Free Astro, Vastu & Health-Tips

Mr.
Mr.
1
1
गुरुवार का पंचांग
गुरुवार का पंचांग
विष्णु मन्त्र :- "ॐ नमो भगवते वासुदेवाये नम:"।। आज सावन माह के शुक्ल पक्ष की षष्टी तिथि दिन गुरुवार है।आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार गुरुवार को शंख से भगवान विष्णु जी को स्नान करा के उन्हें पीले चन्दन का तिलक करके पीले पुष्पों से पूजा करने से समस्त सांसारिक सुख, आरोग्य और दीर्घ आयु की प्राप्ति होती है। गुरुवार को घी की रोटी पर गुड़ रखकर गाय को खिलाने, जल में दूध मिलाकर उससे तुलसी जी को सींचने से अटूट धन की प्राप्ति होती है। षष्टी तिथि के स्वामी भगवान शिव के पुत्र भगवान कार्तिकेय है। षष्ठी को इनकी पूजा करने से व्यक्ति वीर, शक्ति सम्पन्न एवं यशवान बनता है। जिनकी कुंडली में मंगल की दशा चल रही हो या कोई जातक मुक़दमे में फंसा हो तो उसे भगवान कार्तिकेय की पूजा करने से विशेष लाभ मिलता है। नित्य पंचाग पढ़ने से तेज बढ़ता है, जानिए आज गुरुवार का पंचांग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=
बुधवार का पंचांग
बुधवार का पंचांग
"ॐ एकदन्ताय विद्महे वक्रतुंडाय धीमहि तन्नो बुदि्ध प्रचोदयात"।। आप सभी को स्वतंत्रता दिवस और नाग पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं। आचार्य मुक्ति नारायण पाण्डेय जी के अनुसार बुधवार के दिन गणेश जी की दूर्वा चढ़ाकर, गुड़ का भोग लगाकर पूजा करने से सभी विघ्न दूर होते है। इस वर्ष 38 सालों बाद नाग पंचमी पर बहुत ही दुर्लभ संयोग है। आज सर्वार्थसिद्ध और रवि योग है। आज भगवान शिव एवं नाग देवता की पूजा करने से पितृ दोष एवं काल सर्प दोष से अवश्य ही लाभ मिलेगा। नाग पंचमी के दिन शिवलिंग पर / नाग पर दूध चढ़ाकर “ॐ कुरुकुल्ये हुं फट् स्वाहा” मन्त्र का जाप अवश्य ही करें। नित्य पंचाग पढ़कर अपने दिन की शुरुआत करने वाले जातको से हर संकट दूर ही रहते है, जानिए क्या है आज बुधवार का पंचांग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
शनिवार का पंचांग
शनिवार का पंचांग
शनि मंत्र :- "ॐ नीलांजन समाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम। छायामार्तंड संभूतं नमामि शनैश्चरम्"। आज शनि अमावस्या है। शनि अमावस्या पर शनि देव की पूजा-अर्चना करने से शनि की साढ़े साती, ढैय्या, पितृ दोष, काल सर्पदोष में कमी आती है। शनिवार के दिन पीपल पर दूध, काले तिल, गुड़ मिश्रित जल चढ़ाने एवं संध्या के समय शनि देव पर तेल चढ़ाकर पीपल पर तेल का दीपक जलाने से शनि देव प्रसन्न होते है, कुंडली की सभी ग्रह बाधाएं दूर होती है। पितृ अमावस्या के देवता है। अमावस्या पर पितरो के निमित ब्राह्मण को भोजन कराने, दान-पुण्य करने से पितरो का आशीर्वाद मिलता है, शनिवार के दिन हनुमान जी की आराधना करने, दशरथ कृत शनि स्तोत्र का पाठ करने से शनि का प्रकोप दूर होता है, नित्य पंचाग पढ़कर अपने दिन की शुरुआत करे फिर देखे समय कैसे अनुकूल होने लगता है, शनिवार का पंचांग पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Saturday
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Saturday
आज का राशिफल
आज का राशिफल
आज शुक्रवार का दिन इन राशिवालों के लिए है भारी, नहीं रखी सावधानी तो पड़ जायेंगे लेने के देने गणेश जी से जानिए, आज आपको किस तरह के फल प्राप्त होंगे , जानिए सभी राशि के आज का राशिफल, आज सर्वत्र सफलता का उपाय
