Memory Alexa Hindi

खाँसी का इलाज
Khasi Ka Ilaj


khansi-ka-ilaj

खाँसी के घरेलु नुस्खे
Khasi Ke Gharelu Nuskhe



खांसी Khasi होने का मतलब है कि हमारा श्वासन तंत्र में, गले में समस्या है वह ठीक से काम नहीं कर रहा है। खाँसी होने पर लापरवाही ना बरते उसका तुरंत इलाज करवाएं, लगातार खाँसी होना खतरनाक हो सकता है।
यहाँ पर हम कुछ आसान से घरेलु / आयुर्वेदिक उपाय दे रहे है जिसको करने से शीघ्र ही खाँसी में आराम मिल सकता है,
जानिए खाँसी का इलाज, ( Khasi Ka Ilaj ) खाँसी के घरेलु नुस्खे ( Khasi Ke Gharelu Nuskhe ) ।

hand logo खांसी Khasi होने पर सेंधा नमक की डली को आग पर अच्छे से गरम कर लीजिए। जब नमक की डली गर्म होकर लाल हो जाए तो तुरंत आधा कप पानी में डालकर निकाल लीजिए। उसके बाद इस नमकीन पानी को पी लीजिए। ऐसा पानी 2-3 दिन सोते वक्त पीने पर खांसी समाप्त हो जाती है।

hand logo शहद, किशमिश और मुनक्के को मिलाकर लेने से खांसी जल्दी ही ठीक हो जाती है।

hand logo हींग, त्रिफला, मुलेठी और मिश्री को नींबू के रस में मिलाकर चाटने से भी खांसी में फायदा मिलता है।

hand logo भुने हुए चने को कालीमिर्च के साथ खाने से खांसी बहुत जल्दी गायब हो जाती है।

hand logo त्रिफला में बराबर मात्रा में शहद मिलाकर पीने से हर तरह की खांसी में फायदा होता है।

hand logo तुलसी, कालीमिर्च और अदरक की चाय पीने से भी खांसी शीघ्र ही समाप्त होती है।

hand logo पानी में नमक, हल्द‍ी, लौंग और तुलसी पत्ते उबालें। इस पानी को छानकर रात को सोते समय गुनगुना पिएँ। इसके लगातार सेवन से 7 दिनों के अंदर खाँसी पूरी तरह से समाप्त हो जाती है ।

hand logo खांसी Khasi होने पर खांसी को रोकने के लिए मूंगफली,चटपटी व खट्टी चीजें, ठंडा पानी, दही, अचार, खट्टे फल, केला, कोल्ड ड्रिंक, इमली, तली-भुनी चीजों को खाने से बचना चाहिए ।

hand logo सूखी खांसी में काली मिर्च को पीसकर घी में भूनकर लेना भी बहुत उत्तम रहता है।

hand logo पान का पत्ता और थोड़ी-सी अजवायन , चुटकी भर काला नमक व शहद मिलाकर लेना भी खांसी में लाभ देता है।

hand logo बताशे में काली मिर्च डालकर चबाने से भी खांसी में बहुत शीघ्र कमी आती है।

hand logo खांसी होने पर कई बार आइना देखते रहने से खांसी दूर हो जाती है।

hand logo नमक की डली मुह में डालकर चूसते रहने से खासी आनी बंद हो जाती है।



Loading...



इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।