Memory Alexa Hindi

महत्वपूर्ण उपाय, Mahatvapurn upay

ज्योतिष के उपाय, jyotish ke upay


ज्योतिष शास्त्र ( Jyotish shastr ) में जीवन के हर क्षेत्र में सफलता, मनवांछित लाभ के लिए ज्योतिष के उपाय ( jyotish ke upay ) की बहुत मान्यता है | इन ज्योतिष के उपायों ( jyotish ke upayo ) को पूर्ण श्रद्धा,विश्वास एवं विधि अनुसार करने से अवश्य ही कार्य सिद्ध होते है |
हमारा जीवन हमारे किये गए कर्म फलों पर आधारित है , इन्ही कर्मों से हमारे भाग्य , अच्छे बुरे समय का भी निर्धारण होता है , यह शाश्वत सत्य है की हमें अपने अच्छे कर्मों के अच्छे और बुरे कर्मों के बुरे फल अवश्य ही प्राप्त होते है . सामान्यता ऐसा भी देखा जाता है की व्यक्ति बहुत परिश्रम करता है , कर्म भी अच्छे करता है लेकिन उसे उचित फल नहीं मिलते है या उसकी कुंडली में बैठे ग्रहों के खराब फलों के कारण उसके जीवन में भीषण परेशानियाँ आ जाती है , ऐसे समय में हम यंत्र , मन्त्र ,पूजा पाठ और टोटको या उपायों का सहारा लेते है ।

ज्योतिष शास्त्र में ज्योतिष के उपाय ( jyotish ke upay ) या ज्योतिष के टोटके ( jyotish ke totke ) एक ऐसा मजबूत विज्ञानं है जिससे व्यक्ति बहुत ही कम व्यय ,कम समय और कम परिश्रम में अपनी अभिलाषा को पूर्ण कर लेता है ।
यंत्रों और मंत्रो की साधना अति जटिल और लम्बे समय वाली होती है इसमें बहुत श्रम भी करना पड़ता है इसीलिए हमारे ऋषि मुनियों ने मानव के कल्याण के लिए बहुत ही सरल,सुगम और बहुत ही जल्दी फल देने वाले ज्योतिष के अदभुत उपायों ( jyotish ke adbhut उपायों )/ ज्योतिष के टोटको ( jyotish ke totke ) का निर्माण किया है । विश्व के लगभग सभी देशो, सभी धर्मों में उनके उपाय ( Upay ) और टोटको ( totko ) को मान्यता प्राप्त है ।

उपाय करते समय ध्यान में रखने योग्य बातें


कई बार हम देखते है कि हम बहुत ज्यादा परिश्रम करते है, कुंडली के ग्रह भी ठीक होते है , हम पूजा पाठ भी करते है लेकिन हमें उचित सफलता नहीं मिलती है, हमारे कार्य बनते बनते रह जाते है, असफलता बहुत लम्बी खिंच जाती है , अगर हम सफल होते है तो पारिवारिक कलह, या क़ानूनी अड़चने अथवा परिवार में कोई ना कोई रोग, अथवा किसी मानसिक परेशानी के कारण जीवन में बहुत अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है । हम अपनी समस्या को जितना भी सुलझाने की कोशिश करते है उतनी ही उलझती जाती है ऐसे अवसर पर हमें कुछ उपाय बताये जाते है जिनको करने से हमारी परेशानियाँ कम होने लगती है ।

साथियों जो हमारे भाग्य में लिखा है वह तो होगा ही लेकिन इन उपायों के माध्यम से हम अपनी कुंडली के ग्रहो के दुष्प्रभाव को अवश्य ही कम कर सकते है। इन उपायों को करने से हमें आत्मबल, आत्मविश्वास की प्राप्ति होती है।

साथियों यहाँ पर बताये गए उपाय / टोटके, पूजा पाठ की विधियाँ, दान, वास्तु के उपाय आदि कोई जादू मंतर नहीं है कि आपने किया और आपकी परेशानी झट से गायब हो गयी। यह उपाय या टोटके एक टूल्स की तरह होते है जिनको श्रद्धा पूर्वक करके हम अपने कार्यों में शीघ्र सफल हो सकते है, अपनी चली आ रही परेशानियों को अगर ख़त्म नहीं तो कम तो कर ही सकते है।

जिस प्रकार किसी छात्र को यदि कोई योग्य शिक्षक अलग से ट्यूशन भी पढ़ा दे तो उस छात्र को परीक्षा में श्रेष्ठ अंक मिल सकते है उसी तरह से यदि हम सही प्रकार से इन उपायों को अपने जीवन में करे तो हमें भी जीवन रूपी परीक्षा में उत्तम परिणाम प्राप्त हो सकते है ।