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
शुक्रवार के पंचांग
शुक्रवार के पंचांग
महालक्ष्मी मन्त्र :- "ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:" ॥ आज सावन माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि दिन शुक्रवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार शुक्रवार को माँ लक्ष्मी की आराधना करने, श्री सूक्त का पाठ करने, माँ अष्ट लक्ष्मी के मंत्रो का जाप करने से लक्ष्मी माँ की पूर्ण कृपा मिलती है, सुख-समृद्धि के योग बनते है। चतुर्दशी तिथि के स्वामी भगवान शिव है। शास्त्रों के अनुसार भगवान शिव चतुर्दशी के दिन आराधना-अभिषेक से शीघ्र प्रसन्न होते है, शिव भक्त को जीवन के सभी सुखो की प्राप्ति होती है। नित्य पंचाग पढ़ने वाले जातको का भाग्य चमकने लगता है, भगवान श्री राम भी नित्य पंचाँग सुनते थे, शुक्रवार के पंचांग के लिए लिंक पर क्लिक करें https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Friday
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Friday
गुरुवार का राशिफल
गुरुवार का राशिफल
जानिए क्या है आपका आज का राशिफल, आज 'किनकी होगी विजय' और 'किनको रखनी होगी सावधानी' । यहाँ बताये गए राशिनुसार उपाय से प्रत्येक दिन लाभ को प्राप्त करें। जिस दिन सितारे अनुकूल हो उस दिन सभी महत्वपूर्ण कार्य अवश्य निपटाएं, और जिस दिन सितारे हो हो प्रतिकूल उस दिन नुकसान से हो । कुंडली विशेषज्ञ पंडित कृष्ण कुमार शास्त्री जी से जानिए सभी राशियों का आज गुरुवार का राशिफल https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
गुरुवार का पंचांग
गुरुवार का पंचांग
विष्णु जी का मन्त्र :- "ऊँ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्"।। आज सावन माह के कृष्ण पक्ष की त्रियोदशी तिथि दिन गुरुवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार गुरुवार के दिन भगवान श्री विष्णु जी को शंख से स्नान कराकर उन्हें पीले पुष्प अर्पित करके पूजा करने से समस्त सांसारिक सुखो की प्राप्ति होती है। त्रियोदशी तिथि को प्रेम के देवता कामदेव जी का स्मरण करने से मनवाँछित जीवन साथी मिलता है, दाम्पत्य जीवन सुखमय होता है। गुरुवार को जल में हल्दी डाल कर स्नान करने, ताम्बे के बर्तन में जल में चने की दाल, हल्दी, शहद डाल कर केले के पेड़ पर चढ़ाकर धूप जलाकर बृहस्पति जी के मन्त्र का जाप करने से दाम्पत्य जीवन सुखमय होता है, गुरुग्रह मजबूत होते है, पंचाग को पढ़ने वाले जातको पर देवताओं की कृपा बनी रहती है, कुंडली के ग्रह भी अनुकूल रहते है। जानिए आज गुरुवार का पंचांग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Thursday
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Thursday
बुधवार का राशिफल
बुधवार का राशिफल
आज इन राशियों के जातको पर है भाग्य की देवी मेहरबान, आज उठाया अवसरो का फायदा तो सफलता मिलेगी छप्पर फाड़ के, विघ्नहर्ता गणपति जी से जानिए आज आपको बुधवार के दिन किस तरह के फल प्राप्त होंगे , जानिए सभी राशियों का आज बुधवार का राशिफल, और आज का उपाय https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
बुधवार का पंचांग
बुधवार का पंचांग
