Memory Alexa Hindi
Bootstrap Example

पितृ दोष

Pitra Dosh

Pitra Dosh Hindi Image


पितृ दोष


Pitra Dosh


pitradosh


क्या है पितृदोष


Kya Hai Pitra Dosh


वह दोष Dosh जो पित्तरों से सम्बन्धित होता है पितृदोष Pitradosh कहलाता है। यहाँ पितृ Pitra का अर्थ पिता नहीं वरन् पूर्वज होता है। ये वह पूर्वज होते है जो मुक्ति प्राप्त ना होने के कारण पितृलोक में रहते है तथा अपने प्रियजनों से उन्हे विशेष स्नेह रहता है। श्राद्ध या अन्य धार्मिक कर्मकाण्ड ना किये जाने के कारण या अन्य किसी कारणवश रूष्ट हो जाये तो उसे पितृ दोष Pitradosh कहते है।

Tags : पितृ, Pitra, पितृ पक्ष, Pitru paksha, श्राद्ध, Shradh, श्राद्ध पक्ष, Shradh Paksha, पितरों का श्राद्ध, Pitron Ka Shardh, तर्पण, Tarpan, तर्पण विधि, Tarpan Vidhi पितरों का तर्पण, Pitron ka Tarpan, तर्पण का महत्व Tarpan Ka Mahtva, हमारे पितृ, Hamare Pitra, पितृ पूजा, पितर देवता, Pitra Devta, पितृ विसर्जन, Pitra Visarjan, पितृ विसर्जन अमावस्या, Pitra Visarjan Amavasya 2017, पित्र दोष निवारण पूजा, Pitra Dosh Nivaran Puja, पितरों को कैसे प्रसन्न करें, Pitro Ko Kaise Prasan Kare, पितरों का आशीर्वाद कैसे प्राप्त करें, Pitron Ka Ashirwad Kaise Prapt Kare

hand logo विश्व के लगभग सभी धर्मों में यह माना गया है कि मृत्यु के पश्चात् व्यक्ति की देह का तो नाश हो जाता है लेकिन उनकी आत्मा कभी भी नहीं मरती है। पवित्र गीता के अनुसार जिस प्रकार स्नान के पश्चात् हम नवीन वस्त्र धारण करते है उसी प्रकार यह आत्मा भी मृत्यु के बाद एक देह को छोड़कर नवीन देह धारण करती है।

hand logo पित्तरों के अस्तित्व एवं महत्व का लगभग समस्त धर्मों में उल्लेख प्राप्त हुआ है। हमारे पित्तरों को भी सामान्य मनुष्यों की तरह सुख दुख मोह ममता  भूख प्यास आदि का अनुभव होता है। यदि पितृ योनि में गये व्यक्ति के लिये उसके परिवार के लोग श्राद्ध कर्म तथा श्रद्धा का भाव नहीं रखते है तो वह पित्तर अपने प्रियजनों से नाराज हो जाते है।

hand logoसमान्यतः इन पित्तरों के पास आलौकिक शक्तियां होती है तथा यह अपने परिजनों एवं वंशजों की सफलता सुख समृद्धि के लिये चिन्तित रहते है जब इनके प्रति श्रद्धा तथा धार्मिक कर्म नहीं किये जाते है तो यह निर्बलता का अनुभव करते है तथा चाहकर भी अपने परिवार की सहायता नहीं कर पाते है तथा यदि यह नाराज हो गये तो इनके परिजनों को तमाम कठनाइयों का सामना करना पड़ता है।

hand logo पितृ दोष Pitradosh होने पर व्यक्ति को जीवन में तमाम तरह की परेशानियां उठानी पड़ती है जैसे :
hand logo घर में सदस्यों का बिमार रहना
hand logo मानसिक परेशानी
hand logo सन्तान का ना होना कन्या का अधिक होना
hand logo पुत्र का ना होना
hand logo पारिवारिक सदस्यों में वैचारिक मतभेद होना
hand logo जीविकोपार्जन में अस्थिरता
hand logo पर्याप्त आमदनी होने पर भी धन का ना रूकना
hand logo प्रत्येक कार्य में अचानक रूकावटें आना
hand logo सर पर कर्ज का भार होना
hand logo सफलता के करीब पहुँचकर भी असफल हो जाना
hand logo प्रयास करने पर भी मनवांछित फल का ना मिलना
hand logo आकस्मिक दुर्घटना की आशंका
hand logo वृद्धावस्था में बहुत दुख प्राप्त होना आदि।

बहुत से लोगों की कुण्डली में कालसर्प Kaal Sarp योग भी देखा जाता है वस्तुतः कालसर्प योग भी पितृ दोष के कारण ही होता जिसकी वजह से मनुष्य के जीवन में तमाम मुसीबतों एवं अस्थिरता का सामना करना पड़ता है।



Loading...