Free Astro, Vastu & Health-Tips

भगवान सत्यनारायण जी की कथा
भगवान सत्यनारायण जी की कथा
कलयुग में भगवान सत्यनारायण जी की कथा अत्यंत फलदाई है। विशेषकर पूर्णिमा के दिन भगवान सत्यनारायण की कथा सुनने, उनकी नारियल, तुलसी, आँवला, पीले पुष्पों से पूजा करने से कोई भी संकट निकट भी नहीं आता है, इस संसार में सभी सुखो की प्राप्ति होती है, पितृ प्रसन्न होते है। पूर्णिमा के दिन अवश्य ही पढ़ें / सुने एवं सुनाएँ भगवान सत्यनारायण जी की कथा
https://www.memorymuseum.net/hindi/satyanarayan-ki-vrat-katha.html
गुरु ग्रह को अनुकूल करने के उपाय,
गुरु ग्रह को अनुकूल करने के उपाय,
बृहस्पति ग्रह जब कुंडली में उच्च के हो, तो व्यक्ति को जीवन में सुख समृद्धि, मान सम्मान, पारिवारिक सुख, प्रसिद्धि, ज्ञान, आरोग्य की प्राप्ति होती है। जानिए गुरु ग्रह को अपने अनुकूल करने के उपाय, गुरुवार को अवश्य देखें बृहस्पति देव का यंत्र,
http://www.memorymuseum.net/hindi/guru-grah-ke-upay.php
हनुमान जयंती
हनुमान जयंती
19 अप्रैल शुक्रवार को चैत्र पूर्णिमा के दिन हनुमान जयंती अर्थात हनुमान जन्मोत्सव है। माना जाता है की इसी दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था। प्रसिद्द नीम करौली के हनुमान सेतु मंदिर के आचार्य डाक्टर उमाशंकर जी से जानिए कैसे हुआ हनुमान जी का जन्म, हनुमान जी के कितने भाई है, इनका नाम हनुमान कैसे पड़ा,
http://www.memorymuseum.net/hindi/hanuman-jayanti.php
गुरुवार का पंचांग
गुरुवार का पंचांग
"ॐ नमो भगवते वासुदेवाये"।। आज चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि दिन गुरुवार है। गुरुवार को भगवान श्री विष्णु जी दूध / पंचामृत से अभिषेक करके तुलसी, पीले फूल, से पूजा करने से माँ लक्ष्मी उस घर में स्थाई निवास करती है। चतुर्दशी के दिन भगवान शिव की आराधना से आरोग्य, दीर्घायु की प्राप्ति होती है। सदैव देवताओं के आशीर्वाद के लिए नित्य पढ़े पंचांग, जानिए गुरुवार का पंचांग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Thursday
सूक्त का पाठ
सूक्त का पाठ
"श्री सूक्त" का पाठ यश, सुख-समृद्धि ऐश्वर्य प्राप्ति का अचूक उपाय है। नवरात्री से शुरू करते हुए नित्य इसके पाठ से ना केवल इस जन्म में वरन आने वाले जन्मो में भी सुख-समृद्धि, अतुल ऐश्वर्य की प्राप्त होती है। करें श्री सूक्त का पाठ हिंदी में बस 5 मिनट में ,
https://www.memorymuseum.net/hindi/shri-sukt-ka-path.php
शुक्रवार का पंचांग
शुक्रवार का पंचांग
आज चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि दिन शुक्रवार है। नवरात्रि के शुक्रवार से शुरू करते हुए नित्य "श्री सूक्त एवं मां दुर्गा के 32 नामो का पाठ" करने से ऐश्वर्य मिलता है, बल और आत्मविश्वास की प्राप्ति होती है। आज "माँ कालरात्रि को गुड़ का भोग चढ़ाने व दान" करने से शोक एवं सभी पापों से मुक्ति मिलती है, सभी प्रकार के संकट दूर होते है। शुक्रवार का पंचांग पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें,
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday
गुरुवार का पंचांग