गणेश जी का मन्त्र :- "ॐ श्री महा गण गणपतये नम:"।। आज सावन माह के कृष्ण पक्ष की द्वादशी तिथि दिन बुधवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार बुधवार को देवताओं में प्रथम पूज्य गणपति जी को रोली का तिलक लगाकर उन्हें लाल पुष्प, दूर्वा घास चढ़ाकर लड्ड़ओं या गुड़ का भोग लगाकर पूजा करने से कार्यो से विघ्न दूर होते है, सफलता के मार्ग खुलने लगते है। द्वादशी के स्वामी भगवान श्री विष्णु जी है। द्वादशी को विष्णु जी की पीले पुष्पों से पूजा करने, विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करने से समस्त सांसारिक सुखो की प्राप्ति होती है। द्वादशी के दिन तुलसी जी को तोड़ना, यात्रा करना मना है। शास्त्रों के अनुसार नित्य पंचाग पढ़ने वाले जातको को देवताओं का आशीर्वाद मिलता है वह जीवन में निरंतर उन्नति के पथ पर अग्रसर होते है। जानिए आज बुधवार का पंचांग
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
कामदा एकादशी की कथा
कामदा एकादशी की कथा
आज अति पुण्यदायक कामदा एकादशी / कामिका एकादशी है।ब्रह्माजी कहते हैं कि हे नारद! कामदा एकादशी के व्रत का माहात्म्य श्रद्धा से सुनने और पढ़ने वाला मनुष्य सभी पापों से मुक्त होकर अंत में विष्णु लोक को जाता है। उसके सुनने मात्र से वाजपेय यज्ञ का फल मिलता है। भृगु संहिता के ज्ञाता, ज्योतिषाचार्य अखिलेश्वर पांडेय जी के अनुसार यदि कोई जातक ब्रत नहीं भी रख पाए तो भी इस दिन भगवान विष्णु जी का पूजन और इस एकादशी की कथा को अवश्य ही पढ़ना / सुनना चाहिए जानिए जन्म जन्मांतर के पापो को दूर करने वाली, कामदा एकादशी की कथा https://www.memorymuseum.net/hindi/ekadashi-ke-upay1.php
https://www.memorymuseum.net/hindi/ekadashi-ke-upay1.php
मंगलवार का पंचांग
मंगलवार का पंचांग
"सुनु सिय सत्य असीस हमारी। पूजिहि मन कामना तुम्हारी"॥....... आज सावन माह के कृष्ण पक्ष की सुबह 7.52 तक दशमी तदुपरांत एकादशी तिथि / 'कामदा एकादशी' दिन मंगलवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार इस कलयुग में हनुमान जी की आराधना और वह भी मंगलवार के दिन अत्यंत फलदायी और समस्त संकटो को दूर करने वाली बताई गयी है। मंगलवार को सुन्दर काण्ड / हनुमान चालीसा / बजरंग बाण को पढ़ने से बल और निर्भयता आती है शत्रु परास्त होते है। आज समस्त पापो का नाश करने वाली कामदा एकादशी है, एकादशी के दिन जल में आँवले डाल कर स्नान करने से समस्त पापो का नाश होता है। एकादशी के दिन भूल कर भी चावल ना खाएं। जीवन में निरंतर शुभ समय के लिए नित्य पंचाग अवश्य जी पढ़े, जानिए आज मंगलवार का पंचांग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday हनुमान जी की कृपा से आपका आज सभी दिशाओं से मंगल ही मंगल हो।
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday
एकादशी के दिन क्या ना करें
एकादशी के दिन क्या ना करें
7 अगस्त मंगलवार को समस्त पापो का नाश करने वाली, पितरो को स्वर्ग में स्थान दिलाने वाली 'कामिका / कामदा एकादशी' है। धर्म ग्रंथो में एकदशी को सभी तिथियों में सर्वश्रेष्ठ माना गया है, यह भगवान विष्णु की सबसे प्रिय तिथि है। एकादशी के दिन ना करें ये कार्य वरना समस्त पुण्य हो जायेंगे बेकार, होंगे पाप के भागी, रूठ सकती है माँ लक्ष्मी जी, जानिए एकादशी के दिन क्या ना करें, एकादशी के दिन निषेध,
https://www.memorymuseum.net/hindi/ekadashi-ke-din-kya-na-kare.php
सोमवार का पंचाग
