Memory Alexa Hindi

दीपावली कैसे मनाएं

Diwali Kaise Manaye

diwali-kaise-manaye

Diwali Diye दिवाली Diwali Diye
Diwali Diye Diwali Diwali Diye


diwali-kaise-manaye


Diwali Diye दिवाली कैसे मनाएं Diwali Diye
Diwali Diye Diwali kaise manayen Diwali Diye


माता लक्ष्मी का दूसरा नाम कमला है । यह कमल के आसन पर हाथ में कमल को धारण किये हुए विराजमान है। लक्ष्मी जी दीपावली के दिन समुद्र मंथन से प्रकट हुई थी । \ माता लक्ष्मी भगवान विष्णु की हर्दय प्रिया है , दीपावली dipavali के दिन इनका पूजन , धन समृद्धि एवं सौभाग्य की प्राप्ति के लिए किया जाता है,
जानिए दिवाली, Diwali,दिवाली कैसे मनाएं, Diwali kaise manayen ।

Kalash One Image इस दिन घर एवं व्यापारिक प्रतिष्टान के मुख्य द्वार के दोनों ओर दीवार पर शुभ - लाभ , स्वास्तिक , ॐ , आदि सौभाग्य चिन्हों को सिंदूर से अंकित करें तत्पश्चात उस पर पुष्प रोली चड़ाकर प्रार्थना करनी चाहिए ।

Kalash One Image दिवाली divali पूजन का पूजन भर के पूजा कक्ष में अथवा तिजोरी रखने वाले कक्ष में करना उत्तम होता है ।

Kalash One Image माँ लक्ष्मी विष्णु प्रिया है । दीपावली dipavali के पूजन के समय लक्ष्मी गणेश के साथ विष्णु जी की स्थापना करना अनिवार्य है । ध्यान रहे लक्ष्मी जी की दाहिने ओर विष्णु जी और बाएं ओर गणेश जी को रखना चाहिए ।

Kalash One Image दिवाली diwali पूजन के समय घर की महिलाएं माँ लक्ष्मी की किसी पुरानी तस्वीर पर अपने हाथ से सम्पूर्ण सुहाग की सामग्री अर्पित करें । अगले दिन स्नान के बाद पूजा करके उस सामग्री को माँ लक्ष्मी का प्रसाद मानकर खुद प्रयोग करें तथा माँ लक्ष्मी से अपने घर में स्थायी रूप से रहने की प्रार्थना करें , केवल इतना मात्र करने से ही उस घर में माँ की कृपा हमेशा बनी रहती है ।

Kalash One Image यह कोशिश करें की पूजन में माँ लक्ष्मी को घर में बनी खीर का भोग लगायें बाजार की मिठाई का नहीं ।

Kalash One Image शाम को दीवाली diwali के पूजन से पहले आप किसी भी गरीब सुहागिन स्त्री को अपनी पत्नी के द्वारा सुहाग सामग्री अवश्य दिलवाएं , सामग्री में इत्र अवश्य हो ।

Kalash One Image सांयकाल लक्ष्मी पूजन laxmi poojan के मुहर्त के समय गृहस्वामी को अपने पूरे परिवार के साथ स्नान आदि करके पीले वस्त्र धारण करके पूजा के कमरे में प्रवेश करना चाहिए , प्रवेश करते समय माँ लक्ष्मी , भगवान गणेश , कुबेर जी , इंद्र जी , माता सरस्वती का ध्यान करना चाहिए । प्रवेश करने से पूर्व तीन बार ताली बजानी चाहिए ।

Kalash One Image लक्ष्मी गणेश laxmi ganesh का चित्र / मूर्ति , कुबेर जी का चित्र , स्फुटिक श्री यंत्र और जिन भी यंत्रों की पूजा करनी हो उन्हें जल से पवित्र करके लाल वस्त्र से आच्छादित चैकी पर स्थापित करें ।

Kalash One Image पूजन सामग्री को निम्नलिखित तरीके से रखना अति उत्तम होता है ।

Kalash One Image बायीं ओर: --- जल से भरा पात्र , घंटी , धूप , तेल का दीपक आदि ।

Kalash One Image दायीं ओर: --- घी का दीपक , जल से भरा हुआ दक्षिणवर्ती शंख ।

Kalash One Image सामने : --- चन्दन, मौली , रोली , पुष्प (अगर कमल का फूल भी हो तो ओर भी उत्तम है ) नैवेद्ध, खील बताशे , मिष्टान ।