गुरुवार का पंचांग
"ॐ नमो नारायण, ॐ नमो नारायण"।। आज चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की षष्टी तिथि दिन गुरुवार है। गुरुवार को सृष्टि के पालनहार भगवान श्री विष्णु की पीले पुष्पों से पूजा करने से सांसारिक सुखो की प्राप्ति होती है। आचार्य मुक्ति नारायण जी के अनुसार षष्ठी तिथि को भगवान कार्तिकेय की पूजा करने से व्यक्ति वीर, शक्ति सम्पन्न एवं यशवान बनता है। नवरात्रि के 6ठें दिन योग्य जीवनसाथी, सफल दाम्पत्य जीवन के लिए मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। जानिए आज गुरुवार का पंचांग,
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Thursday
बुधवार का पंचांग
बुधवार का पंचांग
आज चैत्र माह का पाँचवा नवरात्र, दिन बुधवार है। बुधवार के दिन भगवान गणेश की आराधना करने से समस्त विघ्न, संकट दूर रहते है, श्रेष्ठ सफलता मिलती है। नवरात्री के 5वें दिन है मां स्कंदमाता की पूजा की जाती है, मां के आशीर्वाद से भक्तों के सभी मनोरथ सिद्ध होते है। पंचमी के स्वामी नाग देवता है, पंचमी को शिवलिंग पर दूध चढ़ाने, नागो के नामो का उच्चारण करने से काल सर्पदोष के दुष्प्रभाव में कमी आती है, बल और आत्मविश्वास मिलता है। जानिए आज बुधवार का पंचांग,
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
नवरात्री के उपाय
नवरात्री के उपाय
नवरात्री में पड़ने वाले बुधवार से मां दुर्गा के साथ साथ गणपति जी को प्रसन्न करने के लिए अवश्य ही करें ये उपाय, गणपति जी की कृपा से पूरे वर्ष कार्यों से विघ्न रहेंगे दूर, पूरी होंगी सभी मनोकामनाएं। जानिए नवरात्री के उपाय,
https://www.memorymuseum.net/hindi/navratri-ke-upay.php
नवरात्री के अचूक प्रयोग
नवरात्री के अचूक प्रयोग
नवरात्री में मंगलवार को हनुमान जी को ऐसे करें प्रसन्न, बजरंग बलि की कृपा से कार्य होंगे सफल, समस्त संकटों से मिलेगा छुटकारा, जानिए समस्त मनोकामनाएं पूर्ण करने वाले नवरात्री के अचूक प्रयोग,
https://www.memorymuseum.net/hindi/navratri-ke-achuk-prayog.php
मंगलवार का पंचांग
मंगलवार का पंचांग
आज चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि दिन मंगलवार है। आज नवरात्री के मंगलवार को मंदिर में हनुमान जी को घी में पीला सिंदूर मिलाकर चोला चढ़ाकर, लाल पेड़े का भोग लगाकर राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करें। माह की दोनों चतुर्थी तिथि को गणेश जी को घी, गुड़ का भोग लगाकर गाय को खिलाने से आर्थिक पक्ष मजबूत होता है। नवरात्री के चौथे दिन माँ कुष्मांडा की पूजा की जाती है। अवश्य पढ़ें मंगलवार का पंचांग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday
सोमवार का पंचाग
सोमवार का पंचाग
"ॐ नम: शिवाय"।। आज चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि दिन सोमवार है। हर सोमवार को शिवलिंग पर, शहद, दूध, अक्षत एवं काले तिल चढ़ाने से भगवान महादेव की कृपा बनी रहती है। आचार्य मुक्तिनारायण पाण्डेय जी के अनुसार नवरात्री के तीसरे दिन माँ कुष्मांडा की पूजा की जाती है। तृतीय नवरात्री के दिन माँ गौरी और कुबेर जी की आराधना से पारिवारिक सुख औरअतुल धन-सम्पत्ति की प्राप्ति होती है। तृतीया को परवल खाने से शत्रुओं की वृद्धि होती है। नित्य पंचांग को पढ़ने से भाग्य साथ देने लगता है, सोमवार के पंचाग के लिए क्लिक करे
