Memory Alexa Hindi

सर्दियों के आहार
Sardiyo ke aahar


करवा चौथ का व्रत

सर्दियों के 10 खास आहार
sardiyo ke 10 khas aahar




खाना-पीना हमेशा मौसम के अनुसार हो तो शरीर के लिए अत्यंत फायदेमंद रहता है। सर्दियों का मौसम सेहत बनाने का होता है। इस समय हमारा डाइजेशन सिस्टम पूरी क्षमता से काम करता है। अर्थात इस मौसम में हमारी पाचन शक्ति बढ़ जाती है । इसलिए सर्दी के मौसम में खानपान खास होना चाहिए। इस समय सभी लोग गरिष्ठ भोजन जैसे तला भुना, परांठे, समोसे, पकौड़े, कचौड़ियाँ, खूब घी, मक्खन , ड्राई फ्रूट , पिन्नी आदि लेना पसंद करते हैं लेकिन यह उचित नहीं है आपको सयंमित भोजन करना चाहिए अगर आप गरिष्ठ भोजन करते है तो आपको इसके साथ खूब कसरत भी करनी चाहिए और भारी भोजन दिन के समय में ही लेना चाहिए रात में नहीं ।

बदलते मौसम के अनुसार अपने शरीर को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के लिए हमें अपने भोजन में फेरबदल करने चाहिए। हम जैसा भोजन करते हैं, उसका असर हमारे तन व मन दोनों पर होता है। सर्दियों में हमें अपने खाने में चावल-गेहूं के अलावा बाजरा, मक्का, ज्वार आदि भी शामिल करना चाहिए । यह ना केवल पौष्टिक होते है वरन इनके सेवन से हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है । इनमें विटामिन, प्रोटीन, फाइबर और आइरन बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है ।

यहाँ पर हम आपको सर्दियों के 10 विशेष आहार Sardiyon ke 10 vishesh aahar बता रहे है जिनका उपयोग करने से आप ना केवल पूरे वर्ष स्वस्थ ही बने रह सकते है वरन आप पर उम्र का असर भी नज़र नहीं आएगा ।

1. हरी सब्जियां :- हरी सब्जियां सर्दियों के मौसम में सेहत के लिए बहुत अच्छी मानी जाती हैं। सर्दियों Sardiyon के मौसम में पालक, सरसो / बथुए का साग, मेथी और गोभी आदि का नित्य प्रयोग करना चाहिए ।
इनमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। इसमें आयरन, कैलशियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम खूब होता है। इन सब्जियों में फाइबर भी प्रचुर मात्र में होता है।
हरी पत्तेदार सब्जियां हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाती हैं।

इनका नित्य सेवन करने से डायबिटीज का खतरा कई गुना कम हो जाता है।
हरी सब्जियाँ हमारी आंखों के लिए भी बेहद लाभदायक होती हैं और यह कैंसर के रोकथाम में कारगर हैं। नित्य हरी सब्जियाँ लेने से जोड़ो का दर्द भी दूर होता है ।
हरी सब्जियां सभी उम्र के लोगो को अनिवार्य रूप से लेनी चाहिए ।

2. आंवला:- आवँले को अमृत फल कहा गया है । आंवला सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। आँवले में दो संतरे के जितना विटामिन सी होता है। विटामिन सी को अच्छा एंटी-ऑक्सिडेंट माना जाता है, इसलिए आंवला खाने का सबसे बड़ा फायदा यही है कि इसे लेने वाला जल्दी बूढ़ा नहीं होता है ।
इसमें शुगर कम होती है और फाइबर अधिक होता है, इसलिए इसे प्रतिदिन खाने से पाचन तंत्र मजबूत और स्वस्थ बनाता है यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। आँवला शरीर में मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है, इससे शरीर से वजन कम होता है ।

आँवला हमारी आँखों के लिए अत्यधिक फायदेमंद है । आंवला लीवर को भी मजबूत करता है इसके सेवन से शरीर का रक्त भी साफ होता है।
आंवला त्वचा और बालों के लिए भी अच्छा है। आँवला असमय बाल पकने की समस्या को दूर करता है। आंवला कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी सहायक है।
जाड़े के दिनों में नित्य कच्चे आंवले का सेवन करने से दाँत बहुत मजबूत हो जाते है शरीर में ऊर्जा का संचार होता है । इसलिए जितने भी समय आँवला ल फल बाजार में मिले उसका नियमित रूप से सेवन करना चाहिए ।

