Memory Alexa Hindi

लू के घरेलु उपचार Loo ke Gharelu Upchar



लू से बचाव और उपचार


Tags :- लू,loo, lu,सन स्ट्रोक, sun stroke, हीट स्ट्रोक, heat stroke, लू के घरेलु उपचार, लू के उपचार,भीषण गर्मी, Bhishsn Garmi, लू के उपाय, लू का प्रकोप,loo ka parkope, भीषण लू, bhishsn loo, लू से कैसे करें बचाव, जानलेवा लू lu ke upchar, lu ke karan,lu ke upay , lu se kaise kare bachav

भारत में गर्मियों में चलने वाली प्रचण्ड गर्म तथा शुष्क हवाओं को लू ( Loo ) या सन स्ट्रोक ( sun stroke) या हीट स्ट्रोक ( heat stroke ) कहतें हैं।

लू ज्यादातर मई तथा जून में चलती हैं। लू के समय भीषण गर्मी ( Bhishsn Garmi ) पड़ती है और तापमान 42 डिग्री से अधिक हो जाता है | कई जगह तो पारा 49=50 डिग्री तक चला जाता है।

लू ( loo) लगने का प्रमुख कारण हमारे शरीर में नमक और पानी की कमी का होना है।

नमक और पानी का बड़ा हिस्सा हमारे शरीर से पसीने के रूप में निकलकर खून की गर्मी को बढ़ा देता है और हम लू के शिकार ( Loo ke shikar ) हो जाते है ।

लू में बहुत गर्म हवाएं ( Garam Havayen ) चलती है, हमारे देश में विशेषकर उत्तर भारत में प्रति वर्ष हज़ारो लोग लू का शिकार ( Loo ka shikar ) बन के असमय ही मृत्यु को प्राप्त हो जाते है ।
विशेषकर बच्चों, वृद्धों, या कमजोर व्यक्ति लू के जल्दी शिकार हो जाते है। मधुमेह, उच्च रक्तचाप और हृदय रोग या किसी अन्य बीमारी से पीड़ित व्यक्ति भी लू की जल्दी गिरफ्त में आ जाते हैं।


Ad space on memory museum


यहाँ पर आप अपनी समस्याऐं, अपने सुझाव , उपाय भी अवश्य लिखें |
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Reply
1.
मेरे दादा को बहुत तकलीफ़ है
उनको लू लग रही है और बार बार पेसाप करने जाना पड़ता है !
sunil  

2.
Loo lagne par chane ki pttiyo ko pani me bhigo kar payr ke talve v hatheli me rgadne se loo lage huy byakti ko aram milta hay chane ki pattiya dehato me log shukha ke rakhte hay jise tehati bhasa me shuska kahte hay
shailendr singh  

3.
Loo lagne par chane ki pttiyo ko pani me bhigo kar payr ke talve v hatheli me rgadne se loo lage huy byakti ko aram milta hay chane ki pattiya dehato me log shukha ke rakhte hay jise tehati bhasa me shuska kahte hay
shailendr singh  


No Tips !!!!


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।