश्य ही लाभ प्राप्त होगा । 
जानिए भवन निर्माण के शुभ मुहूर्त, Bhawan Nirman ke shubh Muhuart, गृह निर्माण के लिए शुभ मुहूर्त, Grah Nirman Ke Shubh Muhurat, गृह निर्माण के मुहूर्त, Grah Nirman Ke Muhurat


भवन सम्बन्धी कार्यों की शुरुआत के लिए शुभ माह का चयन करना अति महत्वपूर्ण होता है । भारतीय कैलेण्डर  के अनुसार फाल्गुन, वैसाख एवं सावन के महीने भूमिपूजन, शिलान्यास एवं गृह निर्माण ( Grah Nirman ) हेतु  के लिए सर्वश्रेष्ठ महीने माने गए हैं। इन महीनो में गृह सम्बन्धी किसी भी कार्य की शुरुआत करने से मान सम्मान, धन संपत्ति और निरोगिता की प्राप्ति होती है , घर के सदस्यों के मध्य प्रेम बना रहता है,

जबकि माघ, ज्येष्ठ, भाद्रपद एवं मार्गशीर्ष महीने को मध्यम श्रेणी में रखा गया हैं।

लेकिन  चैत्र, आषाढ़, आश्विन तथा कार्तिक मास उपरोक्त शुभ कार्य की शुरुआत के लिए वर्जित कहे गए है। इन महीनों में गृह निर्माण प्रारंभ करने से धन यश की हानि होती है एवं घर परिवार के सदस्यों की आयु भी कम  होती है।

भवन बनाना शुरू करने से पहले हमें शुभ वार का अवश्य ही चयन करना चाहिए । भवन निर्माण के लिए  सोमवार, बुधवार, बृहस्पतिवार , शुक्रवार तथा  शनिवार सबसे  शुभ दिन माने गए हैं।

लेकिन मंगलवार और रविवार को भवन सम्बन्धी कोई भी कार्य जैसे  भूमिपूजन, गृह निर्माण का प्रारम्भ , गृह का शिलान्यास या गृह प्रवेश को बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। 

भवन सम्बन्धी कार्यों की शुरुआत के लिए शुभ तिथि का चयन करना भी अति आवश्यक होता है । गृह निर्माण हेतु सर्वाधिक शुभ तिथियाँ  द्वितीया, तृतीया, पंचमी, षष्ठी, सप्तमी, दशमी, एकादशी, द्वादशी एवं त्रयोदशी तिथियाँ मानी गयी है ।
इन तिथियाँ में गृह निर्माण करने से किसी भी प्रकार की अड़चने नहीं आती है जबकि अष्टमी तिथि को मध्यम माना गया है।

लेकिन शुक्ल पक्ष एवं कृष्ण पक्ष की तीनों रिक्त तिथियाँ अशुभ होती हैं। ये रिक्ता तिथियाँ  हैं- चतुर्थी, नवमी एवं  चतुर्दशी। इन तीनों तिथियों में गृह निर्माण सम्बन्धी कोई भी कदापि कार्य शुरू नहीं करने चाहिए ।

इसके अतिरिक्त प्रतिपदा, अष्टमी और अमावस्या को भी गृह निर्माण सम्बन्धी कोई भी कार्य शुरू नहीं करना चाहिए अन्यथा इसके अशुभ परिणाम भोगने पड़ सकते है ।


भवन सम्बन्धी कार्यों की शुरुआत के लिए यदि शुभ नक्षत्र का चयन किया जाय तो यह बहुत ही उत्तम साबित होता है । किसी भी शुभ माह के रोहिणी, पुष्य, अश्लेषा, मघा, उत्तरा फाल्गुनी, उत्तराषाढ़ा, उत्तरा भाद्रपदा, स्वाति, हस्तचित्रा, रेवती, शतभिषा, धनिष्ठा सर्वाधिक पवित्र और सभी प्रकार से लाभप्रद नक्षत्र माने जाते हैं। गृह निर्माण अथवा किसी भी तरह के शुभ कार्य की शुरुआत इन नक्षत्रों में करना बहुत हितकर होता है। बाकी अन्य सभी नक्षत्र मध्यम श्रेणी में माने जाते हैं। 

हमारे शास्त्रानुसार (स) अथवा (श) वर्ण से शुरू होने वाले सात अति शुभ लक्षणों में गृह सम्बन्धी कार्यों की शुरुआत करने से ना केवल धन-संपत्ति, ऐश्वर्य, निरोगिता और सद्बुद्धि की ही प्राप्ति होती है वरन घर के सदस्यों में प्रेम एवं आपसी भाईचारा भी हमेशा बना रहता है ।

सात शुभ लक्षणों का योग है, सावन माह, शुक्ल पक्ष, सप्तमी तिथि, शनिवार का दिन, शुभ योग, सिंह लग्न में स्वाति नक्षत्र । इस योग में गृह निर्माण सर्वोत्तम माना गया है। इसमें या भी संभव है कि सावन माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि में शनिवार ना हो  या उस दिन उपरोक्त नक्षत्र ना हो फिर भी इसमें जितने भी योग मिल जाये वह बहुत ही लाभकारी है ।  

