Memory Alexa Hindi

कोलेस्ट्रॉल के घरेलु उपचार


    कोलेस्ट्रोल कैसे कम करें

शरीर में कोलेस्ट्रोल ( cholesterol ) की मात्रा बहुत अधिक होने की स्थिति में हमें अपनी जीवनशैली खासकर अपने खाने की आदतों में थोड़ा बदलाव करना चाहिए।

यहाँ पर हम आपको कोलेस्ट्रोल ( cholesterol ) को कम करने / नियंत्रित करने के कुछ घरेलू नुस्खो के बारे में बता रहे है जिनसे आपको अवश्य ही लाभ प्राप्त होगा ।

कोलेस्ट्राल ( cholesterol ) को कम करने / नियंत्रित रखने के लिए लहसुन का नित्य सुबह खाली पेट सेवन अवश्य ही करना चाहिए । लहसुन एक सल्फर युक्त एंटी-ऑक्सीडेंट है जो कोलेस्ट्रोल ( cholesterol ) लेवल को नियंत्रित करने में बहुत ही अहम भूमिका का निर्वाह है। लहसुन ना केवल बुरे कोलेस्ट्रोल ( cholesterol ) एलडीएल को कम करता है इससे अच्छा कोलेस्ट्रोल एचडीएल भी बड जाता है ।

एक चम्मच अर्जुन की छाल का चूर्ण और एक चौथाई दाल चीनी पाउडर २ गिलास पानी में या एक गिलास गाय का दूध और एक गिलास पानी दोनों को मिक्स कर के इस में आधा रहने तक पकाये, और फिर छान कर सोने से पहले पी ले।

एक पानी से भरा गिलास में दो चम्‍मच मेथी दाना डाल कर उसे रात में भिगो दें। सुबह इस पानी को छानकर खाली पेट पी जाएं और उन मेथी के दानो को चबा चबा कर खा लें | रात भर पानी में मेथी भिगोने से पानी में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी ऑक्‍सीडेंट गुण बढ जाते हैं। इसका नित्य सेवन करने से शरीर से खराब कोलेस्‍ट्रॉल का लेवल कम होकर अच्‍छे कोलेस्‍ट्रॉल का लेवल बढ़ता है।

कोलेस्ट्रोल ( cholesterol ) को रोकने में ओट्स सबसे बड़ा सहायक होता है । ओट्स में फाइबर प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होते हैं जिसमें बीटा ग्लुकन होता है; यह फाइबर घुलनशील होता है और रक्त में कोलेस्ट्रोल के संचार को रोकता है।

सुबह खली पेट लौकी का जूस बनाये ५ पत्ते तुलसी और ५ पत्ते पोदीना के मिला कर, अब इसमें स्वादानुसार सेंधा नमक मिला कर पी ले।

खाने में सोयाबीन, मक्के के तेल का अवश्य प्रयोग करें इससे भी कोलेस्ट्राल ( cholesterol ) नियंत्रित रहता है । सोया तेल और मक्के के तेलों में स्टेराल होता है जो ना केवल एलडीएल को कम करता है वरन कोलेस्ट्रोल की कुल मात्रा को भी कम करता है ।

हाल में हुए अध्ययनों में पता लगा है कि ग्रीन टी कोलेस्ट्रॉल के स्तर को घटाने में कारगर है। जो लोग ज्यादा चाय ग्रीन टी पीते हैं उनमें कोलेस्ट्रॉल कम होने के साथ साथ स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याएँ भी कम हो जाती हैं।

अपने भोजन में ब्राउन राइस को लेना शुरू करें । ब्राउन राइस को पूरी तरह से प्रोसेस नहीं किया जाता बल्कि इसके सिर्फ बाहरी छिलके उतारे जाते हैं। इस कारण से चावल न सिर्फ प्रचुर मात्रा में फाइबर होता है बल्कि इसमें विटामिन और मिनरल भी बहुत अधिक मात्रा में मौजूद होते हैं। इसलिए अपने डाइट में सामान्य चावल की जगह ब्राउन राइस को शामिल करें ।

मछली का तेल से भी अधिक कोलेस्ट्रॉल/ बुरे कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायता मिलती है ।

हल्दी हमारे शरीर के लिए बहुत आवश्यक है । यह ह्रदय के लिए कवच का काम करती है। हल्दी शरीर में एलडीएल के लेवल को भी कम करती है । इसलिए हमें इसका नित्य सेवन अनिवार्य रूप से करना चाहिए ।
रोज 50 ग्राम कच्चा ग्वारपाठा खाली पेट खाने से खून में कोलेस्ट्रोल कम हो जाता है।

अंकुरित दालों को अपने भोजन में अवश्य ही शामिल करें ।

लहसुन, प्याज, इसके रस उपयोगी हैं। -- नींबू, आंवला जैसे भी ठीक लगे, प्रति दिन लें।

इसबगोल के बीजों का तेल आधा चम्मच दिन में दो बार।

अगर आप दूध पीते हैं तो उसमे थोडा सा दालचीनी पाउडर डाल दें इससे आपका कोलेस्ट्रोल कण्ट्रोल में रहेगा ।

रात के समय धनियाँ के दो चम्मच एक गलास पानी में भिगो दें। प्रात: हिलाकर पानी पी लें। धनियाँ को चबाकर निगल जाएं |

अपने भोजन में अदरक, लहसुन, धनियाँ, पुदीना,आंवला, हींग, अजवाईन आदि की चटनी नियमित रूप से अवश्य ही ले ।


<< पिछले पेज पर जाएँ

                                         

अगले पेज पर जाएँ >>




इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।