Memory Alexa Hindi

गठिया की दवा , गठिया रोग का इलाज


रक्षाबन्धन

*जेतुन के तैल से मालिश करने से भी गठिया में बहुत लाभ मिलता है।

*सौंठ का एक चम्मच पावडर का नित्य सेवन गठिया की अचूक दवा है ।

*गठिया रोग में हरी साग सब्जी का इस्तेमाल बेहद फ़ायदेमंद रहता है। पत्तेदार सब्जियो का रस भी बहुत लाभदायक रहता है।

*गठिया के उपचार में भी जामुन बहुत उपयोगी है। इसकी छाल को खूब उबालकर इसका लेप घुटनों पर लगाने से गठिया रोग का इलाज होता है ।

* अर्थराइटिस / जोड़ो के दर्द में में गेहूं के दाने के बराबर चूना नित्य सुबह खाली पेट एक कप दही मे / दाल मे या पानी मे मिलाकर तीन महीने तक लगातार सेवन करना है इससे कैसी भी आर्थराइटिस , गठिया का रोग हो वह ठीक हो जाता है, यह गठिया रोग का अचूक इलाज है लेकिन जिन लोगो को पथरी की शिकायत है वह इसे ना करें ।

* हरसिंगार / पारिजात के पेड़ पर छोटे छोटे सफ़ेद फूल आते है उस फुल की डंडी नारंगी रंग की होती है, रात को फूल खिलते है और सुबह जमीन में गिर जाते है । इस पेड़ के छह सात पत्ते तोड़ के सिल्वबट्टे में पिस के चटनी बनाइये फिर इसे एक ग्लास पानी में इतना गरम करे के पानी आधा हो जाये इसको ठंडा करके रोज सुबह खाली पेट पिलाना है ।
यह पुराने से पुराना पुराना गठिया , आर्थराइटिस , घुटने का दर्द , जोड़ो का दर्द हो उन सबके लिए रामबाण है । इसे लगातार तीन महीने तक देना है और हर रोज ताजा बनाके पीना है । पानी में यह दवा हमेशा बैठ के पीनी चाहिए। इससे आर्थराइटिस या जोड़ो का दर्द बिलकुल ठीक हो जाता है ।

* प्रतिदिन सुबह और शाम खाली पेट आधा कप बथुआ के ताजा पत्तो का रस पीने से गठिया दूर होता है। इस रस में बिलकुल कुछ भी न मिलाएं और इसको लेने के दो घंटे तक कुछ भी ना लें । इसे दो माह तक लगातार लें ।
इसके अतिरिक्त आटा गूंधते समय उसमे बथुआ के पत्ते भी महीन महीन काट कर मिलाएं । इससे गठिया, जोड़ो का दर्द, कमर-दर्द, वा कमजोरी अति शीघ्र दूर होती है , यह गठिया का अचूक इलाज है ।

* जोड़ों के दर्द में नित्य 100 - 100 ग्राम अदरक दिन में दो बार लेने से दर्द में बहुत राहत मिलती है। आप अदरक का सेवन सब्जी, सूप आदि चीजों में मिलाकर भी कर सकते हैं।
इसके अतिरिक्त जोड़ों के दर्द में जोड़ो पर सुबह शाम नीबू के रस की मालिश करने से एवं नित्य सुबह एक गिलास पानी में एक नीबू का रस निचोड़ कर पीते रहने से जोड़ों का दर्द एवं सूजन दूर हो जाती है।

* अश्वगंधा,शतावरी एवं आमलकी का चूर्ण ( यह सब बाजार में आसानी से उपलब्ध है ) को अच्छे से मिलकार सुबह-सुबह पानी के साथ लेने से जोड़ों का दर्द में बहुत ज्यादा आराम मिलता है और जोड़ो में मजबूती भी आती है।

* लगातार एक माह तक रात को 15 20 अखरोट की गिरी भिगो कर सुबह खाली पेट खाने से घुटनो / जोड़ो के दर्द में आशातीत रूप से लाभ मिलता है । इसका दो माह तक सेवन करने से गठिया जड़ से चला जाता है ।



Ad space on memory museum


इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।