Free Astro, Vastu & Health-Tips

जानिए पसीने की बदबू दूर करने के उपाय
जानिए पसीने की बदबू दूर करने के उपाय
पसीने की बदबू होना एक आम बात है खास तौर पर गर्मियों में तो यह बहुत से लोगो को हो जाती है । पसीने के बदबू की वजह से हमें कई बार शर्मिंदा भी होना पड़ता है। शरीर में पानी की कमी ( डिहाइड्रेशन ) और नमक की कमी जैसी दिक्कतें भी हो जाती है। जिन लोगो को पसीना बहुत आता हो पसीने से बदबू आती है उन्हें ये प्राकृतिक उपाय अवश्य ही करने चाहिए । जानिए पसीने की बदबू दूर करने के उपाय
https://www.memorymuseum.net/hindi/pasine-ke-badbu.php
दुर्गा सप्तशती के पाठ का महत्व
दुर्गा सप्तशती के पाठ का महत्व
माँ दुर्गा की आराधना और उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए दुर्गा सप्तशती का पाठ सर्वोत्तम है । दुर्गा शक्ति की उत्पत्ति तथा उनके ‍चरित्रों का वर्णन मार्कण्डेय पुराणां के अंतर्गत देवी माहात्म्य में किया गया है। दुर्गा सप्तशती में 13 अध्यायो के 700 श्लोकों में देवी-चरित्र का वर्णन है। चाहे कोई भी मनोकामना हो कैसा भी संकट हो सब मनोरथ निश्चय ही इसके पाठ से पूरे हो जाते है, नवरात्र में इसका पाठ अमोघ माना गया है, इसको संस्कृत अथवा हिंदी दोनों ही भाषा में पढ़ा जा सकता है । दुर्गा सप्तशती के पाठ का महत्व / दुर्गा सप्तशती के किस पाठ का क्या फल है
https://www.memorymuseum.net/hindi/durga-saptashati-ka-fal.php
जानिए आज बुधवार का पंचाँग
जानिए आज बुधवार का पंचाँग
"ॐ श्री महागणपतये नमः"॥ आज चैत्र शुक्ल की दिवतीया तिथि दिन बुधवार है। बुधवार को गणपति गणेश जी की आराधना विशेष फलदायी है। ...आज गणेश जी को दूर्वा अर्पित करके घी और गुड़ का भोग लगाएं फिर उसे गाय को खिला दें इससे समस्त विघ्न दूर होते है। ऐसा आज से शुरू करके लगातार 11 बुधवार तक करें । बहुत से लोग आज कलश स्थापित करके ब्रत की शुरुआत करेगे। आज माँ शैलपुत्री और माँ ब्रह्मचारिणी दोनों की ही उपासना की जाएगी। ..माँ शैलपुत्री को गाय के घी और माँ ब्रह्मचारिणी को शक्कर का भोग लगाएं। ..नवरात्र के सभी दिनों में माँ को नित्य शहद और इत्र अवश्य ही अर्पित करें ,जानिए आज बुधवार का पंचाँग
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
जानिए नवरात्रि में प्रतिदिन क्या लगायें माता का भोग
जानिए नवरात्रि में प्रतिदिन क्या लगायें माता का भोग
ऐसा विश्वास है कि नवरात्रि की नौ रातों में माता दुर्गा की नौ शक्तियों के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा और प्रात: उनको प्रतिदिन अलग अलग भोग चडाने से, माता अपने सभी भक्तों की प्रत्येक कामनाओं को पूरा कर उन्हें बल, बुद्धि, धन, यश और दीर्घ आयु का वरदान देती है । जानिए नवरात्रि में प्रतिदिन क्या लगायें माता का भोग, जिससे सभी भक्तों को मनवांछित फल प्राप्त हो ।
https://www.memorymuseum.net/hindi/navratri-durga-poojan.php
जानिए रोग निवारण के अचूक उपाय
जानिए रोग निवारण के अचूक उपाय
शास्त्रो के अनुसार आज या कल करेंगे ये उपाय, तो होगी आरोग्य की प्राप्ति, पूरे वर्ष रोग निकट भी नहीं आएंगे जानिए रोग निवारण के अचूक उपाय
https://www.memorymuseum.net/hindi/rog-nivaran-ke-upay.php
मंगलवार का पंचाँग
मंगलवार का पंचाँग
