Memory Alexa Hindi

श्री गणेश जी के बारे में जानकारी / गणपति जी के रहस्य


गणेश जी

गणेश जी Ganesh Ji का एक दाँत ही है जो कि एकाग्रचित होने को दर्शाता है इसलिए गणेश जी Ganesh Ji को एकदंत भी कहा जाता है। इसके पीछे एक कथा है। माना जाता है कि एक बार परशुरामजी जी भगवान शिव Bhagwaan Shiv के दर्शन के लिए कैलाश पर्वत पर गए। उस समय भगवान भोले नाथ ध्यानमग्न थे अतः गणेश जी Ganesh Ji ने परशुरामजी को अंदर जाने से रोक दिया।

तब क्रोधित हो कर परशुराम जी ने गणेश जी Ganesh Ji पर अपने फरसे से वार कर दिया। वह फरसा परशुराम जी को भगवान शिव ने ही दिया था, इसलिए उसका सम्मान रखने के लिए गणेश जी ने उस फरसे का वार अपने दांत पर झेल लिया, जिसके फलस्वरूप उनका एक दाँत टूट गया और वह एकदन्त कहलाये।

गणेश जी Ganesh Ji चूहे की सवारी करते है । चूहा इस बात का प्रतीक है कि जो बंधन, जिस अज्ञानता में हम घिरे है, चूहा उसे कुतर कर, एक-एक परत को काट कर समाप्त कर देता है। चूहा हमें उस परम ज्ञान की ओर ले जाता है जिसका प्रतिनिधित्व गणेश करते हैं।

शास्त्रो में कई स्थानों में गणेश जी Ganesh Ji का वाहन सिंह,मयूर, मूषक और घोड़ा को बताया गया है ।

Kalash One Image सतयुग में भगवान गणेशजी का वाहन सिंह है और उनकी भुजाएं 10 हैं तथा इनका नाम विनायक है ।

Kalash One Image त्रेतायुग में भगवान विघ्नहर्ता का वाहन मयूर है, उनकी भुजाएं 6 हैं और रंग श्वेत कहा गया है इसीलिए इन्हें मयूरेश्वर के नाम से बुलाया गया है ।

Kalash One Image द्वापरयुग में श्री गजानन का वाहन मूषक है, उनकी भुजाएं 4 एवं रंग लाल हैं। इस लिए इस युग में गणेश जी Ganesh Ji गजानन नाम से प्रसिद्ध हैं ।

Kalash One Image कलियुग में गणपति जी Ganpati Ji का वाहन घोड़ा है, इनकी 2 भुजाएं और वर्ण धूम्रवर्ण है। इसीलिए कलयुग में उनका नाम धूम्रकेतु भी है।

Kalash One Image गणपति जी को रोली का तिलक लगाना चाहिए ।

Kalash One Image गणपति जी को लाल रंग के फूल अत्यंत प्रिय है ।

Kalash One Image भगवान गजानन दूर्वा और शमी पत्र चढ़ाने से अत्यन्त प्रसन्न होते है ।

Kalash One Image गणपति जी को बेसन के और मोदक के लड्डू बहुत ही पसंद हैं।

Kalash One Image 'ॐ गं गणपतये नम:" मन्त्र का जाप करने से गणपति जी अपने भक्तो पर शीघ्र ही कृपालु होते है।


Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।