किसी भी निर्माण में शिलान्यास सर्वप्रथम अग्नेय दिशा में करना चाहिए फिर उसके बाद प्रदिक्षणा करने के क्रम से निर्माण करना चाहिए अर्थात अग्नेय दिशा के बाद दक्षिण, नैत्रत्य, पश्चिम, वायव्य, उत्तर , ईशान और अंत में पूर्व की तरफ निर्माण को समाप्त करना चाहिए ।

यह अवश्य ही ध्यान रहे कि कभी भी निर्माण की समाप्ति दक्षिण दिशा में नहीं होनी चाहिए अन्यथा भवन स्वामी की स्त्री , पुत्र को गंभीर रोग / अकाल मृत्यु के साथ साथ धन की हानि भी हो सकती है ।

अतः  इससे स्पष्ट है कि गृह निर्माण सम्बन्धी किसी भी कार्य के शुभारंभ में शुभ मुहूर्त पर विचार करके हम अपने घर को निश्चय ही सपनो का घर बना सकते है ।



pandit-ji

पं मुक्ति नारायण पाण्डेय
( कुंडली, ज्योतिष विशेषज्ञ )

Published By : Memory Museum
Updated On : 2019-02-22 04:38:55 PM

Ad space on memory museum


अपने उपाय/ टोटके भी लिखे :-----
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Post
1.
mera d.o.birth 16 .10.1992 ko 6.50 Mauritian time ko houwa tha.bhumi puja aur griha nirmaan ka phalgun Maas me shubh din kripaya bataye
Vachaspati sharma  

2.
Rasi kya hai
Ramu  

3.
Bhumi pujan kb krbaya Jay January m
Bikash  

4.
Dear sir

I want new makaan Nirman of month april

please muhart date
om prakash  

5.
Bhumi Pujan kab karway January mai
Ashok agrawal   

6.
gar ki niv kya rakhna hai
lalsingh chouhan  

7.
19/12/2018ko makan ki niv khudai submurat
Bahadur  

8.
19/12/2018ko makan ki niv khudai submurat
Bahadur  

9.
Bhumi pujan January 2019 me subh muhurt kya hi
Name Satish Kumar sandil gotra
Satish Kumar  

10.
मकान निर्माण
Rampal saini   

11.
niv ka muhat kab hai
rajesh kumar   

12.
आज के समय नीव रखना है गुरु जी
मुकेश   

13.
नीव देना हैं
नारणाराम  

14.
Tejperkashshrimali@gmail.come,
Urmila  

15.
नवम्बर माह में भवन निर्माण की शुभ तिथि बताये ।
मदन लाल मंडावी  

16.
Bhumi pujan muhurt innovation 2018
K b choudhary  

17.
Guruji namsakar 9novembar ko Gopal LAL jat ke name se uttar disa makan Ka subject muhrat h kya bataiye guru ji
Kajod Mal jat  

18.
novambar 2018 me garh nirman ka muhrat batave
devaram   

19.
नवम्बर माह मे भुमि पुजन व नीव खुदाई मुहुर्त 2018 का बताये
शंकरलाल मीणा   

20.
नींव रखी नया मकान के लिए ,
रूपाराम लिलावत फलोदी   

21.
Green Nirman ke liye shubh muhurat Bataye October mein
vimal Kumar Patel   

22.
B
भागीरथराम  

23.
es mah me bhumi pujan ke liye
sonveer singh  

24.
Grah Norman mutt sultan ke man Murat batao guruji
Sultan singh kajla  

25.
Pranam pandit ji,
Mai up dist pratapgarh se beling karta ho, pandit ji mujhe oct, nov or dec ghar nirman karna hai shubg muhurat bataye
Kamlesh kumar patel  

26.
Garh nirman shubh muhurat 15-9-2018ko
Surjeet Kumar  

27.
पश्चिम मुखी प्लाट पर घर का मुख्य दरवाजा यानी चौखट खड़ा करना चाहता हूं शुभ मुहूर्त और लग्न बनाने बताने का कष्ट करें
Om prakash Prasad  

28.
16:2:1980;time6:45am kase Kundli Mein Vidya Yog hai
Vinod sharma  

29.
16:2:1980;time6:45am kase Kundli Mein Vidya Yog hai
Vinod sharma  

30.
Pls provide shubh thithi in September 2018
Rakesh Gera   

1.
जब भी कोई नया भवन बन रहा हो तो उसकी नीवं में चाँदी का कछुवा रख दें। इससे उस घर में रहने वाले बहुत सुखी रहते है निरंतर विकास करते है।
adminmemorymuseum.net  

2.
चैत्र, आषाढ़ ( 21 जून से 20 जुलाई ) , अश्विन और कार्तिक माह गृह निर्माण के लिए शुभ नहीं माने जाते है ।21 जुलाई से सावन माह शुरू होने वाला है जो हर तरह से ग्रह निर्माण के लिए शुभ माना गया है ।
admin memorymuseum.net  

3.
नया घर अथवा दुकान बनवाते समय भवन की नींव भरने के समय उसमें शहद से भरा बर्तन अवश्य ही दबा दें । इससे आजीवन खतरों और आकस्मिक आपदाओं से मुक्त रहते है ।
admin memorymuseum.net  


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।

अब आप भी ज्वाइन करे मेमोरी म्यूजियम

गृह निर्माण के लिए शुभ मुहूर्त

Dhan Prapti ke Upay

जानिए गृह निर्माण के लिए शुभ मुहूर्त जिससे भवन में धन संपत्ति की कभी कोई कमी ना रहे