"ॐ हनुमते रुद्रात्मकाय हुम् फट"॥ "जय श्री राम " ॥ आज 28 मार्च मंगलवार से हिन्दु नव वर्ष विक्रम संवत 2074 की शुरुआत है। आज ही के दिन भगवान ब्रह्मा ने सृष्टि की रचना की थी। समस्त कार्यो में विजय के लिए आज अपने घर कारोबार में छत पर लाल ध्वजा लगाएं , पूरे दिन प्रसन्न रहे। इस दिन को स्वयं सिद्द अमृत तिथि माना गया है। आज के दिन मंदिर में प्रभु के दर्शन करने, ब्राह्मण से भविष्य फल सुनने से देवताओं का आशीर्वाद मिलता है। आज मंगलवार को हनुमान जी के दर्शन करके उन्हें चोला चढ़ाएं , लाल पुष्प, लाल पेड़े / बूंदी, नारियल , पान, चढ़ाकर अपनी गलतियों के लिए क्षमा माँगे, सुख-सौभाग्य के लिए प्रार्थना करें । जानिए आज वर्ष के प्रथम दिवस, मंगलवार का पंचाँग
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday
हिन्दु नव वर्ष कैसे मनाएं,
हिन्दु नव वर्ष कैसे मनाएं,
इस वर्ष 2017 में 28 मार्च को भारतीय नववर्ष चैत्र शुक्ल प्रतिपदा , विक्रम संवत 2074 (युगाब्द 5119) का प्रारंभ हो रहा है । इस दिन को बहुत पुण्यदायक माना गया है । इसी दिन भगवान ब्रह्मा जी ने इस सृष्टि का सृजन किया था। सम्राट विक्रमादित्य ने 2074 साल पहले अपना राज्य स्थापित कर विक्रम संवत की शुरुआत की थी। इस दिन पूरे वर्ष शुभ फलो के लिए घर के बाहर दोनों तरफ घी में सिंदूर मिलाकर ॐ , स्वस्तिक का चिन्ह बनायें अथवा इनके अच्छे से स्टिकर लाकर लगाएं । जानिए नव संवत्सर, हिन्दु नव वर्ष , नव संवत् कैसे मनाएं, हिन्दु नव वर्ष कैसे मनाएं,
https://www.memorymuseum.net/hindi/nav-sanvat-kaise-manayen.php
जानिए नवरात्र में रखे सावधानी, नवरात्र में ना करें ये काम
जानिए नवरात्र में रखे सावधानी, नवरात्र में ना करें ये काम
नवरात्री हिन्दुओं का अत्यंत पवित्र पर्व है। चाहे कोई व्यक्ति नवरात्र का ब्रत रखे चाहे ब्रत ना रख पाए लेकिन इन दिनों सभी को कुछ बातो का अवश्य ही ध्यान रखना चाहिए ।.....जैसे यदि कोई भक्तगण नवरात्रि में घर में कलश स्थापना कर रहे हैं, या अखंड ज्योति‍ जला रहे हैं तो उन्हें नवरात्र के दिनों घर खाली छोड़कर अर्थात घर बंद करके नहीं जाना चाहिए। और भी बहुत सी उपयोगी बातो को जानने के लिए यहाँ पर दिए गए लिंक पर क्लिक करे जानिए नवरात्र में रखे सावधानी, नवरात्र में ना करें ये काम
https://www.memorymuseum.net/hindi/navratr-men-rakhe-savdhani.php
आज सोमवार का पंचाँग
आज सोमवार का पंचाँग
"ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् । उर्वारुकमिव बन्धनानत् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्"॥ आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि दिन सोमवार है। चतुर्दशी तिथि के स्वामी भगवान शिव है। सोमवार और कृष्ण चतुर्दशी दोनों ही दिन भगवान भोलेनाथ का अभिषेक, आराधना अत्यंत शुभ एवं कल्याणकारी मानी गयी है। आज शिव मंदिर में भगवान शिव को दूध, शहद, अक्षत, काले तिल,सफ़ेद पुष्प, बेल पत्र, शमी पत्र अवश्य ही अर्पित करें। इससे जीवन मंगलमय होता है, परिवार से रोग दूर रहते है, शुभ समाचार मिलते है। जीवन में निरन्तर शुभ समय के लिए नित्य पंचाँग को अवश्य ही पढे, पंचाँग में उस दिन के तिथि, वार, नक्षत्र, योग, करण का और उन्हें देवताओं / स्वामी का नाम लिया जाता है, इससे देवताओं का आशीर्वाद मिलता है । जानिए आज सोमवार का पंचाँग
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Monday
अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय
अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय
शास्त्रो के अनुसार अमावस्या की तिथि को किसी ही उपायों के लिए श्रेष्ठ माना जाता है। अमावस्या के दिन एक सूखा नारियल लेकर उसमे एक छेद करके उसे बूरा चीनी ( महीन चीनी ) से भर दें, फिर उसे किसी निर्जन स्थान पर पेड़ के नीचे जहाँ पर चीटियाँ हो वहां पर गाढ दे यह ध्यान रखे की नारियल का खुला हिस्सा धरती के उपर ही रहें, इसके बाद वापिस मुड कर न देखें। यह बहुत ही अमोघ उपाय है, इस उपाय से विपत्तियाँ दूर रहती है, सुख - समृद्धि , हर्ष एवं यश की प्राप्ति होती है। जानिये भाग्य चमकाने बदलने वाले अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय
https://www.memorymuseum.net/hindi/amavasya-ke-mahatvapurn-upay.php
जानिए नवरात्र में कैसे करें कलश की स्थापना
जानिए नवरात्र में कैसे करें कलश की स्थापना
नवरात्र में यदि कलश की स्थापना कर रहे है तो ध्यान रहे कि कलश मिट्टी, पीतल , तांबा, चाँदी या सोने का होना चाहिए। लोहे या स्टील के कलश का प्रयोग बिलकुल भी प्रयोग नहीं करे ।नवरात्र के दौरान यदि हो सके तो कलश के सामने अखंड दीप भी जलाएं। यदि घी का दीपक लगाएं तो ध्‍यान रखें कि उसे माता की मूर्ति के दायीं ओर रखें और यदि तेल का दीपक जला रहे हैं, तो उसे मूर्ति के बायीं ओर रखें। दीपक के नीचे “चावल” अथवा “सप्तधान्य” रखकर उसके ऊपर दीपक को स्थापित करें । दीपक के नीचे “चावल” रखने से माँ लक्ष्मी की पूर्ण कृपा प्राप्त होती है तथा दीपक के नीचे “सप्तधान्य” रखने से समस्त प्रकार के कष्टों से छुटकारा मिलता है। जानिए नवरात्र में कैसे करें कलश की स्थापना
https://www.memorymuseum.net/hindi/navratri-me-kalash-sthapna.php
जानिए नव संवत्सर के दिन क्या करें , कैसे मनाएं
जानिए नव संवत्सर के दिन क्या करें , कैसे मनाएं
चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को नव संवत की शुरुआत होती है । शास्त्रो में हिन्दु नव संवत्सर को बहुत महत्व दिया गया है । कहते है इस दिन कुछ बातो का पालन करने से सम्पूर्ण वर्ष भाग्य साथ देता है शुभ समय बना रहता है , घर परिवार में प्रेम , सहयोग, और कार्यो में श्रेष्ठ सफलता मिलती है, कुंडली के ग्रह अगर अशुभ फल भी दे रहे हो तो शुभ फल देनें लगते है , समाज में मान सम्मान की प्राप्ति होती है । इस दिन शुभ कर्म करने से देवताओं का पूर्ण आशीर्वाद मिलता है । जानिए नव संवत्सर के दिन क्या करें , कैसे मनाएं
https://www.memorymuseum.net/hindi/nav-sanvat-kaise-manayen.php
जानिए आज रविवार का पंचाँग
जानिए आज रविवार का पंचाँग
सूर्य नाम मंत्र – "ऊँ घृणि सूर्याय नम:"॥ आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की त्रियोदशी तिथि दिन रविवार है। रविवार को भगवान सूर्य को प्रात: ताम्बे के बर्तन में लाल चन्दन, गुड़, और लाल पुष्प डाल कर अर्घ्य दे एवं आदित्यहृदयस्तोत्रम्‌ का पाठ करें। रविवार को नमक ना खाएं रविवार को मीठा खाना श्रेयकर होता है । स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करने से सभी पाप नष्ट होते हैं। ....... त्रयोदशी तिथि के स्वामी प्रेम के देवता कामदेव हैं। त्रियोदशी को इनकी पूजा करने से जातक रूपवान होता है, उसे अपने प्रेम में सफलता एवं इच्छित, योग्य जीवनसाथी मिलता है। दाम्पत्य जीवन सुखमय होता है।त्रियोदशी को बैगन ना खाएं। जीवन में शुभ फलो के लिए नित्य पंचाग को अवश्य ही पढे / सुने इससे भाग्य प्रबल होता है, जानिए आज रविवार का पंचाँग