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Monday
धन प्राप्ति का अचूक उपाय
धन प्राप्ति का अचूक उपाय
धन प्राप्ति के लिए शुक्ल पक्ष के सोमवार ( आज नवरात्री के सोमवार ) से लगातार 11 सोमवार तक करें ये उपाय, इससे आत्मविश्वास की होती प्राप्ति, कार्यो में मिलेगी सफलता,धन की कोई भी नहीं रहेगी जानिए धन प्राप्ति का अचूक उपाय
https://www.memorymuseum.net/hindi/dhan-prapti-ke-upay.php
नवरात्री में माँ के प्रत्येक दिन के भोगनवरात्री में माँ के प्रत्येक दिन के भोग
नवरात्री में माँ के प्रत्येक दिन के भोगनवरात्री में माँ के प्रत्येक दिन के भोग
नवरात्री के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी को लगाए इस चीज़ का भोग। इससे माँ ब्रह्मचारिणी अपने भक्तो की समस्त संकटो से रक्षा करते हुए, उन्हें दीर्घ आयु प्रदान करती है,भक्तो की सभी मनोकामनाएं अवश्य ही पूर्ण होती है। जानिए नवरात्री में माँ के प्रत्येक दिन के भोग
https://www.memorymuseum.net/hindi/navratri-durga-poojan.php
रविवार का पंचाग
रविवार का पंचाग
"ऊँ हृां हृीं सः सूर्याय नमः"।। आज चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की दिव्तीया तिथि दिन रविवार है। रविवार को भगवान सूर्य को प्रात: ताम्बे के बर्तन में जल में लाल चन्दन, गुड़, और लाल पुष्प डाल कर अर्घ्य देने, एवं आदित्यहृदयस्तोत्रम्‌ का पाठ करने से सुख-समृद्धि, तेज और यश की प्राप्ति होती है। आज नवरात्री के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है। देवी ब्रह्मचारिणी के दाहिने हाथ में अक्ष माला एवं बायें हाथ में कमण्डल है। दिव्तीया को ब्रह्मा जी का स्मरण करने से समस्त कार्य सफल होते है। रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करने से पापो का नाश होता है,पुण्य बढ़ते है। जानिए क्या है रविवार का पंचाग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday
बुद्ध ग्रह से शुभ फल प्राप्त करने के उपाय
बुद्ध ग्रह से शुभ फल प्राप्त करने के उपाय
कुंडली में बुध ग्रह शुभ हो तो धन, वैभव, सुख-समृद्धि, ज्ञान, बुद्धि, वाकपटुता की क्षमता प्राप्त होती है। कार्यक्षेत्र में निरंतर श्रेष्ठ सफलता मिलती है। जानिए बुद्ध ग्रह से शुभ फल प्राप्त करने के उपाय, अवश्य देखें बुध ग्रह का यंत्र
https://www.memorymuseum.net/hindi/budh-grah-ke-upay.php
बुधवार का पंचांग
बुधवार का पंचांग
आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की त्रियोदशी तिथि दिन बुधवार है। बुधवार के दिन गणेश जी की आराधना से समस्त विघ्न दूर होते है। त्रियोदशी को प्रेम के देवता कामदेव का स्मरण करने से जातक रूपवान होता है, दाम्पत्य जीवन सुखमय होता है। शुभ फलो के लिए, नित्य पंचाग पढ़ना अपनी अनिवार्य आदत बनाएं। क्लिक करके अवश्य पढ़ें बुधवार का पंचांग,
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday
