Memory Alexa Hindi
loading...

dhan ka vastu, धन का वास्तु, sukh ka vastu, सुख का वास्तु,

dhan ka vastu,

Kalash One Imagedhan ka vastu, धन का वास्तु, sukh ka vastu, सुख का वास्तु, Kalash One Image


dhan ka vastu,


 sukh ka vastu, सुख का वास्तु, 



इस संसार में प्रत्येक मनुष्य को सुख-समृद्धि, धन की चाह होती है,  इसके लिए वह जीवन भर जतन करता है। हिन्दू शास्त्रों में वास्तु शास्त्र का बहुत महत्व है। वास्तु शास्त्र के नियम बहुत ही उपयोगी है। वास्तु शास्त्र में कई ऐसे उपाय बताये गए है जिनसे घर में धन की कोई भी कमी नहीं रहती है। जानिए क्या है ( dhan ka vastu ) धन का वास्तु के उपाय, ( sukh ka vastu ) सुख का वास्तु के उपाय, safalta ka vastu, सफलता का वास्तु, 


 घर की उत्तर व पूर्व दिशाओं मे खुला स्थान अवश्य ही छोड़ा जाना चाहिए।  घर में खिडकियाँ व दरवाजे भी इन्हीं दिशाओं में ज्यादा होना चाहिए इससे घर में लक्ष्मी माँ का स्थाई रूप से वास होता है। 

 घर में सामने की तरफ / पूर्व / ईशान / उत्तर की दिशा में तुलसी का पौधा अवश्य लगाएं एवं नित्य संध्या के समय उसके सामने घी के दीपक जलाएं इससे  समस्त वास्तु दोषों समाप्त हो जाते है।

 घर के मुख्य द्वार पर  शाम के समय में रौशनी अवश्य होनी चाहिए।  भगवान कुबेर के इस समय में मुख्य द्वार पर अन्धेरा रहने से लक्ष्मी जी नाराज़  हो जातीं हैं। 

 पूर्व दिशा में बहुत ज़्यादा सामान रखने से घर में बाधाएं आती हैं। उस दिशा में रखा सामान हटा दें, तुरंत पैसे संबंधी चिंताएं कम होने लगेंगी। 

 घर की रसोई में रात के जूठे बर्तन रखने से व्यापार में हानि होती है।  अत: रात को ही किचन साफ़ कर लें। 

 बेडरूम में पानी कभी भी नहीं रखना चाहिए। अन्यथा व्यक्ति पर हमेशा कर्जा सवार रहता है। 

 बैडरूम में कभी भी खाना भी नहीं खाना चाहिए, इससे आपस में कलह तो रहती ही है आर्थिक संकट भी बना रहता है। 

 घर की दक्षिण की दीवार पर दर्पण नहीं लगाना चाहिए, इससे धन और स्वास्थ्य दोनों की ही हानि होती है। दर्पण पूर्व या उत्तर की दीवार पर लगाना चाहिए ।

  घर में कैश व आभूषण जिस अलमारी में रखते हैं, वह अलमारी भवन की उत्तर दिशा के कमरे में दक्षिण की दीवार से लगाकर रखना चाहिए। इस प्रकार रखने से अलमारी उत्तर दिशा की ओर खुलेगी, उसमें रखे गए पैसे और आभूषण में हमेशा वृद्धि होती रहेगी।  शास्त्रों के अनुसार उत्तर दिशा में भगवान कुबेर का वास है जो कि धन के देवता माने जाते हैं। इसकी बजाय किसी भी दिशा में रख देने से आमदनी घटती-बढ़ती रहती है। 

 घर की तिजोरी के दरवाजे पर बैठी हुई लक्ष्मीजी की तस्वीर जिसमें दो हाथी सूंड उठाए नजर आते हैं, लगाना बड़ा शुभ होता है। 

 घर में कभी भी दक्षिण की दीवार पर मंदिर नहीं बनाना चाहिए।  दक्षिण की दीवार पर मंदिर होने से व्यक्ति को लगातार संघर्ष करना पड़ता है,  उसे सदैव आर्थिक संकट बना ही रहता है।  मंदिर को ईशान / पूर्व या उत्तर दिशा में स्थापित करें। ईशान दिशा सबसे उपर्युक्त मानी गयी है। 

 घर की तिजोरी में बुधवार को पैसा रखने से काफ़ी हद तक धन बढ़ता है और व्यक्ति सही दिशा में ख़र्च भी करता है। 

 तिजोरी में परफ्यूम नहीं रखना चाहिए, इससे धन का नुक़सान होता है। 

 शुक्ल पक्ष के शुक्रवार की रात्रि में 27 हकीक पत्थर लेकर उसके ऊपर लक्ष्मीजी का चित्र या मूर्ति स्थापित करें। इससे निश्चय ही घर में सुख समृद्धि का वास होता है।

 शुक्ल पक्ष के शुक्रवार को कमल गट्टे की माला के ऊपर लक्ष्मीजी का चित्र या मूर्ति स्थापित करें। इससे घर धन-धान्य से भरा रहता है। 

 घर की उत्तर दिशा में सीढ़ियां ना बनवाएं। इससे धन अर्जित करने में बहुत परेशानी होती हैं।

 घर में कभी भी कोई कचरा इकठ्ठा ना होने दें। इसके अलावा घर में रखी वह चीज़ें जो अब काम की नहीं हैं या जिन्हे साल भर से अधिक समय से प्रयोग ना किया हो उन्हें बाहर निकाल दें।




घर के वास्तु दोष को दूर करने के लिए घर के ऊपर छत पर एक मिट्टी के बर्तन में सात अनाज भर कर और दूसरे मिट्टी के बर्तन में पानी भरकर पक्षियों के लिए रखें। इससे घर में प्रेम और सुख समृद्धि की कोई भी कमी नहीं रहती है। 

TAGS: dhan ka vastu, धन का वास्तु, वास्तु शास्त्र, vastu shastr, sukh ka vastu, सुख का वास्तु, safalta ka vastu, सफलता का वास्तु, vastu ke upay वास्तु के उपाय

Published By : MemoryMuseum
Updated On : 2018-12-15 14:10:54




Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।