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday
जानिए व्यापार में वृद्धि के उपाय | व्यापार में वृद्धि के टोटके |
जानिए व्यापार में वृद्धि के उपाय | व्यापार में वृद्धि के टोटके |
धर्म शास्त्रो में हाथी को अत्यंत शभ माना गया है । यदि रोजगार कारोबार में परेशानी चल रही हो , मनवान्छित लाभ नहीं मिलते हो तो तो ठोस चांदी का बना छोटा सा हाथी, अपनी जेब में रखकर बाहर जाया करें , इसके अतिरिक्त अपने कार्य स्थल अथवा अपनी टेबिल / काउन्टर आदि पर भी सफ़ेद धातु का हाथी रखे , भाग्य प्रबल होगा , धन लाभ के नवीन नवीन अवसर भी बनेगें । जानिए व्यापार में वृद्धि के उपाय | व्यापार में वृद्धि के टोटके |
https://www.memorymuseum.net/hindi/vyapar-men-vraddhi-ke-upay.php
जानिए आज शनिवार का पंचाँग
जानिए आज शनिवार का पंचाँग
"ऊँ नीलांजनसमाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम । छायामार्तण्डसंभुतं नमामि शनैश्चरम"॥ आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की द्वादशी तिथि दिन शनिवार है। इस संसार में पीपल के सामान कोई मित्र नहीं है। शनिवार के दिन प्रात: पीपल के पेड़ में दूध मिश्रित मीठा जल अर्पित करने, सांय पीपल के नीचे तेल का चतुर्मुखी दीपक जलाने से समस्त ग्रह बाधाओं का निवारण होता है, शनि देव की कृपा मिलती है।... शनिवार को काले चने , उडद, काला नमक आदि का सेवन करने से शनि देव प्रसन्न रहते है। द्वादशी के स्वामी भगवान श्री विष्णु जी है। द्वादशी को विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ करने से समस्त भौतिक, सांसारिक सुखो की प्राप्ति होती है। ...द्वादशी के दिन तुलसी तोड़ना निषिद्ध है। द्वादशी के दिन यात्रा करने से धन हानि एवं असफलता की सम्भावना रहती है। जानिए आज शनिवार का पंचाँग
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Saturday
जानिए नवरात्र के अचूक टोटके
जानिए नवरात्र के अचूक टोटके
हर व्यक्ति चाहता है कि उसे इस संसार में सभी सुखो की प्राप्ति हो इसके लिए वह कठिन परिश्रम करता है , लेकिन कई बार लाख प्रयास के बाद भी उसे अपने कार्यो में सफलता नहीं मिलती है । शास्त्रो के अनुसार नवरात्रि के नौ दिन शक्ति से भरे हुए अत्यंत जाग्रत एवं माँ दुर्गा की कृपा प्राप्त करने के दिन होते है। इन दिनों में माँ की पूर्ण श्रद्धा से आराधना करने एवं कुछ खास टोटको को चुपचाप करने से सभी मनोरथ अवश्य ही पूर्ण होते है। जानिए नवरात्र के अचूक टोटके
https://www.memorymuseum.net/hindi/navratri-ke-totke.php
जानिए एकादशी की रात्रि का  धन - ऐश्वर्य प्राप्ति का उपाय
जानिए एकादशी की रात्रि का धन - ऐश्वर्य प्राप्ति का उपाय
आज पापमोचनी एकादशी है। शास्त्रो के अनुसार नियमपूर्वक एकादशी की रात्रि में एक उपाय करने से जातक को माँ लक्ष्मी की असीम कृपा प्राप्त है, .... पीढ़ियों तक धन की कोई भी कमी नहीं रहती है, अगले जन्मो में भी जातक उच्च और धनवान कुल में जन्म लेता है, कुंडली में कैसा भी अशुभ योग हो समाप्त हो जाता है , जानिए एकादशी की रात्रि का धन - ऐश्वर्य प्राप्ति का उपाय
