Memory Alexa Hindi
Bootstrap Example

Yantras

Pitra Dosh Hindi Image

Yantras

Pitra Dosh Hindi Image


पित्र दोष निवारण के उपाय
Pitra Dosh Nivran Ke upay



नोट --  इन सिद्ध यंत्रों की स्थापना सभी प्राणियों के कल्याण हेतु की गयी है , यदि आपके मन में कोई संदेह है , या आप इन यंत्रों में विश्वास नहीं रखते है तो आप इस पेज को बंद कर दें , परन्तु इन यंत्रों का उपहास एवं अनादर न करें ।

पितृ दोष Pitra Dosh को बहुत ही घातक माना जाता है वर्तमान समय , कलयुग में प्रत्येक जातक / परिवार में कुछ ना कुछ पितृ दोष pitr dosh किसी ना किसी रूप में रहता ही है। पितृ दोष pitr dosh का यदि निवारण ना किया जाय तो जीवन भर अस्थिरताओं का, संघर्षो का सामना करना पड़ता है, कई बार तो पितृ दोष से पीड़ित जातक ऊंचाई पर जाकर भी अपना सब कुछ गँवा देता है। पितृ दोष के निवारण pitr dosh ke nivaran के लिए अमावस्या, पितृ पक्ष pitr paksh सावन माह और शनिवार का दिन विशेष रूप से श्रेष्ठ फलदायक है।

hand logo जो जातक जीवित अवस्था में अपने माता पिता का अनादर करते है अथवा पिता की मृत्यु के पश्चात जो संतान अपने पिता का श्राद्ध नहीं करता हैं या सर्प हत्या या किसी निरपराध की हत्या करता है तो अगले जन्म में उसकी कुण्डली में पितृदोष ( Pitra dosha) लग जाता है। पितृ दोष को बहुत अशुभ प्रभाव देने वाला माना जाता है।

hand logo पितृ दोष होने पर व्यक्ति को अपने जीवन में बहुत अस्थिरता का सामना करना पड़ता है । उसे संतान के सम्बन्ध में कष्ट मिलता है। इस दोष के कारण नौकरी एवं व्यापार में परेशानियाँ आती है, सर पर कर्जा बना रहता है, कोर्ट कचहरी - मुकदमो का सामना करना पड़ता है। विवाह में बाधाये आती है , पारिवारिक जीवन में बहुत क्लेश अशान्ति रहती है, घर के सदस्य बीमार रहते है , मित्रो सम्बन्धियों से धोखा मिलता है, महत्वपूर्ण कार्यों में बार बार असफलता प्राप्त होती है। यहाँ पर हम कुछ उपाय बता रहे है जिसको करके इस घातक दोष में निश्चित ही कमी आ सकती है ।

hand logo याद रखे घर के सभी बड़े बुजर्ग को हमेशा प्रेम, सम्मान, और पूर्ण अधिकार दिया जाय , घर के महत्वपूर्ण मसलों पर उनसे सलाह मशविरा करते हुए उनकी राय का भी पूर्ण आदर किया जाय ,प्रतिदिन उनका अभिवादन करते हुए उनका आशीर्वाद लेने, उन्हे पूर्ण रूप से प्रसन्न एवं संतुष्ट रखने से भी निश्चित रूप से पित्र दोष में लाभ मिलता है । 

hand logo अपने ज्ञात अज्ञात पूर्वजो के प्रति ईश्वर उपासना के बाद उनके प्रति कृतज्ञता का भाव रखने उनसे अपनी जाने अनजाने में की गयी भूलों की क्षमा माँगने से भी पित्र प्रसन्न होते है । 

hand logo सोमवती अमावस्या को दूध की खीर बना, पितरों को अर्पित करने से भी इस दोष में कमी होती है ।

hand logo सोमवती अमावस्या के दिन यदि कोई व्यक्ति पीपल के पेड़ पर मीठा जल मिष्ठान एवं जनेऊ अर्पित करते हुये “ऊँ नमो भगवते वासुदेवाएं नमः” मंत्र का जाप करते हुए कम से कम सात या 108 परिक्रमा करे तत्पश्चात् अपने अपराधों एवं त्रुटियों के लिये क्षमा मांगे तो पितृ दोष से उत्पन्न समस्त समस्याओं का निवारण हो जाता है।

hand logo प्रत्येक अमावस्या को गाय को पांच फल भी खिलाने चाहिए।

hand logo अमावस्या को बबूल के पेड़ पर संध्या के समय भोजन रखने से भी पित्तर प्रसन्न होते है।

hand logo प्रत्येक अमावस्या को एक ब्राह्मण को भोजन कराने व दक्षिणा वस्त्र भेंट करने से पितृ दोष कम होता है । 

hand logo पितृ दोष ( pitra dosh )से पीड़ित व्यक्ति को प्रतिदिन शिव लिंग पर जल चढ़ाकर महामृत्यूंजय का जाप करना चाहिए ।

hand logo माँ काली की नियमित उपासना से भी पितृ दोष ( pitra dosh ) में लाभ मिलता है।

hand logo आप चाहे किसी भी धर्म को मानते हो घर में भोजन बनने पर सर्वप्रथम पित्तरों के नाम की खाने की थाली निकालकर गाय को खिलाने से उस घर पर पित्तरों का सदैव आशीर्वाद रहता है घर के मुखियां को भी चाहिए कि वह भी अपनी थाली से पहला ग्रास पित्तरों को नमन करते हुये कौओं के लिये अलग निकालकर उसे खिला दे।

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।



अपने उपाय/ टोटके भी लिखे :-----
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  • Admin Post
No Tips !!!!
No Tips !!!!