सोमवार का पंचाग
सावन के सोमवार में भगवान शिव की आराधना, अभिषेक विशेष फलदाई है। शास्त्रों के अनुसार सावन के सोमवार के व्रतों को रखने से अत्यंत शुभ फलो की प्राप्ति होती है, दुर्भाग्‍य भी सौभाग्‍य में बदल जाता है, पूर्वजो को स्वर्ग में स्थान मिलता है। दशमी के दिन यमराज जी से अपनी गलतियों के लिए क्षमा मांगने से अकाल मृत्यु का भय दूर होता है, नरक से छुटकारा मिलता है। नित्य पंचांग को पढ़ने से कार्यो में सफलता, शुभ समाचार प्राप्त होते है अत: पंचाग को नित्य पढ़ कर ही अपने दिन की शुरुआत करें, जानिए आज सोमवार का पंचाग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Monday आप सभी पर सम्पूर्ण शिव परिवार की कृपा बनी रहे।
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Monday
भैरव नाथ को कैसे प्रसन्न करें
भैरव नाथ को कैसे प्रसन्न करें
प्रत्येक माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को काल अष्टमी / भैरव अष्टमी कहते है। और यदि भैरव अष्टमी, सावन के रविवार को हो तो और भी सिद्ध, फलदाई होती है। शास्त्रों के अनुसार भगवान शिव के स्वरुप भैरव नाथ जी को प्रसन्न करने से जीवन में धन-यश, सफलता मिलती है, रोग, शस्त्रु नहीं सताते है, कोई भी टोना टोटका असर नहीं करता है, सभी बिगड़े कार्य भी बनने लगते है, भक्तो को इस जीवन में सभी सुखो की निश्चय ही प्राप्ति होती है। जानिए रविवार, भैरव अष्टमी के दिन भैरव नाथ को कैसे प्रसन्न करें, भैरव नाथ की कृपा प्राप्त करने के उपाय https://www.memorymuseum.net/hindi/bhairav-nath-ko-kaise-prasann-kare.php
https://www.memorymuseum.net/hindi/bhairav-nath-ko-kaise-prasann-kare.php
आज का राशिफल
आज का राशिफल
जानिए क्या है आपका आज का राशिफल, आज 'किनकी होगी सर्वत्र विजय ' और 'किनको रखनी होगी सावधानी' । यहाँ बताये गए राशिनुसार उपाय से प्रत्येक दिवस को बनाये अपने अनुकूल। कुंडली विशेषज्ञ पंडित कृष्ण कुमार शास्त्री जी से जानिए सभी राशियों का आज का राशिफल, आज का उपाय http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
रविवार का पंचांग
रविवार का पंचांग
सूर्य देव का मन्त्र:- "ऊँ घृणि सूर्याय नम:"।। आज सावन माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि दिन रविवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार रविवार को प्रात: इस ब्रह्माण्ड के प्रत्यक्ष देवता भगवान सूर्य को प्रात: ताम्बे के बर्तन में लाल चन्दन, गुड़, और लाल पुष्प डाल कर अर्घ्य दे एवं आदित्यहृदयस्तोत्रम्‌ का पाठ करें। रविवार को भैरव जी के दर्शन परम फलदाई है। अष्टमी तिथि के स्वामी भगवान शिव कहे गए है। अष्टमी तिथि को भगवान शिव की विधि पूर्वक पूजा करने से भोलेनाथ जी की कृपा प्राप्त होती है ।जीवन में नित्य पंचांग को पढ़कर अपने दिन की शुरुआत करने वाले जातको पर देवताओं का आशीर्वाद बना रहता है, जानिए आज रविवार का पंचांग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday आप सभी का दिन अत्यंत शुभ हो।
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday
मंगलवार का राशिफल,
मंगलवार का राशिफल,