Kalash One Image चौकी पर थोड़े से चावल का ढेर बनाकर उस पर एक सुपारी को मोली से लपेटकर रख दें फिर भगवान गणेश Bhagwan Ganesh जी का आह्वान करना चाहिए ।

Kalash One Image दक्षिण वर्ती शंख को अक्षत डालकर उसपर स्थापित करना चाहिए,फिर दूर्वा,तुलसी एवं पुष्प की पंखुड़ी दल कर उसे जल से भर देना चाहिए ।

Kalash One Image किसी कटोरी में पान के पत्ते के ऊपर नैवेद्ध ( प्रसाद ) रखें उस पर लौंग का जोड़ा अथवा इलायची रखकर तब वह सामग्री माँ लक्ष्मी को अर्पित करनी चाहिए ।

Kalash One Image पूजन pujan के समय माँ लक्ष्मी के सामने अपनी तिजोरी से कुछ सोने चाँदी के सिक्के अथवा कोई भी आभूषण निकाल कर तब पूजन करना चाहिए ।

Kalash One Image दीपावली dipavali के दिन देवों के राजा इंद्र की भी पूजा अवश्य ही करनी चाहिए । Kalash One Image


Kalash One Image दीवाली diwali के दिन बही खाता और तुला आदि की भी पूजा करनी चाहिए ।

Kalash One Imageदीपावली dipavali को दीपमालिका का पूजन करके दीपदान करना चाहिए । सबसे पहले एक थाली में ग्यारह मिटटी के कोरे दीपक धोकर रख लें , फिर उस में बत्ती डालकर उस में तेल भर दें पूजा चैकी के बायीं ओर उस थाली में कुछ मुष्प ओर अक्षत डालकर उसे रख दें , पूजा के समय उन्हें भी प्रज्ज्वलित करके रोली से उनका पूजन करें , खील बताशे आदि उन पर अर्पण करें ।
पूजा के बाद इन दीपकों को घर के मुख द्वार के दोनों ओर , तुलसी जी के समीप , रसोई , पूजास्थल , पेयजल रखने के स्थान पर , घर के आँगन अथवा चैक , घर की छत आदि पर रखकर दीपदान करें , और भी अधिक दीपक लगाने पर उन्हें इन्ही दीपक से जलाएं ।

Kalash One Image कुछ खास बातें । Kalash One Image


Kalash One Image दीपावली के दिन पति-पत्नी सुबह किसी भी विष्णु मंदिर में एक साथ जाकर वहां माता लक्ष्मी को वस्त्र चढ़ाएं, इससे कभी भी घर में धन की कमी नहीं रहेगी।

Kalash One Image पूजा में ताजे एवं सुगन्धित पुष्प ही चडाने चाहिए , पुष्प चडाते समय पुष्प का मुंह ऊपर की ओर होना चाहिए ।

Kalash One Image शंख में जल आचमनी अथवा किसी चम्मच से भरना चाहिए शंख को जल में नहीं डुबोना चाहिए शंख के जल में थोडा सा चन्दन ओर फूल डाल देना चाहिए ,शंख को पृथ्वी पर नहीं रखना चाहिये. शंख से भरे जल में केसर, कर्पूर, चन्दन इत्र आदि डालना चाहिए ।

Kalash One Image ताम्बें के पात्र में दूध , दही अथवा पंचार्मत नहीं रखना चाहिए ।

Kalash One Image यदि कम सामग्री उपलब्ध हो तो हाथ में पुष्प रखते हुए उस वास्तु का नाम लेकर उसे श्रद्धा पूर्वक प्रभु को अर्पित करना चाहिए ।

Kalash One Image दीवाली पर लक्ष्मी पूजन में देवी लक्ष्मी की आरती कपूर और नौ बत्ती के दीपक से करने पर माता लक्ष्मी अवश्य ही कृपा करती है । ( आप नौ मुँह वाला बना बनाया दीपक भी बाजार से लेकर उसमे बत्ती लगाकर आरती कर सकते है ।)

