Memory Alexa Hindi

ग्रह अनुसार रत्नों का प्रभाव



Budh Grah
Om Sign
जिन जातको की कुंडली में बुध ग्रह की महादशा चल रही हो, उन्हें पन्ना रत्न को धारण करने से मिलता है । पन्ना बुध ग्रह का प्रधान रत्न माना जाता है पन्ना समान्यता पांच रंगों में पाया जाता है। मयूर पंख के रंग वाला पन्ना श्रेष्ठ माना जाता है, लेकिन यह पारदर्शी और चमकीला होना चाहिए। पन्ना को बुधवार को धारण करने से श्रेष्ठ लाभ मिलते है। पन्ना बुधवार को 12 बजे से 2 बजे के बीच में दाहिने हाथ की सबसे छोटी उंगली में धारण करना चाहिए । ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कम से कम 6 रत्ती वजन का पन्ना सबसे छोटी उंगली में चाँदी, सोने या प्लेटिनम की अंगूठी में बुधवार को प्रात:काल उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है।





Panna


Brahaspati grah
Om Sign
जिन लोगों की कुंडली में गुरु की महादशा चल रही हो उन लोगों को पुखराज धारण करना चाहिए। पुखराज धारण करने के लिए गुरुवार श्रेष्ठ दिन है। पुखराज को गुरुवार को सुबह 10 बजे से 12 बजे के बीच तर्जनी उंगली यानी इंडेक्स फिंगर में धारण करने से श्रेष्ठ फल मिलते है । ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कम से कम 5 रत्ती के पुखराज को सोने की अंगूठी में तर्जनी अंगुली में पवित्र गुरु-पुष्य योग में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है ।












Pukhraj


Friday grah
Om Sign
जिन लोगों की कुंडली में शुक्र की महादशा चल रही है, उन्हें शुक्रवार के दिन हीरा धारण करना चाहिए। शुक्रवार को सुबह 10 बजे से 12 बजे के बीच हीरा धारण करने का उत्तम समय होता है । हीरे को शुक्रवार को मृगशिरा नक्षत्र में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है। हीरा दाहिने हाथ की मध्यमा उंगली यानी मिडिल फिंगर अथवा अनामिका उँगली यानी रिंग फिंगर में पहनना चाहिए। हीरा धारण करते समय यह ध्यान अवश्य दे कि हीरा कम से कम 2 कैरेट का हो और उसे सोने या प्लेटिनम की अँगूठी में पहने ।










Heera



Shani Grah
Om Sign
जिन जातको की कुंडली में शनि की महादशा चल रही है, उन्हें नीलम धारण करने से लाभ मिलता है । शनिवार का दिन नीलम धारण करने के लिए सबसे अच्छा दिन है। नीलम को शनिवार की शाम 5 बजे से 7 बजे तक मध्यमा उंगली अर्थात मिडिल फिंगर में धारण करना चाहिए । 4 रत्ती के नीलम को मध्यमा अंगुली में शनिवार को श्रवण नक्षत्र में पंचधातु की अंगूठी में धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है।






Neelam


Rahu
Om Sign
जिन जातको की कुंडली में राहु की महादशा चल रही है, उन्हें गोमेद रत्न को धारण करने ले लाभ मिलता है । गोमेद को धारण करने के लिए शनिवार श्रेष्ठ दिन है। गोमेद को शनिवार को मध्यमा उंगली अर्थात मिडिल फिंगर में सूर्यास्त के बाद धारण करना चाहिए। राहु ग्रह के लिए 6 रत्ती के गोमेद को उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में बुधवार या शनिवार को धारण करने से विशेष लाभ होता है । गोमेद को पंचधातु में मध्यमा अंगुली में पहनना लाभदायक होता है।









Gomed


Ketu
Om Sign
जिन लोगों की कुंडली में केतु की महादशा चल रही है, उन्हें लहसुनिया धारण करना चाहिए। लहसुनिया को धारण करने के लिए शनिवार श्रेष्ठ दिन माना जाता है। लहसुनिया को शनिवार को सूर्यास्त के बाद ध्यमा यानि मिडिल फिंगर में धारण करना चाहिए। केतु ग्रह के लिए 6 रत्ती के लहसुनिया को गुरु पुष्य योग में गुरुवार के दिन सूर्योदय से पूर्व धारण करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है। इसे पंचधातु में मध्यमा अंगुली में पहनना लाभदायक होता है।
Carnelian







Ad space on memory museum



दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।