http://www.memorymuseum.net/hindi/daridrata-dur-karne-ke-upay.php
जानिए नवरात्र में कैसे करें कलश स्थापना
जानिए नवरात्र में कैसे करें कलश स्थापना
नवरात्री में कलश स्थापना का बहुत महत्व है। नवरात्रि की प्रतिपदा के दिन सभी भक्त श्रद्धानुसार अपने घर / कारोबार में घट अर्थात कलश की स्थापना करते हैं। शास्त्रो के अनुसार शुभ मुहूर्त एवं विधि विधान से कलश की स्थापना करने से माँ अति प्रसन्न होती है। कई बार ऐसा देखा जाता है कि भक्त पूरी श्रद्धा से माँ की आराधना करते है लेकिन उन्हें कलश स्थापना की सही विधि नहीं मालूम होती है, यहाँ पर हम आपको कलश स्थापना की आसान विधि बता रहे है। ...जानिए नवरात्र में कैसे करें कलश स्थापना
https://www.memorymuseum.net/hindi/navratri-me-kalash-sthapna.php
जानिए आज एकादशी का पंचाग
जानिए आज एकादशी का पंचाग
"ॐ महालाक्ष्मै च विधम्हे विष्णु पत्न्यै । च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात्"॥ आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की पापमोचिनी एकादशी दिन शुक्रवार है। ...जीवन में निरंतर धन लाभ के लिए प्रत्येक शुक्रवार को माँ लक्ष्मी को हलुए का भोग लगाएं, एवं सांय लक्ष्मी मंदिर में धूप / अगरबत्ती अर्पित करके कुछ वहीँ पर जला दें। .... एकादशी के दिन किसी भी विष्णु मंदिर / कृष्ण मंदिर में पानी वाला नारियल और बादाम चढ़ाएं इससे आर्थिक पक्ष मजबूत रहता है कार्यो में विघ्न भी नहीं आते है।.... एकादशी के दिन चावल खाने से रोग और शत्रु बढ़ते है, जानिए आज एकादशी का पंचाग
https://memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Friday
जानिए मोतियाबिंद के घरेलु उपचार, कैसे करे मोतियाबिंद से बचाव
जानिए मोतियाबिंद के घरेलु उपचार, कैसे करे मोतियाबिंद से बचाव
जब आँख के लैंस की पारदर्शिता हल्की या समाप्त होने लगती है धुंधला दिखने लगता है तो उसे मोतियाबिंद कहते है । इस रोग में आँखों की काली पुतलियों में सफ़ेद मोती जैसा बिंदु उत्पन्न होता है जिससे व्यक्ति की आँखों की देखने की क्षमता कम हो जाती है ज्यादातर यह रोग 40 वर्ष के बाद होता है उम्र बढ़ने के साथ साथ इसके होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। लेकिन कुछ उपायो को करके घर पर ही इसका इलाज़ संभव है और इससे बचा भी जा सकता है, जी हाँ अगर कुछ सावधानियाँ रखे तो इसे होने से रोका भी जा सकता है। ......... जानिए मोतियाबिंद के घरेलु उपचार, कैसे करे मोतियाबिंद से बचाव
https://memorymuseum.net/hindi/motiyabind-ke-gharelo-upchaar.php
जानिए कैसे उत्पन्न हुई एकादशी, एकादशी का महत्व
जानिए कैसे उत्पन्न हुई एकादशी, एकादशी का महत्व
हिंदू धर्म में एकादशी व्रत का विशेष महत्व है। एकादशी की तिथि भगवान श्री विष्णु को सबसे प्रिय है । चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को पापमोचनी एकादशी कहते हैं। यह एकादशी सभी पापों का नाश करने वाली है। लेकिन क्या आप जानते है कि एकादशी की क्या कथा है, एकादशी कब से और कैसे अस्तित्व में आयी ....जानिए कैसे उत्पन्न हुई एकादशी, एकादशी का महत्व
https://memorymuseum.net/hindi/ekadashi-ka-mahatv.php
जानिए आज गुरुवार का पंचाग
जानिए आज गुरुवार का पंचाग
