Memory Alexa Hindi

आज के शुभ, अशुभ मुहूर्त

thursay-ka-panchag

Backword ImageBackword Image बुधवार का मुहूर्त शुक्रवार का मुहूर्त Forward ImageForward Image

आप सभी को सावन माह की हार्दिक शुभकामनाएं।

मुहूर्त, आज के शुभ अशुभ मुहूर्त

Muhurt 2018, Aaj ke Shubh Ashubh Muhurt

बृहस्पतिवार के शुभ अशुभ मुहूर्त


"Guruvar" "Brihaspativar ke Shubh Ashubh Muhurt"



Kalash One Image मुहूर्त 2018, आज का मुहूर्त Kalash One Image
Kalash One Image Muhurat 2018, Aaj ka Muhurat Kalash One Image


Muhurat, प्रत्येक दिन में शुभ अशुभ दोनों ही मुहूर्त ( Muhurat ) आते है । यदि हमें इसके बारे में पूर्व में ही जानकारी मिल जाये, हम शुभ समय का पूरा उपयोग कर लें और अशुभ समय में अपना कोई भी महत्वपूर्ण, नया कार्य शुरू ना करें, उस समय थोड़ी सी सावधानी रखें, तो हमें निश्चित ही अपने कर्मों के सुखद फल प्राप्त होंगे। जो हमारे दैनिक कार्य है या जिन कार्यों के बीच में शुभ अशुभ समय आता है उसकी मान्यता नहीं मानी जाती है,
अपने कार्यो में श्रेष्ठ फलो की प्राप्ति के लिए जानिए आज का मुहूर्त ( Aaj Aa muhurat ), गुरुवार का मुहूर्त ( Guruvar Ka Muhurt ) शुभ अशुभ मुहूर्त ( shubh ashubh muhurat ) ।


Kalash One Imageआज की तिथि (Aaj Ki Tithi ) - आज श्रावण (सावन) माह की शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि, दिन बृहस्पतिवार है ।

Kalash One Image तिथि समय - षष्ठी - रात्रि 01:02 तक तदुपरांत सप्तमी ।

आज सावन माह की शुक्ल पक्ष की षष्टी है। इस तिथि को कीर्ति के नाम से भी जाना जाता है। षष्ठी को नए कार्य, मांगलिक कार्य, किसी भी तरह की खरीदारी करने से शुभ फल मिलते हैं। लेकिन रविवार को पड़ने वाली षष्ठी तिथि में शुभ कार्यों की शुरुआत नहीं करनी चाहिए।

षष्ठी तिथि के स्वामी भगवान शिव के पुत्र स्कंद देव अर्थात् भगवान कार्तिकेय हैं। भगवान कार्तिकेय शक्ति के देवता, देवताओं के सेनापति है । दक्षिण भारत में इन्हे 'मुरूगन स्वामी' के नाम से जाना जाता है। मनुष्य को जीवन में निर्भयता, विजय, प्रतिष्ठा, राज द्वार, मुक़दमे में सफलता आदि सब इनकी कृपा से ही प्राप्त होते है। जीवन में सभी प्रकार के कष्टों और संकटों को दूर करने के लिए षष्टी के दिन भगवान कार्तिकेय के गायत्री मंत्र

"ओम तत्पुरुषाय विधमहे:
महा सैन्या धीमहि
तन्नो स्कन्दा प्रचोद्यात:॥" का जाप अवश्य ही करना चाहिए ।

आज के शुभ मुहूर्त


आज का अभिजित मुहूर्त (शुभ समय) ( auspicious time )

Aaj ka Abhijeet Muhurat ( Shubh Samay ) ( auspicious time )



अभिजित मुहूर्त abhijit muhurat दिन का आठवां मुहूर्त होता है और यह मघ्याह्न ( दोपहर लगभग 12 बजे ) के समय आता है। और इसके 24 मिनट पहले और 24 मिनट बाद में (अर्थात 48 मिनट) इसका प्रारम्भ और अंत माना जाता है।अर्थात 11:36 से 12:24 तक |

आज का गुलीक काल ( Gulik Kaal )(शुभ समय) Forward ImageForward Image

गुरुवार ---- प्रातः 9 से 10.30 बजे तक

चौघड़िया, ( Chaughadiya ) किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत में, कार्यो की सफलता हेतु चौघड़िया को अवश्य ही देखना चाहिए| एक चौघड़ियाँ 1.30 घंटे की होती है, शुभ चौघड़ियां में कार्य करने से समान्यता कार्य सफल होते है |

