Memory Alexa Hindi
Ad space on memory museum

जामा मस्जिद
Jama Masjid


images

जामा मस्जिद
Jama Masjid






जामा मस्जिद जिसे जुम्मा मस्जिद या शुक्रवार की मस्जिद भी कहा जाता है भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित है। जामा मस्जिद का शुमार दुनिया की सबसे बड़ी मस्जिदों में होता है। इसका निर्माण सन् 1656 ई0 में मुगल बादशाह शाहजहाँ ने करवाया था। यह मस्जिद लाल तथा संगमरमर के पत्थरो से बनी है इसकी दिवारों में कुरान की आयतें उकेरी गयी है।

जामा मस्जिद पुरानी दिल्ली में लाल किले से मात्र 500 मीटर की दूरी पर है। यह मस्जिद बहुत ही भव्य है इसे 5000 शिल्पकारों द्वारा बनाया गया था तथा उस समय इसके निर्माण में लगभग 10 लाख का खर्च आया था। इस मस्जिद में चार भव्य प्रवेश द्वार चार स्तम्भ और दो मिनारें है। इसका निर्माण लाल पत्थर एवं सफेद संगमरमर से किया गया है। इस मस्जिद में उत्तर तथा दक्षिण द्वार से प्रवेश किया जा सकता है मुख्य पूर्वी प्रवेश द्वार केवल शुक्रवार को ही खुलता है कहते है इसका उपयोग मुगल बादशाहों द्वारा किया जाता था। यह विशाल मस्जिद एक ऊँचे स्थान पर बनायी गयी है मस्जिद का प्रार्थना ग्रह बहुत ही सुन्दर एवं विशाल है इसमें ग्यारह मेहराब बनाये गये है। इसके उपर बने विशाल गुम्बद को सफेद एवं लाल संगमरमर से बहुत खूब सूरती से सजाया गया है जो हजरत निजामुदीन औलिया की दरगाह की याद दिलाता है। वास्तव में यह विशाल एवं भव्य मस्जिद मुगल बादशाह शाहजहाँ के वास्तुकला ज्ञान एवं प्रेम को दर्शाते हैं। यह मस्जिद इतनी विशाल है कि इसमें समान्यतः 25000 आदमी एक साथ बैठकर नमाज पढ़ सकते हैं लेकिन शुक्रवार तथा अन्य पाक दिनों में यह संख्या बहुत ज्यादा बड़ जाती है। इस मस्जिद को आगरा में स्थित माती मस्जिद की अनुकृति भी कहते है तथा इस मस्जिद में हिन्दु तथा मुस्लिम दोनो हीे धर्मो के कारीगरों वास्तुशास्त्रों ने योगदान दिया है इसीलिये इसकी वस्तुकला में दोनो ही धर्मो को छाप स्पष्ट दिखायी देती है।

इस पाक मस्जिद में सजदा करने केवल भारत ही नही वरन् पूरी दुनिया से लाखों लोग प्रतिवर्ष उमड़ते है तथा अपनी हर मुरादों को यहाँ की रहमतों से पूरा होता हुआ पाते है।









Ad space on memory museum



दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो, आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।