विजया एकादशी की कथा
विजया एकादशी की कथा
आज अति शुभ पापमोचिनी एकादशी है। इस एकादशी का ब्रत करने, अथवा इस एकादशी की कथा पढ़ने से जन्मजन्मांतरों के पापो का नाश होता है, पितृ प्रसन्न होते है, पुण्य बढ़ते है। ब्रत करें या ना करें लेकिन अवश्य ही पढे पापमोचिनी एकादशी की कथा, सिर्फ 5 मिनट में,
https://www.memorymuseum.net/hindi/ekadashi-ke-upay1.php
रविवार का पंचांग
रविवार का पंचांग
ऊँ घृणि सूर्याय नम: ।। आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी, पापमोचिनी एकादशी, दिन रविवार ही है। रविवार के दिन सूर्य देव को जल देने, आदित्यह्रदय स्रोत्र का पाठ करने से धन, यश और आरोग्य की प्राप्ति होती है। एकादशी के दिन एकादशी की कथा एवं विष्णु सहस्रनाम का पाठ अवश्य करें। एकादशी के दिन अवश्य पढ़ें रविवार का पंचांग
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday
नव संवत्सर
नव संवत्सर
शनिवार 6 अप्रैल से नव संवत्सर, हिन्दू नव वर्ष प्रारंभ हो रहा है। शास्त्रों के अनुसार इसी दिन भगवान ब्रह्मा जी ने सृष्टि की रचना की थी। धर्म ग्रंथो में इस दिन को बहुत ही शुभ, कल्याणकारी और पुण्य दायक माना गया है। अवश्य ही जानिए क्यों बहुत ही महत्वपूर्ण, अति शुभ है नव संवत्सर
https://www.memorymuseum.net/hindi/nav-samvatsar.php
शनि देव को अनुकूल करने के उपाय
शनि देव को अनुकूल करने के उपाय
न्याय के देवता शनि देव की चाहिए कृपा तो शनिवार को करे ये उपाय, अवश्य देखे शनि देव का यंत्र, शनि होंगे मेहरबान, जानिए शनि देव को अनुकूल करने के उपाय,
https://www.memorymuseum.net/hindi/shani-grah-ke-upay.php
शनिवार का पंचांग
शनिवार का पंचांग
"ऊँ शं शनैश्चाराय नमः।" आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि दिन शनिवार है। शनि देव को प्रसन्नता हेतु शनिवार को पीपल की सेवा करे, किसी गरीब को उड़द की खिचड़ी / तेल दान करे। दशमी को यमराज जी से अपनी गलतियों के लिए क्षमा मांगने से नरक के दर्शन नहीं होते है। पढ़िए शनिवार का पंचांग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Saturday
सोमवार का पंचांग
सोमवार का पंचांग
आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि दिन सोमवार है। सोमवार के दिन भगवान शिव की आराधना करने से आरोग्य, दीर्घायु की प्राप्ति होती है, संकट दूर रहते है। पंचमी को शिवलिंग पर दूध चढ़ाने, नागो के नामो का उच्चारण करने से काल सर्पदोष के दुष्प्रभाव में कमी आती है, बल और आत्मविश्वास मिलता है। अपने भाग्य को प्रबल करने के लिए नित्य पंचाग को अवश्य ही पढ़े, जानिए आज सोमवार का पंचांग,
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Monday
बुद्ध ग्रह को अनुकूल करने के उपाय
बुद्ध ग्रह को अनुकूल करने के उपाय
कुंडली में यदि बुध ग्रह ख़राब हो बहुत से संकट खड़े जो जाते है। व्यापार, दलाली, नौकरी आदि कार्यों में नुकसान, रोजगार का संकट, धन अटकना, पागलखाना, जेलखाना या दवाखाना आदि की यात्रा भी करा देता है। जानिए बुद्ध ग्रह को अपने अनुकूल करने के उपाय, अवश्य देखे बुध ग्रह का यन्त्र