"शांता कारम भुजङ्ग शयनम पद्म नाभं सुरेशम। विश्वाधारं गगनसद्र्श्यं मेघवर्णम शुभांगम। लक्ष्मी कान्तं कमल नयनम योगिभिर्ध्यान नग्म्य्म । वन्दे विष्णुम भवभयहरं सर्व लोकैकनाथम"॥ आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि दिन गुरुवार है। गुरुवार को भगवान विष्णु को चन्दन / केसर से तिलक करने, पीले पुष्प, आँवला, खीर, गुड़, नारियल, इलाइची चढ़ाकर पूजा करने से भगवान विष्णु - माँ लक्ष्मी की पूर्ण कृपा मिलती है।... गुरुवार को गाय को घी से की रोटी पर गुड़ रखकर खिलाने से जीवन में प्रसन्नता रहती है। ...... दशमी तिथि के स्वामी यमराज जी है। दशमी को इनका स्मरण करने,गलतियों के लिए क्षमा माँगने से पापो का नाश होता है, ...जीवन में निरंतर शुभ समय के लिए नित्य पंचाग अवश्य ही पढे / सुने इससे देवता और कुंडली के ग्रह प्रसन्न होते है, जानिए आज गुरुवार का पंचाग
https://memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Thursday
जानिए माँ लक्ष्मी का अष्ट लक्ष्मी स्वरूप और अष्टलक्ष्मी मन्त्र
जानिए माँ लक्ष्मी का अष्ट लक्ष्मी स्वरूप और अष्टलक्ष्मी मन्त्र
हिन्दु पौराणिक कथाओं के अनुसार देवी लक्ष्मी हमारे जीवन में काफी महत्व है। माता लक्ष्मी की कृपा पाने के लिये माँ लक्ष्मी के अष्टरुपों का नियमित स्मरण करना, उनके मन्त्र का जाप करना अत्यन्त शुभ फलदायक माना गया है। अष्ट लक्ष्मी हमें धन, विद्या, वैभव, शक्ति और सुख प्रदान करती हैं।... अष्टलक्ष्मी के दर्शन, आराधना करने से व्यक्ति को धन और सुख-समृ्द्धि दोनों की प्राप्ति होती है, घर-परिवार में स्थिर लक्ष्मी का वास होता है, व्यापार में वृद्धि व धन में बढोतरी होती है। जानिए माँ लक्ष्मी का अष्ट लक्ष्मी स्वरूप और अष्टलक्ष्मी मन्त्र
http://www.memorymuseum.net/hindi/ashtlakshmi-sadhna.php
जानिए आज बुधवार का पंचाग
जानिए आज बुधवार का पंचाग
"ॐ एकदन्ताय विद्धमहे, वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दन्ति प्रचोदयात्"॥ "जय श्री गणेश"॥ आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि दिन बुधवार है ।... कार्यो में श्रेष्ठ सफलता के लिए प्रत्येक बुधवार को गणपति गणेश जी को रोली का तिलक लगाकर , दूर्वा चढ़ाकर लड्डुओं का भोग लगाएं । नवमी तिथि की स्वामिनी माँ दुर्गा हैं। नवमी तिथि को दुर्गा माता का पूजन किया जाना बहुत शुभ रहता है।... नवमी तिथि में माँ दुर्गा को गुड़हल या लाल गुलाब अर्पित करते हुए दुर्गा जी के किसी भी सिद्द मन्त्र का जाप करने से जीवन के सभी मनोरथ पूर्ण होते है । ...नवमी एक रिक्ता तिथि है इसलिए कोई नए और शुभ कार्यो की शुरुआत इस तिथि में ना करें । ...नवमी तिथि में लौकी और कद्दू का सेवन नहीं करें। जानिए आज बुधवार का पंचाग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
जानिए क्या है चैत्र नवरात्र का महत्व
जानिए क्या है चैत्र नवरात्र का महत्व
हिन्दू धर्म ग्रंथ एवं पुराणों के अनुसार नवरात्र माता भगवती की आराधना का श्रेष्ठ समय होता है। चैत्र मास के नवरात्र को ‘वार्षिक नवरात्र’ 'बसंत नवरात्र' भी कहा जाता है जो अत्यंत पुण्यदायक माने जाते है। चैत्र नवरात्र से ही नववर्ष के पंचांग की गणना शुरू होती है। सूर्य देव 12 राश‌ियों में भ्रमण पूरा करते हैं और उसके बाद फ‌िर से अगला चक्र पूरा करने के ल‌िए पहली राश‌ि मेष राशि में प्रवेश करते हैं। क्या आप जानते है कि चैत्र नवरात्रो में भगवान विष्णु ने अवतार भी लिए थे । जानिए क्या है चैत्र नवरात्र का महत्व
