Memory Alexa Hindi
online ad space

स्वप्न फल विचार

Swapn Vichar

आपके सपने आपके जीवन के बारे में क्या कहना चाहते है इसे समझिये के लिए इस साईट पर अवश्य आयें ...

Ad space on memory museum

स्वप्न फल, स्वप्न विचार


Swapna phal, Swapna vichar


अंअ: श्र

Tags:- सपने, Sapne, स्वप्न,Swapn, सपनो का रहस्य, स्वप्न का विचार ,शुभ स्वप्न, shubh swapn, अशुभ स्वप्न, Ashubh swapn सपनो का मतलब, सपने क्या कहते है, स्वप्नों का मतलब ,स्वप्न विचार ,swapna vichar,swapna phal, सपनो का अर्थ, Sapno ka arth, स्वप्न फल, swapna phal, सपनों का फल, sapno ka phal ,स्वप्न देखने का फल , swapn dekne ka phal

सपने देखना ( sapne dekhna ) एक स्वाभाविक क्रिया है | जब हम जागते हैं ,विचारों पर हमारा नियंत्रण रहता है, पर जब हम निद्रावस्था में होते हैं तब विचारों पर हमारा नियंत्रण नहीं रह पाता । निद्रावस्था में हमारा स्थूल शरीर सुप्तावस्था में रहता है पर हमारा सूक्ष्म शरीर एवम मस्तिष्क क्रियाशील रहता है और हमें स्वप्नों ( swapno ) के माध्यम से अनेक प्रकार के दृश्य,घटनाएं ,व्यक्ति,वस्तुएं एवम स्थान आदि दिखलाता है । ज्योतिष शास्त्र के अनेकों ग्रंथों एवम हमारे पुराणों में स्वप्नों के शुभा अशुभ फल का वर्णन दिया गया है । कई बार इन स्वप्न के माध्यम से हमें भविष्य में होने वाली घटनाओं का संकेत भी मिलता है ।

इन सपनों ( Swapno ) का भी आपके जीवन में बड़ा महत्‍व है। शास्त्रों में स्वप्न फल ( Swapn Fal ) को विस्तार से बताया गया है| ज्‍योतिष विद्या के अनुसार व्‍यक्ति जो कुछ भी सपने ( Sapne ) में देखता है, उसका प्रभाव उसके जीवन पर जरूर पड़ता है। कई बार आपको याद रहता है कि आज आपने सपने ( sapne ) में क्‍या देखा और कई बार भूल जाते हैं।यदि आपको सपना याद नहीं रहता है या आप चाह कर भी याद नहीं रख पाते हैं, तो उसके लिये आपको सिर्फ एक काम करें। जैसे ही आपकी आंख खुले, बस मनमें दो बातें सोचिये, "मैं कहां हूं और मैं क्‍या कर रहा ?" फिर ईश्वर से अपने पर कृपा बनाये रखने की प्रार्थना अवश्य करें।फिर आप अपना स्‍वप्‍न भूल नहीं सकते।

भारतीय ग्रंथों, ज्योतिष शास्त्रों में स्वप्न देखे जाने के समय, उसकी तिथि व अवस्था के आधार पर स्वप्न परिणाम ( swapn parinam ) का बहुत सूक्ष्मता और सरलता से विश्लेषण किया गया है।

रात के पहले पहर में आने वाले स्वप्न बुरे सपने ( Bure sapne ) अर्थात अशुभ स्वप्न ( Ashubh swapn ) होते है लेकिन आधी रात के बाद आने वाले स्वप्न समान्यता अच्छे सपने ( Achche sapne ) अर्थात शुभ स्वप्न ( shubh swapn ) माने जाते है ।

hand logo शुक्ल पक्ष की षष्ठी, सप्तमी, अष्टमी, नवमी और दशमी तथा कृष्ण पक्ष की चतुर्दशीतथा सप्तमी तिथि को देखा गया सपना ( Sapna ) शीघ्र फल देने वाला होता है।

hand logo पूर्णिमा को देखे गए स्वप्न का फल ( swapn ka fal ) हमें अवश्य ही प्राप्त होता है।

hand logo शुक्ल पक्ष की द्वितीया, तृतीया एवं कृष्ण पक्ष की अष्टमी, नवमी को देखा गए स्वप्न ( swapn ) का हमें विपरीत फल मिलता है।

hand logo शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा और कृष्ण पक्ष की द्वितीया के स्वप्न का हमें देरी से फल प्राप्त होता है।

hand logo शुक्ल पक्ष की चतुर्थी एवं पंचमी को देखे गए सपने ( sapne ) का हमें दो मास से दो वर्ष के भीतर फल प्राप्त हो जाता है।