आज की दिन की शुभ चौघड़िया Forward ImageForward Image

दिन की शुभ चौघड़िया ----- प्रात: काल 6.00 AM To 7.30 PM

दिन की चर चौघड़िया ----- प्रात: काल 10:30 AM To 12:00 PM

दिन की लाभ चौघड़िया ---- मध्यान 12.00 PM To 1.30 PM

दिन की अमृत चौघड़िया ---- अपराह्न 1.30 PM To 3.00 PM

दिन की शुभ चौघड़िया ---- सायं काल 4.30 PM To 6:00 PM


आज की रात्रि की शुभ चौघड़िया Forward ImageForward Image

अमृत चौघड़िया ----- सायं काल 6.00 PM To 7.30 PM

चर चौघड़िया ----- सायं काल 7:30 PM To 9:00 PM

लाभ चौघड़िया ---- मध्य रात्रि 12.00 AM To 1.30 AM

शुभ चौघड़िया ---- मध्य रात्रि 3.00 AM To 4.30 AM

अमृत चौघड़िया ---- प्रात: काल 4.30 AM To 6.00 AM


दक्षिण दिशा ---------घर से सरसो के दाने या जीरा खाकर जाएँ


आज के अशुभ मुहूर्त


विघ्नकारक भद्रा

9 अगस्त 22:45 से अगले दिन सुबह 08:57 तक


राहु काल ( Rahu kaal )
राहु काल में कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए |

आज का राहु काल (अशुभ समय) Forward ImageForward Image

गुरूवार ---- दिन -1.30 से 3.00 तक।

अशुभ चौघड़िया ( aashubh chaughadiya )
अशुभ चौघड़ियाँ में शुभ कार्य टालना ही बुद्धिमानी है|

आज की दिन की अशुभ चौघड़िया ( AShubh Chaughadiya ) Forward ImageForward Image

दिन की रोग चौघड़िया ----- प्रात: काल 7.30 AM 9.00 AM

दिन की उद्बेग चौघड़िया ---- प्रात: काल 9.00 AM 10.30 AM

दिन की काल चौघड़िया ---- अपराह्न 3.00 PM 4.30 PM

आज की रात्रि की अशुभ चौघड़िया Forward ImageForward Image

रात्रि की रोग चौघड़िया ----- रात्रि 9.00 PM 10.30 PM

रात्रि की काल चौघड़िया ---- मध्य रात्रि 10.30 PM 12.00 AM

रात्रि की उद्बेग चौघड़िया ---- मध्य रात्रि 1.30 AM 3.00 AM


Kalash One Image सावन माह में साग खाना मना है। इस मौसम में वर्षा बहुत होती है और बहुत से कीड़े, कीट, पतंगे इन साग पत्तो पर रहते है, प्रजनन करते है, इसीलिए इस माह में साग खाना वर्जित माना जाता है।

Kalash One Image सावन के महीने में दूध नहीं पीना चाहिए। इस मौसम में दूध पीने से गैस और पेट की बीमारियाँ होने कि संभावना ज्यादा बढ़ जाती हैं। इसलिए सावन में कच्चा दूध भोलेनाथ को अर्पित किया जाता है।

Kalash One Image सावन में बैंगन की सब्जी खाने भी मना है। शास्त्रों में बैंगन की सब्ज़ी को अशुद्ध माना जाता है। वैसे भी सावन में बैंगन में कीड़े ज्यादा लगते हैं। और इसके अलावा डाइजेशन कमज़ोर होने से बैंगन से गैस ज्यादा बनने कि संभावना होती हैं।

pandit-ji

पं मुक्ति नारायण पाण्डेय
( कुंडली, ज्योतिष विशेषज्ञ )

Ad space on memory museum


Published By : Memory Museum
Updated On : 2018-08-06 18:17:00 PM

तो देखा आपने ईश्वर पर पूर्ण श्रद्धा और विश्वास रखते हुए बस अपने कार्यों को बतलाये गए समय के हिसाब से करने कि कोशिश करें आपको अवश्य ही अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे ।


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो, आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।

आज के शुभ, अशुभ मुहूर्त

thursay-ka-panchag thursay-ka-panchag

दोस्तों क्या आप जानते है कि यदि आपको प्रतिदिन के शुभ अशुभ समय का पूर्व में ही पता लग जाये तो आपके कितने काम आसानी से बन सकते है … अगर नहीं जानते है तो अवश्य ही विजिट करें