Memory Alexa Hindi

Yantras


कामदेव का मन्त्र, सुन्दरता बढ़ाने का मन्त्र


sundarta-badane-ka-mantra

मुद्गल पुराण के अनुसार कामदेव जी स्त्रियों के शरीर में वास करते हैं, खासतौर पर स्त्रियों के नेत्र, ललाट, भौंह, होठ और स्त्री की मुस्कान इनका प्रिय स्थान है।
कामदेव स्त्री, यौवन, सुंदर फूल, गीत, फूलों के रस, चंदन,, पक्षियों की मीठी आवाज, सुंदर बाग-बगीचों, वसंत ऋ‍तु, मंद हवा, सुंदर रहने के स्थान, आकर्षक वस्त्र, आकर्षक व्यक्तित्व और सुंदर आभूषण धारण किए शरीरों में भी रहते है।

शास्त्रो के अनुसार ब्रह्मा जी ने कामदेव को रहने के 12 स्थान स्त्रियों के कटाक्ष, केश राशि, जंघा, वक्ष, नाभि, जंघमूल, अधर, कोयल की कूक, चांदनी, वर्षाकाल, चैत्र और वैशाख महीना दिया है।
इसके अतिरिक्त ब्रह्माजी ने कामदेव को पुष्प का धनुष और 5 बाण ......
1. मारण, 2. स्तम्भन, 3. जृम्भन, 4. शोषण, 5. उम्मादन (मन्मन्थ) भी प्रदान किये है ।

कामदेव त्रियोदशी तिथि के स्वामी कहे गए है त्रियोदशी के दिन इनके मन्त्र के जाप करने इनका ध्यान करने से जीवन में कभी भी प्रेम की कमी नहीं होती है जातक की सुन्दरता उसका यौवन लम्बे समय तक बना रहता है, उसमें आकर्षण और सम्मोहन शक्ति प्रबल रहती है।

काम देव का बीज मंत्र :-
" क्लीं कामदेवाय नमः "
उपरोक्त मन्त्र का त्रियोदशी के साथ साथ नित्य जाप करने से सुंदरता काम शक्ति, सम्मोहन शक्ति बढ़ती है जातक के व्यक्तित्व में जादू सा छा जाता है वह सबका लोकप्रिय होता है ।




दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यह साइट या इस साईट से जुड़ा कोई भी व्यक्ति, आचार्य, ज्योतिषी किसी भी उपाय के लिए धन की मांग नहीं करते है , यदि आप किसी भी विज्ञापन, मैसेज आदि के कारण अपने किसी कार्य के लिए किसी को भी कोई भुगतान करते है तो इसमें इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी । यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।।


Yantras