शास्त्रों के अनुसार रात्रि के प्रथम प्रहर का स्वप्न एक वर्ष में , दूसरे प्रहर का स्वप्न आठ महीने में ,तीसरे प्रहर का स्वप्न तीन मॉस में ,चौथे प्रहर का स्वप्न एक मास में ,ब्रह्म मुहूर्त का स्वप्न दस दिन में तथा सूर्योदय से पूर्व देखे गये स्वप्न का फल उसी दिन प्राप्त की संभावना प्रबल होती है।

धार्मिक ग्रंथों के अनुसार यदि रात में शुभ स्वप्न दिखाई दे और नींद टूट जाय तो स्वप्न देखने के बाद दोबारा नहीं सोना चाहिए। उसी समय स्नानादि करके भगवान की पूजा करके उन्हें धन्यवाद देना चाहिए। शुभ स्वप्न ( Shubh Swapn ) को देखने पर उसके फल प्राप्ति के लिए अपना स्वप्न किसी को नहीं बताना चाहिए।

( Ashubh Swapn ) अशुभ स्वप्न दिखने पर यदि फिर से सो जाएँ तो उसका अशुभ प्रभाव समाप्त हो जाता है |
अशुभ स्वप्न देखने पर प्रात: काल घर के बड़े बुजुर्गो को अथवा पीपल के पेड़ को इस स्वप्न के विषय में बता देना चाहिए। इससे स्वप्न के अशुभफल में कमी आ जाती है। अशुभ स्वप्न आने पर उसकी शान्ति के लिए ईश्वर का पूजन ,,हवन, ब्राह्मण भोजन और दान करने से अशुभ फल समाप्त हो जाते है |


सपनों का फल ( Sapno Ka fal )

