Memory Alexa Hindi

Yantras



प्रेम के देव कामदेव


prem-ke-dev-kamdev

हिन्दु धर्म ग्रंथो में कामदेव को प्रेम और काम का देवता माना गया है, इनका रूप अति आकर्षक और सम्मोहन से भरा है। माना जाता है की यह किसी को भी आकर्षित कर सकते है। प्रेम में सफलता और सुखद दाम्पत्य जीवन के लिए इनकी पूजा करने का विधान है।

पौराणिक कथाओं के अनुसार कामदेव भगवान विष्णु और देवी लक्ष्मी के पुत्र हैं। शास्त्रो में कुछ स्थानों में उन्हें हिंदू देवी श्री के पुत्र और कृष्ण के पुत्र प्रद्युम्न, का अवतार भी कहा गया हैं । कामदेव का स्वरूप युवा और आकर्षक है।

कामदेव धनुष को धारण करते है जो पुष्पो से बना हुआ है, जिसमें मधुमक्खियों के शहद की रस्सी लगी है । इसका एक कोना काम में स्थिरता एवं दूसरा कोना चंचलता का प्रतीक है।
शास्त्रो के अनुसार कामदेव के तीर इतने सटीक है कि वह जब कमान से तीर छोड़ते हैं, तो उसकी आवाज नहीं होती और न ही शिकार को संभलने का मौका देते है।

वसंत, कामदेव के परम मित्र माने गए है इन्ही के दिन बसन्त पंचमी के दिन कामदेव की पूजा की जाती है।

कामदेव के धनुष उनके तीर का लक्ष्य विपरीत लिंगी होता है। इसी विपरीत लिंगी आकर्षण से बंधकर पूरी सृष्टि का संचालन होता है। कामदेव का एक लक्ष्य खुद काम है जो पुरुष का प्रतीक है, जबकि दूसरा लक्ष्य रति हैं, जो स्त्री जाति का प्रतीक हैं।

कामदेव का वाहन हाथी को माना गया है। कुछ जगहों पर कामदेव को तोते पर बैठे हुए भी बताया गया है।

कामदेव के 'रागवृंत', 'अनंग', 'कंदर्प', 'मनमथ', 'मनसिजा', 'मदन', 'रतिकांत', 'पुष्पवान' तथा 'पुष्पधंव' आदि प्रसिद्ध नाम हैं। कामदेव को अर्धदेव या गंधर्व भी कहा जाता है, कहीं-कहीं इन्हें यक्ष की संज्ञा भी दी गई है।


Loading...


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यह साइट या इस साईट से जुड़ा कोई भी व्यक्ति, आचार्य, ज्योतिषी किसी भी उपाय के लिए धन की मांग नहीं करते है , यदि आप किसी भी विज्ञापन, मैसेज आदि के कारण अपने किसी कार्य के लिए किसी को भी कोई भुगतान करते है तो इसमें इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी । यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।।


Yantras