Kalash One Image हल्दी को बहुत शुभ माना जाता है, सभी पवित्र कार्यो में हल्दी का उपयोग होता है। दीपावली की पूजा में पाँच साबुत हल्दी की गाँठे रखकर उनकी भी पूजा करें फिर अगले इन इन्हें अपनी तिजोरी में स्थापित कर दे । इससे आपकी तिजोरी, धन स्थान कभी भी खाली नहीं रहेगा ।

Kalash One Image दीवाली पर माता लक्ष्मी के पूजन मे आरती के समय चाँदी की कटोरी मे कपूर जलाने से सभी प्रकार के संकटों से अवश्य ही मुक्ति मिलती है ।

Kalash One Image दीपावली के दिन इमली के पेड़ की टहनी काटकर उसे धोकर अपने घर कि अपनी तिजोरी या धन रखने के स्थान में रखें इससे धन में वृद्धि होगी और धन टिकेगा।

Kalash One Image दीपावली वाले दिन पीपल के पेड़ की छाया में खड़े होकर चीनी, दूध और घी मिलाकर उसे पीपल की जड़ में डालें , घर हमेशा धन धान्य से भरा रहेगा।

Kalash One Image यदि किसी व्यक्ति के जीवन में कोई आर्थिक संकट हो, तो दीवाली के दिन एक मिट्टी के बर्तन में शहद भर कर उसे ढँककर किसी सुनसान स्थान में गाड़ दें उसके सारे संकट समाप्त हो जायेंगे।

Kalash One Image दीपावली के दिन माता लक्ष्मी को शुद्ध घी में बने हलवे का भोग लगाये और उसका प्रसाद वितरित करें ,उसके बाद यथा सम्भव हर शुक्रवार को यह करें तो माता लक्ष्मी कभी भी आपका साथ नहीं छोड़ेगी ।

Kalash One Image जीवन में हर प्रकार से उन्नति करने के लिए व्यक्ति को चाँदी में निर्मित एवं प्राण प्रतिष्ठित नवरत्न लाकेट दीपावली के दिन माँ लक्ष्मी कि पूजा के बाद धारण करना चाहिए । इससे जातक को माँ लक्ष्मी और भगवान गणेश कि कृपा से सभी दिशाओं से सुख समृद्धि और सफलता कि प्राप्ति होती है । यह लाकेट आप धनतेरस से दीवाली किसी भी दिन खरीद सकते है ।

Kalash One Image अगर कोई व्यक्ति दीपावली के दिन किसी भी विष्णु मंदिर में ऊंचाई पर पीली त्रिकोण आकृति कि पताका इस प्रकार लगा दे कि वह लगातार लहराती रहे तो उसका भाग्य शीघ्र चमक जाता है । यह ध्यान रहे कि झंडा हमेशा लगा रहे अगर वह कट फट जाये या उसका रंग ख़राब हो जाये तो उसको तुरंत बदलवा दें।

Kalash One Image दीपावली की रात में चांदी की ढक्कन वाली डिबिया में नाग केसर व शहद भर कर उसे पूजा स्थान में रखे तथा पूजा के उपरांत उसे अपनी तिजोरी में लाल कपड़े बिछा कर स्थापित कर दें। उसे अगली दिवाली तक ऐसे ही रहने दें। फिर रोज़ वहाँ पर धूप अगरबत्ती दिखाएँ और श्री सूक्त का पाठ करें। तो सारे साल धन लाभ होता है।

Kalash One Image दीपावली कि रात्रि को माँ लक्ष्मी कि पूजा के समय ग्यारह सफ़ेद गुंजा को भी पूजा स्थल में रखे। दूसरे दिन सुबह स्नान के बाद श्रद्धा पूर्वक इन्हे अपनी तिजोरी/धन स्थान में किसी चाँदी कि डिबिया/ चाँदी कि कटोरी में अथवा लाल कपड़े में बांधकर स्थापित कर दें । ऐसा करने से घर में अटूट लक्ष्मी का निवास होता है ।

Kalash One Image दीपावली के दिन घर का मुखिया पूजा के बाद घर के सभी सदस्यों को कुछ न कुछ उपहार अवश्य दे ।


bipin-panday-ji

डा० उमाशंकर मिश्र ( आचार्य जी )
हस्तरेखा, कुण्डली, ज्योतिष, रत्न,
यन्त्र एवं वास्तु विशेषज्ञ       



Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।