loading...

तुलसी के औषधीय गुण


Tulsi Gun
तुलसी ऐसी अचूक रामबाण औषधी है जो बहुत सी बीमारियों में काम आती है। तुलसी को घर का वैद्य कहा गया है। यह घर का वातावरण पवित्र और पूरी तरह कीटाणुओं से मुक्त रखती है। शरीर में सिर में दर्द, बच्चों का चिड़चिड़ापन, आँखों की लाली, स्मरण शक्ति में कमी, एलर्जी,  मुँह में छाले,  पेशाब में जलन, दमा, नाक, कान, वायु, कफ, ज्वर और दिल की बीमारियों पर तुलसी के पत्ते रोग दूर करने में सहायक हैं। यही नहीं तुलसी का इस्तेमाल परमाणु विकिरण की चपेट में आए लोगों के इलाज में भी सफलता पूर्वक किया जा सकता है।

om तुलसी ह्रदय के लिए बहुत ही लाभदायक है । नित्य इसकी 5 पत्तियों का सेवन करने से शरीर में कैलोस्ट्राल कम हो जाता है । 

om तुलसी की जड़ को पीसकर 5-6 घंटे पानी में रखकर खाने से वीर्य पुष्ट होता है, व्यक्ति की स्तम्भन शक्ति बढ़ती है ।

om तुलसी के 20 पत्तों को तोड़कर मिस्री की एक डली के साथ सेवन करने से स्मरण शक्ति बढ़ती है ।

om जुकाम और उसके कारण होने वाले बुखार में भी तुलसी के पत्तों के रस का सेवन अवश्य ही करना चाहिए। इससे बुखार में शीघ्र ही आराम मिलता है।

om तुलसी के पत्ते को नियमित रूप से निगलने से व्यक्ति को कभी भी खून की कमी नहीं होती है।

om नियमित रूप से सुबह खाली पेट तुलसी का सेवन करने पर पेट के कीड़े मर जाते है और गैस्ट्रिक की समस्या भी ख़त्म होती है ।

om कान का तेज दर्द होने पर इसकी बूँदें रात को सोते समय कान में टपका लें इससे जल्दी ही राहत मिलती है ।

om तुलसी मलेरिया में एक कारगर औषधि मानी जाती है। तुलसी और काली मिर्च का काढ़ा बनाकर पीने से मलेरिया शीघ्र ही ठीक हो जाता है। 

om तुलसी सबसे बेहतरीन एंटी आक्सिडेंट दवा के रूप में काम करती है, यह शरीर में किसी भी तरह के दूषित तत्व को बड़ी आसानी से  निकाल बाहर फेंकती है ।

 

om दस तुलसी के पत्तो को पाँच काली मिर्च के साथ उबाले, इसके बाद इस उबलते पानी में गुड़, सौंठ और सेंधा नमक मिलायें । फिर इसे छानकर गर्म गर्म चाय की तरह पियें । इससे जुकाम में आशातीत लाभ मिलता है । 

om गर्मी के दिनों में तुलसी के पत्ते खाकर ही घर से बाहर जाएँ इससे ना तो लू लगेगी और ना ही सर में चक्कर आएगा । 

om तुलसी ह्रदय के लिए बहुत लाभकारी है । तुलसी से कलोस्ट्राल कम हो जाता है । सर्दियों के मौसम में 8 तुलसी के पत्ते , 5 काली मिर्च और 5 बादाम को पीसकर उसे आधा गिलास पानी में मिलाकर नित्य पियें । इससे ह्रदय के समस्त रोगो में आराम मिलता है , ह्रदय को ताकत मिलती है । 

 


Loading...