आज बजरंग बलि का दिन मंगलवार है, आज इन राशिवालों का होगा मंगल ही मंगल, हनुमान जी करेंगे सभी संकट दूर, जानिए कैसे रहेगा आपका आज का दिन, पंडित कृष्ण कुमार शास्त्री जी से जानिए आज आपको मंगलवार के दिन किस तरह के फल प्राप्त होंगे , जानिए आपका आज मंगलवार का राशिफल, मंगलवार की सफलता का उपाय http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php #राशिफल, #rashifal, #मंगलवारकाराशिफल, #mangalvarkarashifal
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
मंगलवार का पंचाग
मंगलवार का पंचाग
हनुमान जी का मन्त्र :- "हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्"।। आज सावन माह के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि दिन मंगलवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार जीवन में समस्त भय और संकटो को दूर करने के लिए प्रत्येक मंगलवार को हनुमान जी को लाल पुष्प और लाल मिष्ठान अथवा गुड़ चना अर्पित करके सुन्दर काण्ड, हनुमान चालीसा, बजरंग बाण आदि का पाठ करें। इससे जातक निर्भय हो जाता है। तृतीया को मौ गौरी की आराधना से परिवारिक सुखो एवं कुबेर जी के मन्त्र का जाप करने से सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। नित्य पंचांग पढ़ने वाले जातक का भाग्य बहुमूल्य हीरे की तरह चमकने लगता है, जानिए मंगलवार का पंचाग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday आप सभी पर बजरंग बलि की कृपा बनी रहे। प्रेम से बोलिये जय श्री राम।
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday
शिवलिंग पर क्या चढ़ाएं
शिवलिंग पर क्या चढ़ाएं
शिव पुराण में बहुत से ऐसे उपाय / पूजा विधि बतायी गयी है जिसके अनुसार भगवान भोले शंकर की पूजा करने से ( विशेषकर सावन माह में ) भोलेनाथ की पूर्ण कृपा मिलती है, जीवन के सभी मनोरथ पूर्ण होते है। ..... जानिए भगवान आशुतोष की कृपा प्राप्त करने के शिव पुराण के उपाय, शिवलिंग पर क्या चढ़ाएं https://www.memorymuseum.net/hindi/shivling-par-kya-chadaye.php आप सभी पर भगवान भोलेनाथ की असीम कृपा रहे।
https://www.memorymuseum.net/hindi/shivling-par-kya-chadaye.php
आज का राशिफल,
आज का राशिफल,
जानिए आज किन राशि वालो को होंगे शुभ समाचार प्राप्त, और किनको रखनी होगी सावधानियाँ , पंडित कृष्ण कुमार शास्त्री जी से जानिए आज सभी राशि वालो को आज किस तरह के फल प्राप्त होंगे, आज का धन लाभ का उपाय, यह भी जानिए आज आपका भाग्य कितने प्रतिशत आपके साथ है जानिए प्रत्येक राशि का आज का राशिफल, https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php आप सभी पर गणपति जी की कृपा बनी रहे।
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
रविवार का पंचांग
रविवार का पंचांग
सूर्य मन्त्र :- "ऊँ ह्यं हृीं हृौं सः सूर्याय नमः"। आज सावन माह के कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि दिन रविवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार जीवन में मान प्रतिष्ठा, कार्यो में श्रेष्ठ सफलता के लिए नित्य ताम्बे के बर्तन से उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दे एवं रविवार कोआदित्य ह्रदय स्रोत्र का पाठ अवश्य करें। रविवार को बेल के वृक्ष / पौधे पर जल चढ़ाकर उसकी पूजा करने से पुण्य बढ़ते है। द्वितीया तिथि के स्वामी सृष्टि के रचियता एवं चारो वेदो के निर्माता भगवान ब्रम्हा जी है। रविवार को अदरक और मसूर की दाल का सेवन ना करें। नित्य पंचांग पढ़ने से हमें प्रत्येक दिन के देवताओं, नक्षत्रो और शुभ शक्तियों का आशीर्वाद मिलता है, कुंडली के शत्रु ग्रहो के दुष्प्रभाव भी दूर होने लगते है। जानिए आज रविवार का पंचांग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday
शुक्रवार का पंचांग
शुक्रवार का पंचांग
महालक्ष्मी मन्त्र :- "ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:" ॥ आज आषाढ़ माह की पूर्णिमा / गुरु पूर्णिमा, इस सदी का सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण दिन शुक्रवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार शुक्रवार को माँ लक्ष्मी की आराधना करने, श्री सूक्त का पाठ करने, लक्ष्मी जी को खीर या हलुवे का भोग लगाने से लक्ष्मी माँ की कृपा मिलती है, सुख-समृद्धि के योग बनते है। आज रात्रि 11. 54 से चंद्र ग्रहण है, जिसके कारण इसका सूतक 9 घंटे पहले दोपहर 2.54 से लग जायेगा एवं मंदिरो के द्वार बंद हो जायेंगे इसलिए गुरु पूर्णिमा पर अपने गुरु की पूजा इससे पहले ही कर लें। जानिए आज शुक्रवार का पंचांग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Friday
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Friday
आज का राशिफल
आज का राशिफल
जानिए कैसे रहेगा आपका आज बुधवार का दिन, आज किन राशि वालो का बजेगा डंका , और किनको संभल संभल कर चलना होगा। पंडित कृष्ण कुमार शास्त्री जी से जानिए आज आपको बुधवार के दिन किस तरह के फल प्राप्त होंगे, आज बुधवार को आपका भाग्य कितने प्रतिशत आपका साथ दे रहा है, क्या है आज सफलता का उपाय । जानिए सभी राशियों का आज का राशिफल, बुधवार का राशिफल http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php #राशिफल, #rashifal, #बुधवारकाराशिफल, #budhvarkarashifal
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
बुधवार का पंचांग
बुधवार का पंचांग
गणेश जी का मन्त्र :- "वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा"॥ आज आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की त्रियोदशी तिथि दिन बुधवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार बुधवार के दिन गणेश जी की आराधना से समस्त विघ्न दूर होते है। बुधवार को गाय को हरा चारा / हरी सब्जी खिलाने से धन लाभ के योग प्रबल होते है। त्रियोदशी को प्रेम के देवता कामदेव की आराधना करने से जातक रूपवान होता है उसे योग्य और इच्छित जीवनसाथी मिलता है, दाम्पत्य जीवन सुखमय होता है। जीवन में निरंतर शुभ फलो के लिए, कुंडली के ग्रहो के अशुभ प्रभाव को दूर करने, शुभ फलो की प्राप्ति के लिए नित्य पंचाग को पढ़ना अपनी अनिवार्य आदत बनाएं । इससे देवताओं का आशीर्वाद मिलता है । जानिए क्या है बुधवार का पंचांग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
आज का राशिफल
आज का राशिफल
आज जगत के पालनहार भगवान श्री विष्णु जी का दिन द्वादशी तिथि है , आज इन राशिवालों का होगा मंगल ही मंगल, शिर विष्णु जी की कृपा से होंगी सभी मनोकामनाएं पूरी, जानिए कैसे रहेगा आपका आज का दिन, पंडित कृष्ण कुमार शास्त्री जी से जानिए आज आपको मंगलवार के दिन किस तरह के फल प्राप्त होंगे , जानिए आपका आज का राशिफल, मंगलवार की सफलता का उपाय https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-rashifal.php
मंगलवार का पंचाग
मंगलवार का पंचाग
