Memory Alexa Hindi

भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को चंद्र दर्शन के उपाय



चतुर्थी को चंद्र दर्शन के उपाय


शास्त्रों के अनुसार ऐसी मान्यता है कि यदि भूलवश भाद्रपद मास की चतुर्थी को चंद्र-दर्शन Chandra Darshan हो भी जाय तो भी इस प्रसंग को सुनने-सुनाने से चंद्र-दर्शन होने का दोष नहीं लगता ।

यदि गणेश चतुर्थी Ganesh Chaturthi को जाने अनजाने चंद्रमा का दर्शन हो जाएं तो इस मंत्र का जाप अवश्य ही करना चाहिए-

सिंह: प्रसेन मण्वधीत्सिंहो जाम्बवता हत:।
सुकुमार मा रोदीस्तव ह्येष: स्यमन्तक:।।


जो जातक संस्कृत में इस मन्त्र को ना बोल पाये वह इसे हिन्दी में बोलें...

Kalash One Image उपरोक्त मन्त्र के अर्थ है :-
सिंह ने प्रसेन को मारा और सिंह को जाम्बवान ने मारा। हे सुकुमार बालक तू मत रो, यह स्यमन्तक मणि तेरी ही है।


मान्यता है कि इस मंत्र के प्रभाव से कलंक नहीं लगता है। और जो मनुष्य झूठे आरोप-प्रत्यारोप में फंस जाए, वह भी इस मंत्र को पूर्ण श्रद्धा से जापकर सभी लांछनों / आरोपो से शीघ्र ही मुक्त हो जाता है । मनुष्य तो मनुष्य ऋषि मुनि और देवता ने भी इस उपाय को किया है ।

वर्तमान समय में कुछ किद्वंतियों के अनुसार किसी भी चतुर्थी को चन्द्रमा के दर्शन से मिथ्या आरोप लग सकते है, इस पर विद्द्वानो की अलग अलग राय है, लेकिन यह तो सत्य है कि किसी भी तरह के झूठे आरोपों से इस कथा और मन्त्र के माध्यम बचा जा सकता है ।

विघ्नहर्ता भगवान गणपति गणेश जी आप सभी का कल्याण करें ।



Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो, आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।