3. तिल:- तिल गुणों की खान है । विशेषकर सर्दियों में तिल का सेवन हमारे शरीर के लिए अत्यंत लाभदायक होता है। सर्दियों में तिल व तिल का तेल दोनों का ही सेवन अवश्य ही करना चाहिए।
आयुर्वेद में तिल गरम,, भारी, स्निग्ध, कफ-पित्त-कारक, बलवर्धक, बालो के लिए हितकारी, स्तनों में दूध उत्पन्न करनेवाला, मलरोधक और वातनाशक माना जाता है ।
हमारे देश में प्राचीन काल से ही सर्दियों में तिल को खाने की परंपरा है । तिल में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, ऑक्जेलिक एसिड, अमीनो एसिड, विटामिन बी, सी तथा ई की प्रचुर मात्रा होता है। काले तिल व सफेद तिल दोनों ही लाभदायक है । इन दोनों का औषधीय रूप में भी प्रयोग किया जाता है।
सर्दियों में तेल के सेवन से शरीर के बहुत से रोग दूर होते हैं। तिल के तेल से नित्य मालिश करने से त्वचा मुलायम और चमकदार होती है शरीर में रक्त का संचार बेहतर होता है ।
सर्दियों में तिल और गुड़ दोनो को समान मात्रा में लेकर उसके लड्डू बना ले। फिर नित्य 2 बार 1-1 लड्डू दूध के साथ खाने से तनाव, मानसिक दुर्बलता एवं कमजोरी दूर होती है शरीर को शक्ति मिलती है। सांस फूलना बंद हो जाता है ।

तिल के इन लड्डुओं लगातार 2 माह तक सेवन करने से बुढ़ापा दूर रहता है।
मुहाँसों, कमर दर्द, बदन दर्द, पेट दर्द, सुखी खाँसी, खूनी और पुरानी बवासीर, कब्ज, शरीर के घाव , सूजनन त्वचा, बालो और बार बार पेशाब आने की परेशानियों आदि में यह राम बाण का काम करता है ।
प्रतिदिन रात्रि में तिल को खूब चबा चबाकर खाने से दाँत मजबूत होते हैं।
तिल के गजक, रेवड़ियाँ और लड्डू आदि सर्दियों में शरीर को ऊष्मा प्रदान करते हैं।

4. ड्राई फ्रूट्स;- सर्दियों sardiyon में ड्राई फ्रूट्स अर्थात सूखे मेवों का अवश्य ही सेवन करें । सूखे मेवो में एनर्जी और पोषक तत्व भरपूर होते हैं। मेवो में मौजूद तत्व शरीर को बिमारियों से दूर करके उसे रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करते हैं। ड्राई फ्रूट्स में ओमेगा 3, प्रोटीन, फाइवर, फॉलिक एसिड, विटामिन ई , विटामिन बी 6, कैल्शियम, मैग्नीशियम आदि भरपूर मात्रा में होता है ।
ड्राई फ्रूट्स में ओमेगा 3 एसिड होता है जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के साथ ही अलजाइमर आदि बीमारियों से भी बचाता हैं। इनमें विटामिन ई भी होता है।

सूखे मेवो में ओलिक और पेल्मिटोलिक एसिड विधमान होता हैं, जो एलडीएल अर्थात खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करके एचडीएल अर्थात अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता हैं। अखरोट, काजू , बादाम , पिस्ता आदि हमारे, दिल, दिमाग, आँखों, बालो, हड्डियों और त्वचा के लिए अत्यंत लाभदायक है । इनके सेवन से कैंसर जैसे घातक रोगो से भी बचाव होता है ।

5. गाजर:- सर्दियों Sardiyon में गाजर का अवश्य ही सेवन करें। गाजर आसानी से उपलब्ध होने वाला सस्ता और बहुत ही अच्छा आहार है । गाजर खाने से हमारी रोग प्रतिरोधक छमता बढती है। गाजर में विटामिन ए प्रचुर मात्रा में होता है इसलिए यह हमारी त्‍वचा और आँखों के लिए दैवीय वरदान है। गाजर में बीटा कैरोटीन,होता है जो कि पुरषों के लिये बहुत आवश्यक है। गाजर पीलिया की प्राकृतिक औषधि है। इसका सेवन ब्लड कैंसर और पेट के कैंसर में भी लाभदायक है।
गाजर खाने से पुरुषो की प्रजनन शक्ति बढ़ती है । नित्य गाजर का सेवन करने से हमारा पाचन तंत्र ठीक तरीके से काम करता है । गाजर ह्रदय के लिए भी लाभदायक है इसके सेवन से हड्डियां मजबूत होती है और गठिया में भी लाभ मिलता है । गाजर को रक्त शोधक भी कहते है । गाजर का सेवन करने से पेशाब खुल कर आता है ।


नित्य गाजर के जूस का सेवन करने से आँखों की रौशनी बढ़ती है दिल मजबूत होता है, रंग गोरा होता है और त्वचा में भी चमक आती है ।
गाजर का सलाद, आचार, मुरब्बे, हलुवे और जूस के रूप में सेवन करे ।


Loading...



दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।