अपना निरादर देख्ना -   मान सम्मान की प्राप्ति ।

अखरोट देखना -   धन वृद्धि ।

अनाज देखना    चिंता मिले ।

अनार खाना (मीठा) -   धन मिले ।

अजनबी मिलना -   अनिष्ट की सम्भावना ।

अध्यापक देखना -   सफलता मिले ।

अँधेरा देखना -   विपत्ति आये ।

अप्सरा देखना -   धन,यश की प्राप्ति ।

अर्थी देखना -   सफलता / धन लाभ ।

अमरुद खाना -   धन लाभ ।

अदरक खाना -   मान सम्मान की प्राप्ति ।

अलमारी बंद देखना -   धन की प्राप्ति ।

अलमारी खुली देखना -   धन की हानि ।

अंगूर खाना -   स्वस्थ्य लाभ ।

अंग कटा हुआ देखना -   स्वास्थ्य लाभ ।

अंग दान करना -   पुरस्कार, सम्मान की प्राप्ति ।

अंगूठा चूसना -   पैत्रक में विवाद ।

अंतिम संस्कार देखना -   परिवार में मांगलिक कार्य होने की सम्भावना ।

अख़बार पढ़ना, देखना, खरीदना    वाद विवाद की आशंका ।

अट्हास करना -   दुःख के समाचार मिल सकते है ।

अध्यक्ष बनना -   मान हानि की आशंका ।

अध्यन करना -   असफलता मिलने की आशंका ।

अपहरण देखना -   लम्बी उम्र ।

अभिमान करना -   अपमानित होना ।

अगरबत्ती देखना -   धार्मिक अनुष्ठान हो ।

अपठनीय अक्षर पढना -   दुखद समाचार मिले ।

अंगीठी जलती देखना -   अशुभ संकेत ।

अंगीठी बुझी देखना -   शुभ संकेत ।

आग उठाना -   कष्ट मिले ।

अंडे देखना -   झगडा होवे ।

अजगर देखना -   शुभ संकेत ।

अस्त्र देखना -   सभी संकटों से रक्षा ।

अंगारों पर चलना -   शारीरिक कष्ट मिलना |

अपने को आकाश में उड़ते देखना -   सफलता प्राप्त हो ।

अपने पर हमला देखना -   दीर्घ आयु ।

अपने आप को अकेला देखना -   लम्बी यात्रा का योग ।

अपने दांत गिरते देखना -   परिजनों को कष्ट मिले ।

अपने को बीमार देखना -   कष्ट मिले |

अपने को ऊंचाई पर देखना -   अपमानित हो सकते है ।

अपना कद छोटा देखना -   परेशानी उठाना ।

अपना कद बड़ा देखना -   संकटों के आगमन की संभावना ।


आम खाना -   सुंदर स्त्री मिले ।

आग देखना -   परिवार में शान्ति होवे ।

आग लगाना -   दुःख मिले ।

आंसू देखना -   परिवार में मंगल कार्य हो ।

आवाज सुनना -   शुभता का सूचक ।

आंधी देखना -   सफ़र में कष्ट मिले ।

आंधी में गिरना -   सफलता मिले ।

आइना देखना -   इच्छित वास्तु की प्राप्ति ।

आइना में अपना चेहरा देखना -   नौकरी/व्यापार में परेशानी ।

आसमान देखना -   मान सम्मान प्राप्त हो ।

आसमान में स्वयं को देखना -   शुभ योग ।

आसमान से स्वयं को गिरते देखना -   रोज़गार में हानि ।

आग से कपड़े जलना -   दुख मिले ।

आग में स्वय जलना -   मान सम्मान मिले ।

आजाद होते देखना -   चली आ रही परेशानियों से मुक्ति ।

आलू देखना -   इच्छित भोजन की प्राप्ति ।

आंवला देखना -   मनोकामना पूर्ण न होना ।

आंवला खाते देखना -   मनोकामना पूर्ण हो ।

आत्महत्या करना या देखना -   लम्बी आयु मिले ।

आँचल से आंसू पोछना -   शुभ समय का आगमन ।

आँचल में मुँह छिपाना -   मान सम्मान मिले ।

आवेदन करना या लिखना -   लम्बी यात्रा हो सकती है ।

आइसक्रीम खाना -   अच्छा समय का आगमन ।

इश्तहार पढना -   अपयश / धोखा मिले ।

इत्र लगाना -   मान सम्मान की प्राप्ति ।

इमारत देखना ऊँची -   धन यश की प्राप्ति ।

इंजन चलता देखना -   यात्रा का योग ।

इन्द्रधनुष देखना -   संकटों की पूर्व सूचना ।

इनाम मिले -   अपमानित हो सकते है ।

ईंट /पत्थर देखना -   कष्ट मिलने की सम्भावना ।



Loading...
Ad space on memory museum



अंअ: श्र

स्वप्न फल के बारे में अपने विचार सुझाव भी लिखे :-----
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Reply
1.
agar sapne dekte ut jaaun ya hosh me aajaun to iska kya phal hai
ramesh  

2.
Samachar patra padhana
avatans  

3.
meeting me s uth kar chale jana
asa  

4.
Mera pyar mujhe milega ya nhi uska name kranti yadav hai
Deshraj Singh Yadav  

5.
saphed saree pahne wali mahila ansu pochati hui brhmmurat m dekha eska matlab kya hai
lata  

6.
Sir teen bar merit me rah gya Hu job milegi ya nhi sahi batana please sir
pushpendra kumar  

7.
Sapane me mare hua pita ka aana aur mujhe pit ke chale jana.
Mujhe eska upay bataeye
Pintu das  

8.
Nadi me nahna
abhishek kumar  

9.
PAISA KESE PAAYEN
BRIJ THAKUR  

10.
Paisa kese Paayen
ANSURAG CHAYAL   

11.
sir mai sapneme maika ke ghar me sap ka sapna dakhati hu mere husband se ghhagara hota rahta hai please upai bataye namstay
archana  

12.
Meri maa baba papa ko swapn mai Delhi hai
uday shankar singh  

13.
Talabdekhna
Mukesh  

14.
swapan me choti bachhi rote dekhna aur eshatri dekhna bujurga eshatri dekhna pipal ka vraksha dekhna
navalkishor  

15.
सप्ने मे परेमी का मिल्ने का क्या अर्थ हं
सतपाल  

16.
swapanil  

17.
sir meine apne aap ko rail ki patri par ek lohe k pate pAR baith kar bahut taizi se
chalte hue dekha aur apne aap ko kafi dara hua dekha,aage jakar yamuna nadi k pull aane par mein neeche gir gaya.pehle nadi ka paani ganda dekha baad mein bahut saaf paani dekha.
vaibhav gupta  

18.
sapne mai ek chandi ka kabuter hai, ek aur kisi ne diya hai lekin uske per ko chaku se godker diaya hai.
avinash tiwari  