http://www.memorymuseum.net/hindi/chaitra-navratri-ka-mahtv.php
जानिए पेट में दर्द के घरेलु , अचूक उपाय
जानिए पेट में दर्द के घरेलु , अचूक उपाय
पेट दर्द होना एक आम समस्या है जो किसी को कभी भी कहीं भी हो सकती है। पेट दर्द के बहुत से कारण हो सकते है, और यह बच्चे, बड़े, बुजुर्ग किसी को भी समस्या हो सकती है , लेकिन इसका उपचार घर पर ही बहुत आसानी से कर सकते है । जानिए पेट में दर्द के घरेलु , अचूक उपाय
http://www.memorymuseum.net/hindi/pait-dard-ke-upay.php
जानिए धन प्राप्ति के अचूक उपाय | धन लाभ के उपाय |
जानिए धन प्राप्ति के अचूक उपाय | धन लाभ के उपाय |
घर पर आरोग्य और सुख-समृद्धि के लिए ये उपाय करें । प्रतिदिन अगर तवे पर रोटी सेंकने से पहले दूध के छींटे मारें, तो घर में बीमारी का प्रकोप कम होता है। रात्रि काल में अब घर का खाना बन जाये तो चूल्हे / गैस को बंद करने से पहले उस पर दूध का छीटा मारे इससे उस घर पर माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है। जानिए धन प्राप्ति के अचूक उपाय | धन लाभ के उपाय |
http://www.memorymuseum.net/hindi/dhan-prapti-ke-upay.php
जानिए आज मंगलवार का पंचाग
जानिए आज मंगलवार का पंचाग
"जय अंजनि कुमार बलवन्ता, शंकर सुवन वीर हनुमन्ता"॥ "जय श्री राम "। आज चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि दिन मंगलवार है। मंगलवार को बाल, दाढ़ी कटाने से उम्र कम होती है। अत: इस दिन बाल और दाढ़ी नहीं कटवाना चाहिए। ...मंगलवार को हनुमान चालीसा, बजरंग बाण का पाठ करने से जातक निर्भय होता है जीवन के सभी संकट दूर होते है। अष्टमी तिथि के स्वामी भगवान शिव कहे गए है। अष्टमी तिथि को भगवान शिव की विधि पूर्वक पूजा करने से समस्त सिद्धियां प्राप्त होती है,.... अष्टमी को नारियल का सेवन करने से बुद्धि का नाश होता है।..... नित्य पंचाग को पढ़ने / सुनने वाले जातको को जीवन में श्रेष्ठ सफलता, यश और समस्त सुखो की प्राप्ति होती है, इसलिए पंचाग को अनिवार्य रूप से अवश्य ही पढ़ना चाहिए ,जानिए आज मंगलवार का पंचाग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesda
जानिए नवरात्रि के सौभाग्य प्रदान कराने वाले टोटके |
जानिए नवरात्रि के सौभाग्य प्रदान कराने वाले टोटके |
किसी भी शुभ दिवस अथवा नवरात्र में सात गोमती चक्र एवं काली हल्दी को तिलक लगाकर धूपदीप दिखाकर चमकदार पीले कपड़े में बाँधकर धन स्थान में रखने पर धन खिंचा चला आता है। इस उपाय को पूर्ण श्रद्धा और विश्वास से गोपनीय तरीके से करना चाहिए । ....जानिए नवरात्रि के सौभाग्य प्रदान कराने वाले टोटके |
http://www.memorymuseum.net/hindi/navratri-ke-totke.php
जानिए कारोबार बढाने के उपाय  | रोजगार पाने के उपा
जानिए कारोबार बढाने के उपाय | रोजगार पाने के उपा
जीवन में स्थाई धन लाभ के लिए हर एकादशी के दिन धन समृद्धि की देवी लक्ष्मी के सामने नौ बत्तियों वाला शुद्ध घी का दीपक लगाएं। इससे आय के नए स्रोत्र खुलते है, व्यापार कारोबार में लाभ मिलता है, धन हानि होनी बंद होती है, धन में बरकत होती है । जानिए कारोबार बढाने के उपाय | रोजगार पाने के उपाय |
http://www.memorymuseum.net/hindi/karobar-badhane-ke-upay.php
Loading...