हनुमान जी का मन्त्र :- "हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्"।। आज आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि दिन मंगलवार है। आचार्य मुक्ति नारायण पांडेय जी के अनुसार जीवन में समस्त भय और संकटो को दूर करने के लिए प्रत्येक मंगलवार को हनुमान जी को लाल पुष्प और लाल मिष्ठान अथवा गुड़ चना अर्पित करके सुन्दर काण्ड, हनुमान चालीसा, बजरंग बाण आदि का पाठ करें। इससे जातक निर्भय हो जाता है। द्वादशी को भगवान श्री विष्णु जी की पूजा, अर्चना करने से मनुष्य को समस्त सुख, ऐश्वर्यों और यश की प्राप्ति होती है। इस दिन विष्णु सहस्रनाम का पाठ करना अत्यन्त श्रेयकर होता है। द्वादशी के दिन तुलसी तोड़ना निषिद्ध है। द्वादशी के दिन यात्रा करने से धन हानि एवं असफलता की सम्भावना रहती है। नित्य पंचांग पढ़ने वाले जातक का भाग्य बहुमूल्य हीरे की तरह चमकने लगता है, मंगलवार का पंचाग पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=
देवशयनी एकादशी की कथा
देवशयनी एकादशी की कथा
आज देवशयनी एकादशी है। एकादशी भगवान श्री विष्णु जी को अत्यंत प्रिय है, शास्त्रों के अनुसार एकादशी का ब्रत रखने, एकादशी की कथा पढ़ने / सुनने वाले पर भगवान श्री विष्णु जी के साथ साथ माँ लक्ष्मी की भी असीम कृपा बनी रहती है, समस्त पापो का नाश होता है, आने वाली पीढ़ियों को भी पुण्य की प्राप्ति होती है। अवश्य जी जानिए अत्यंत पुण्य दायक देवशयनी एकादशी की कथा https://www.memorymuseum.net/hindi/ekadashi-ke-upay1.php
https://www.memorymuseum.net/hindi/ekadashi-ke-upay1.php
सोमवार का पंचांग
सोमवार का पंचांग
"नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांगरागाय महेश्वराय| नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मे"न" काराय नमः शिवायः"॥ आज आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी, 'देवशयनी एकादशी' दिन सोमवार है। आचार्य मुक्ति नारयण पांडेय जी के अनुसार जीवन में शुभ फलो की प्राप्ति के लिए हर सोमवार को शिवलिंग पर पंचामृत या मीठा कच्चा दूध, शहद, अक्षत, काले तिल और सफ़ेद पुष्प चढ़ाएं, इससे भगवान महादेव की कृपा बनी रहती है परिवार से रोग दूर रहते है। आज हरिशयनी / देवशयनी एकादशी है। आज ही से चातुर्मास भी शुरू हो जाता है। 'देवशयनी एकादशी' से भगवान श्री हरि विष्णु क्षीरसागर में 4 माह के लिए शयन करते हैं' और फिर कार्तिक मास में देवोत्थान एकादशी के दिन जागते है। इसी लिए देवशयनी एकादशी' से सभी शुभ कार्य 4 माह के लिए बंद हो जाते है। नित्य पंचाग पढ़ने वाले जातको का भाग्य चमकने लगता है, जानिए आज सोमवार का पंचांग https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Monday
https://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Monday
एकादशी में क्या ना करें
एकादशी में क्या ना करें
23 जुलाई सोमवार को अति पवित्र देवशयनी / हरिशयनी एकादशी है। 'देवशयनी एकादशी' से ही चातुर्मास प्रारम्भ हो जाता है और जीवन के सभी शुभ कर्म जैसे यज्ञोपवीत संस्कार, विवाह, दीक्षा-ग्रहण, यज्ञ, गृहप्रवेश आदि सभी स्थगित हो जाते हैं। एकादशी के दिन ना करें ये काम, वरना मिलेगा अपयश, रूठ सकता है भाग्य, जानिए एकादशी के दिन निषेध |एकादशी में क्या करें क्या ना करें, https://www.memorymuseum.net/hindi/ekadashi-ke-din-kya-na-kare.php
https://www.memorymuseum.net/hindi/ekadashi-ke-din-kya-na-kare.php