Pitra Dosh Nivaran Yantra


Pitra Dosh yantra

Pitra Dosh Nivaran Mantra


मन्त्र ---


ऊँ पित्रभ्यः देवताभ्यः महाय®गिभ्येव च ।

नमः स्वाहा स्वधाये: च नित्यमेव नम¨ नमः ।।



कुछ वैदिक ज्योतिषी यह मानते हैं कि पित्र दोष का कारण यह होता है कि जातक ने अपने पूर्वजों के मृत्योपरांत किये जाने वाले संस्कार तथा श्राद्ध आदि उचित प्रकार से नहीं किये होते जिसके चलते जातक के पूर्वज अर्थात पित्र उसे शाप देते हैं जो पित्र दोष बनकर जातक की कुंडली में उपस्थित हो जाता है तथा जातक के जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में समस्याएं उत्पन्न करता है।..... पित्र दोष वास्तविकता में पित्रों के शाप से ही नहीं बनता है अपितु पित्रों के और हमारे स्वयं द्वारा किये गए बुरे कर्मों के परिणामस्वरूप बनता है जिसका फल जातक और उसके परिवार को भुगतना पड़ता है ।

परिवार के मुखिया द्वारा जो सत्कर्म अथवा दुष्कर्म अपने जीवन में किए जाते हैं,उनका फल उसके जाने के बाद पारिवारिक सदस्यों को भोगना पडता है---विशेषरूप से उसकी संतान को। अब वो फल अच्छा है या बुरा,वो तो उस मुखिया के किए गये कर्मों पर निर्भर करता है। यदि पूर्वज द्वारा अच्छे कार्य किए गये हैं तो निश्चित रूप से वह अपने परिवार को सम्पन्नता एवं प्रसन्नता दे पाएगा। यदि उसने अपने जीवन में अनैतिक कर्मों का ही आश्रय लिया है तो वह अपने परिवार को अपमान एवं दुख के अतिरिक्त ओर क्या दे सकता है ।



For sighting of this divine ‘Yantra’ and to have your personalized prayers and chanting on this site, and to know useful tips and solutions For attaining Everlasting benevolence of ‘Yantra Raj’-------the “Shri Yantra”. ……join……… TODAY ..





yantra   Magical Yantra

Specific Yantras for specific problems......but procuring and maintaining them as per scriptures is quite impossible..now a unique opportunity to sight upon problem-specific yantras on www.memorymuseum.net.... each magical yantra is sanctified and empowered for maximum benefit to the beholder !!

User Name

Password


Yantras

Pitra Dosh Image