http://www.memorymuseum.net/hindi/budh-grah-ke-upay.php
बुधवार का पंचांग
बुधवार का पंचांग
आज फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि दिन बुधवार है। बुधवार को गणेश जी को गुड़ / लड्डुओं का भोग लगाकर दूर्वा अर्पित करके आराधना करने से समस्त संकट दूर होते है, कार्यो में सफलता मिलती है। सप्तमी को सूर्य देव को अर्घ्य देकर, आदित्य ह्रदय स्रोत्र का पाठ करें। जानिए बुधवार का पंचांग
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
जानिए शनि देव को अनुकूल करने के उपाय,
जानिए शनि देव को अनुकूल करने के उपाय,
न्याय के देवता शनि देव की चाहिए कृपा तो शनिवार को करे ये उपाय, अवश्य देखे शनि देव का यंत्र, शनि होंगे मेहरबान, जानिए शनि देव को अनुकूल करने के उपाय,
https://www.memorymuseum.net/hindi/shani-grah-ke-upay.php
शनिवार का पंचांग
शनिवार का पंचांग
"ऊँ शं शनैश्चाराय नमः।" आज फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि दिन शनिवार है। शनि देव को प्रसन्न करने, कुंडली के सभी ग्रहो के शुभ फलो के लिए शनिवार को पीपल की अवश्य सेवा करे। तृतीया तिथि को माँ गौरी जी की दूध मिठाई, अक्षत और सफ़ेद फूल से पूजा अर्चना करने से जीवन में सुख सौभाग्य की एवं कुबेर जी पूजा करने से जातक को विपुल धन-धान्य, समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। जानिए आज शनिवार का पंचांग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Saturday
श्री सूक्त का पाठ
श्री सूक्त का पाठ
"श्री सूक्त" का पाठ यश, सुख-समृद्धि ऐश्वर्य प्राप्ति का अचूक उपाय है। नित्य / शुक्रवार को इसके पाठ से चाहे कुंडली में कैसे भी ग्रह बैठे हो, ना केवल इस जन्म में वरन आने वाले जन्मो में भी सुख-समृद्धि प्राप्त होती है । करें श्री सूक्त का पाठ हिंदी में बस 5 मिनट में ,
https://www.memorymuseum.net/hindi/shri-sukt-ka-path.php
शुक्रवार का पंचांग
शुक्रवार का पंचांग
"देहि सौभाग्यं आरोग्यं देहि में परमं सुखम्‌। रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषोजहि"॥ आज फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष द्वितीया तिथि दिन शुक्रवार है। शुक्रवार को माँ दुर्गा की पूजा से समस्त मनोकामनाएँ पूर्ण होती है। शुक्रवार को श्री सूक्त का पाठ करने, माँ लक्ष्मी के अष्ट लक्ष्मी रूप की आराधना से सुख-समृद्धि की कोई भी कमी नहीं होती है। द्वितीया तिथि को किसी भी कार्य की शुरुआत से पहले ब्रहाण्ड के सृष्टिकर्ता भगवान बह्मा जी का स्मरण करने से कार्यो में सफलता मिलती है। जानिए आज शुक्रवार का पंचांग
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Friday
गुरु ग्रह को अपने अनुकूल करने के उपाय
गुरु ग्रह को अपने अनुकूल करने के उपाय
कुंडली में जब बृहस्पति ग्रह ( गुरु ग्रह ) शुभ हो, तो ऐश्वर्य, सुख, संपन्नता मिलती है। लेकिन गुरु के अशुभ होने पर विवाह में विलम्ब, दुश्मनो का बढ़ना, आंतों की समस्याएं, मधुमेह, आदि की शिकायत होती है। जानिए गुरु ग्रह को अपने अनुकूल करने के उपाय
https://www.memorymuseum.net/hindi/guru-grah-ke-upay.php