Memory Alexa Hindi
Ad space on memory museum

Kalash One Image साप्ताहिक राशिफल 2017 Kalash One Image
Kalash One Image Saptahik Rashifal 2017 Kalash One Image


dhanu-rashi


सप्ताह का राशिफल
Weekly Rashifal 2017


Kalash One Imageहर व्यक्ति की इच्छा अपने जीवन, अपने भविष्य और अपने भाग्य के बारे में जानकारी प्राप्त करने की होती है। इस संसार में प्रत्येक व्यक्ति चाहता है कि उसको जीवन में सभी सुखो की प्राप्ति हो, यदि भविष्य में समय प्रतिकूल आ रहा तो उस समय को ज्योतिष के उपायों के अनुसार अपने अनुकूल किया जाय । ज्योतिष शास्त्र Jyotish Shastra से दैनिक जीवन की समस्याओ का समाधान, भविष्य में घटने वाली घटनाओ की जानकारी प्राप्त की जाती है ।

Tags : इस सप्ताह का राशिफल, is Saptah Ka Rashiifal, साप्ताहिक राशिफल, Saptahik Rashifal, Weekly Rashifal in Hindi

Kalash One Image ज्योतिषशास्त्र Jyotish Shastra में मनुष्य पर ग्रहों और नक्षत्रो के शुभ - अशुभ प्रभावों का अध्ययन किया जाता है। इसमें सूत्रों से गणित द्वारा ग्रह तथा तारों की स्थिति ज्ञात करके विभिन्न राशियों पर उसके फलमान की गणना की जाती है। जिसे उस राशि का भविष्यफल या राशिफल Rashifal कहा जाता है ।

Kalash One Image ज्योतिष शास्त्र Jyotish Shastra में कुल 12 राशियाँ मानी गयी हैं। ज्योतिष शास्त्र Jyotish Shastra के अनुसार इन सभी राशि की अपनी अपनी ताकत, कमजोरियां, अपने विशिष्ट गुण होते है जिससे इन राशियों के लोग प्रभावित रहते है। ।

Kalash One Image फलादेश या राशिफल मुख्यत: विभिन्न राशियों में चंद्रमा के भ्रमण पर निर्भर होता है। चंद्रमा उस दिन या सप्ताह भर में जिस लग्न या राशि के जिस भाव में भ्रमण करता है, उसी से दैनिक राशिफल Danik Rashifal और साप्ताहिक राशिफल Saptahik Rashifal निकला जाता है। आइये आपको बताते है कि चन्द्रमा जिस समय किसी राशि के जिस भाव में होता है तो उसका क्या फल मिलता है।

Kalash One Image 1. प्रथम भाव : इससे भाग्योदय, उपहार प्राप्ति, धन लाभ Dhan Labh, उत्तम भोजन, कार्य की सफलता के बारे में जानकारी मिलती है।

Kalash One Image 2. द्वितीय भाव : द्वितीय भाव से मन में अस्थिरता, तनाव, असंतोष, नेत्र विकार, व्यर्थ भागदौड़, धन के अपव्यय की जानकारी मिलती है।

Kalash One Image 3. तृतीय भाव : तृतीय भाव से पराक्रम वृद्धि, धन लाभ Dhan Labh, प्रसन्नता, मान सम्मान Maan Samman, उन्नति के अवसरो का भान होता है ।

Kalash One Image 4. चतुर्थ भाव : चतुर्थ भाव से दिनचर्या का अस्तव्यस्त होना, व्यर्थ की भागदौड़, परिवार में वाद विवाद Parivar Me Vaad Vivad, चिंता, अनिद्रा अदि के बारे में पता चलता है।

Kalash One Image 5. पंचम भाव : पंचम भाव से शोक, निराशा, असफलता, संतान से कष्ट, वायु विकार, धन हानि के बड़े में जानकारी मिलती है।

Kalash One Image 6. षष्ठ भाव : इस भाव से धन लाभ, शत्रुओं पर विजय, पारिवारिक सुख-शांति Parivarik Sukh Shanti, मान सम्मान Maan Samman, आरोग्य के बारे में पता चलता है।

Kalash One Image 7. सप्तम भाव : सप्तम भाव से कार्यो में सफलता Karyon Me Safalta, धन लाभ Dhan Laabh, यश, स्त्री व वाहन सुख, समस्या के समाधान आदि के बारे में पता चलता है।

Kalash One Image 8. अष्टम भाव : अष्टम भाव से दुःख, कष्ट, कार्य में बाधाएँ, धन ह‍ानि, बीमारी के बारे में जानकारी मिलती है ।

Kalash One Image 9. नवम भाव : नवम भाव से चिंता, अपयश, राज्य भय, व्यर्थ की भागदौड़, यात्रा में असफलता, व्यापार में हानि के बारे में जानकारी मिलती है ।

Kalash One Image 10. दशम भाव : दशम भाव से सफलता, कार्य सिद्धि Kary Siddhi, समस्त सुख व लाभ की प्राप्ति, आरोग्य आदि का पता चलता है ।

Kalash One Image 11. एकादश भाव : इस भाव से हर्ष, उत्साह, धन लाभ Dhan Labh, उत्तम भोजन व द्रव्य की प्राप्ति, प्रेम-दाम्पत्य जीवन में सफलता Jeevan Me Safalta, परिवारिक सुख आदि के बारे में पता चलता है।

Kalash One Image 12. द्वादश भाव : द्वादश भाव से असफलता, वाद-विवाद, धन हानि, अपयश, रोग, दुर्घटना आदि के बारे में पता चलता है।

लेकिन यदि कुंडली में चंद्रमा उच्च का हो तो उसके 2, 5, 8, 9, 12 में गोचर होने पर भी कम अशुभता होती है। ज्योतिष शास्त्र में शुक्ल पक्ष में चंद्रमा को बली माना जाता है, तथा कृष्ण पक्ष में भी नवमी तिथि तक चंद्रमा को शुभ माना जाता है। क्षीण या अस्त चंद्रमा को दुख का कारक माना जाता है।

Kalash One Image राशिफल का निर्धारण : चंद्रमा की स्थिति से प्राय: दैनिक जीवन में शुभ अशुभ फल को ज्ञात किया जाता है । मान लीजिये कि आपकी राशि मेष है और किसी सप्ताह में चंद्रमा कर्क, सिंह व कन्या राशि में भ्रमण कर रहा है, तो इसका मतलब है कि चन्द्रमा आपकी राशि से क्रमश: चौथे, पाँचवें व छठे भाव में भ्रमण करेगा। उस स्थिति में यहाँ पर दर्शाये गए भाव फलों के अनुसार उसके फलो की गणना करें व ‍जाने की आपका सोचा हुआ कार्य सफल होगा अथवा नहीं। राशिफल या भाग्यफल इसी तरह से निर्धारित किया जाता है।

इसी तरह यदि उस समय में कोई अन्य ग्रह भी अपनी राशि बदल रहा है तो उसका भी तात्कालिक प्रभाव राशिफल में गिना जाता है ।

Kalash One Image यहाँ पर हम ज्योतिष की गणना के अनुसार प्रत्येक राशि का साप्ताहिक राशिफल / साप्ताहिक भविष्यफल दे रहे है जिससे व्यक्ति प्रत्येक सप्ताह अपनी स्थिति का आकलन करके अपने कार्यो की रुपरेखा बना सकता है ।

pandit-ji

पंडित कृष्ण कुमार शास्त्री


Ad space on memory museum


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।