जैसे व्यापार में सफलता के उपाय में हमने लिखा है कि "एक नारियल को चमकीले लाल नए कपडे में लपेटकर घर और व्यापार स्थल के पूजा स्थान अथवा तिजोरी में रखकर प्रतिदिन धुप /अगरबत्ती दिखाने से भी धन लाभ के योग बनते है" ।
इसके पीछे कारण यह है कि जब भी किसी के घर में कोई पूजा या शुभ कार्य होता है तो उसमें नारियल जरूर रखते है। शास्त्रों के अनुसार नारियल माँ लक्ष्मी को अत्यंत प्रिय है अत: जिस जगह नारियल होता है वहाँ पर माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है ।

इसी तरह हमने लिखा है कि "किन्नरों / हिजड़ो को वस्त्र एवं रूपए दान में देकर उन्हें प्रसन्न करके उनसे आशीर्वाद स्वरूप एक रुपया ले लें ,उस सिक्के को संभल कर अपनी तिजोरी में किसी डिबिया में रख दें ...दिन दूनी रात चौगनी तरक्की प्राप्त करने लगेंगे" ।
यह इसलिए कि मान्यताओं के अनुसार किन्नरों की दुआओं का बहुत असर होता है क्योंकि ईश्वर इनके ज्यादा करीब होता है। रामायण में श्री राम ने एक हिजड़े से प्रसन्न होकर उसे किसी को भी दुआ-बद्दुआ देने की शक्ति प्रदान की थी। इन्ही कथाओं के आधार पर पारंपरिक रूप से यह मान्यता चली आ रही है कि हिजड़े आध्यात्मिक रूप से अत्यंत शक्तिशाली होते हैं। ऐसी मान्यता है कि बुधवार के दिन किन्नरों से मिली दुुआ विशेषकर बुधवार को मिली दुआ तो जरूर और शीघ्र ही कबूल होती है। इसलिये लोग बुधवार के दिन किन्नरों को दिल खोल कर दान देते हैं।

टोटको को अन्धविश्वास नहीं कहा जा सकता है । किसी भी पुरानी परंपरा का लाभ न होने के बाद भी सुनी सुनाई कहानियों के आधार पर पालन करते रहना अन्धविश्वास कहलायेगा , लेकिन यह टोटके या उपाय बहुत ही प्राचीन और पीड़ियों से आजमाए हुए होते है , हमारे तमाम प्राचीन ग्रंथो, वेदों, उपनिषदों और श्रुतियों में इनका उल्लेख मिलता है ।
इनके अस्तित्व पर विश्वास करने वाले इनसे लाभ उठाने वाले लोग लाखों करोडो की संख्या में है । यहाँ पर हम आपको जीवन के बहुत से महत्वपूर्ण विषयों पर उपाय / टोटको के बारे में बता रहे है हमें पूर्ण विश्वास है की आप सभी लोगो को भी इन उपायों से मनवांछित लाभ प्राप्त होगा ।


उपाय करते समय ध्यान में रखने योग्य बातें ---

1. किसी भी उपाय को करते समय, व्यक्ति के मन में यही विचार होना चाहिए, कि उसके द्वारा किया गया उपाय ईश्वरीय कृ्पा से उसको अवश्य ही शुभ फल देगा।

2 . उपाय से संबन्धित गोपनीयता रखना अति आवश्यक होता है।

3 . सभी उपाय पूर्णत: सात्विक होकर करने चाहिए ।

4 . उपाय करते समय उपाय पर होने वाले व्ययों, समय और किये जाने वाले परिश्रम को लेकर चिन्तित नहीं होना चाहिए।

5. सदैव यह मान कर चलिए, कि श्रद्धा व विश्वास से सभी मनोकामनाएं अवश्य ही पूर्ण होती है.

6.धन सम्बन्धी किसी भी उपाय को शुक्ल पक्ष में करना ज्यादा अच्छा रहता है। और शुक्ल पक्ष का शुक्रवार इसके लिए उत्तम दिवस है ।

7. हिन्दू शास्त्रों में चतुर्थी, नवमी, चतुर्दशी को रिक्ता तिथि या खाली तिथि मानी जाती है इसलिए कोशिश करनी चाहिए कि इस दिन कोई भी उपाय शुरू नहीं करें । इन तिथि में कोई उपाय या नया काम शुरू करने से सफलता संदिग्ध हो जाती है ।



दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यह साइट या इस साईट से जुड़ा कोई भी व्यक्ति, आचार्य, ज्योतिषी किसी भी उपाय के लिए धन की मांग नहीं करते है , यदि आप किसी भी विज्ञापन, मैसेज आदि के कारण अपने किसी कार्य के लिए किसी को भी कोई भुगतान करते है तो इसमें इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी । यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।।