19.
Svapna me tulsi ke bij dena
Ka karan kya ho Santa h
C V Singh  

20.
सपने मे साप और विचछु देखना
ललित  

21.
Sapne mai court ka case jitne ka mtlb.plz tel me the ans.
ssachhu  

22.
Sapne mai court ka case jitne ka mtlb.plz tel me the ans.
ssachhu  

23.
spne me sone ki chain guna or kuch der bad chandi ki chain melna lekin kuch der bad sone ki vaps melna
Kailash Chandra Verma  

24.
Sapan me urad roti khana kesa hota hai
pankaj   

25.
Mera naam anjali h mai regular reader hu apk swapn phal aur vicharo ki mai bohot manati hu inn sab bato me
Mera sawal ye hai ki mujhe lagatar 2 sin sapne me ghode k pair ki naal dikh rhi h kya ho sakata hai ?? Kripya jaldi bataye
anjali  

26.
Vo insan jisse m hr pl bat krna chahti hu vo mere pass nahi h bat bhe nahi hoti usse but mujhe spne m vo mere sath dekhai deta h spne m hum dono sath sath hai bahut khush h iska kya mtlb hua...??
Sayra  

27.
M mere ek frnd ko bahut miss krti hu spne m sirf vhe dekhai deta h iska kya mtlb hua please btaye
Binu  

28.
Apne aapko grib aur beghar dekhna iska Kya Matlab hai
Parveen Kumar  

29.
मेरे घूटने मे लकड़ी कीली घुसा हुई थी मेने निकाली थी इसका क्या अर्थ है
रामलाल  

30.
Namaste kanya rashi me kanhi aapne likha ki ghee ka dipak na jalye lal kitab ke upye me likha hai ghee ka dipak jalye kya kare sahi se batye
babita goel  



1.
अपने अशुभ सपनों के दुष्प्रभाव को समाप्त करने के लिए पीपल के पेड़ पर जाकर पीपल को अपना देखा हुआ सपना सुनाकर उनसे कृपा बनाने का निवेदन करें ।
admin memorymuseum.net  

2.
यदि आपको लगता है कि आपने जो स्वप्न देखा है उसका परिणाम अनिष्टकारी हो सकता है तो उसके निवारण का उपाय अवश्य ही करना चाहिए।

शास्त्रों के अनुसार चित्रकूट वास के समय भगवान श्री राम ने भी एक स्वप्न देखा था जिसके अनिष्ट फल को दूर करने हेतु उन्होंने भगवान शंकर की पूजा की थी। कहते है उचित उपाय करने से बुरे स्वप्न से होने वाला दुष्प्रभाव समाप्त हो जाता है। यदि बुरा स्वप्न रात्रि 12 से 2 बजे के बीच देखा गया है और नींद खुल जाय तो तुरंत भगवान भोलेनाथ का स्मरण करते हुए "ऊँ नमः शिवाय" का जप करते हुए फिर से सो जाएं। सुबह ब्रह्ममुहूर्त में उठकर स्नानादि करके किसी शिवमंदिर में जाकर शिवलिंग पर जल, कच्चा दूध चढ़ाकर पूजा करें व मंदिर में पुजारी को कुछ दान दें । इससे स्वप्न का बुरा फल नष्ट हो जाता है।

यदि बुरा स्वप्न प्रात: 4 बजे के बाद देखा गया है तो प्रातः उठकर बिना किसी से कुछ कहे अपना स्वप्न तुलसी के पौधे से कह डालें। इससे स्वप्न का दुष्प्रभाव दूर हो जाता है। फिर स्नान के बाद " ऊँ नमः शिवाय " की एक माला का जप अवश्य करें।

हनुमान जी सब प्रकार का अनिष्ट दूर करने वाले हैं। बुरा स्वप्न देखने पर उसका अनिष्ट दूर करने के लिए नित्य हनुमान चालीसा का पाठ करें । सुंदरकांड, बजरंग बाण, संकटमोचन स्तोत्र का पाठ करने से भी जातक कोई कोई भी भय नहीं रहता है । यदि आपने बुरा स्वप्न देखा है और आपके घर में तुलसी का पौधा नहीं है, तो सुबह उठकर एक सफेद कागज पर अपने स्वप्न को लिखकर उसे जला दें फिर उसकी राख को नाली में पानी डाल कर बहा दें। फिर स्नान करने के बाद एक माला " ऊँ नमः शिवाय " का जाप करें। इससे भी स्वप्न का दुष्प्रभाव नष्ट हो जाता है।
admin memorymuseum.net  


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।