Free Astro, Vastu & Health-Tips

भाई दूज का अचूक मन्त्र
भाई दूज का अचूक मन्त्र
भाई दूज / यम दिव्तीया के दिन बहनो को अपने भाइयों को टीका लगाते समय उनके सुख-सौभाग्य, आरोग्य और दीर्घ आयु के लिए एक मन्त्र को अवश्य ही कहना चाहिए। इससे नर्क का भय दूर होता है जानिए भाई दूज का अचूक मन्त्र http://www.memorymuseum.net/hindi/bhaiya-dooj-kaise-manayen.php
http://www.memorymuseum.net/hindi/bhaiya-dooj-kaise-manayen.php
शनिवार का पंचांग
शनिवार का पंचांग
शनि मन्त्र :- "ऊँ शं शनैश्चाराय नमः।" आज कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की दिव्तीया तिथि 'भाई दूज' का पर्व दिन शनिवार है। शनिवार के दिन प्रात: पीपल के पेड़ में दूध मिश्रित मीठे जल चढ़ाने एवं सांय काल प्रदोष काल में पीपल के नीचे तेल का चतुर्मुखी दीपक जलाने से शनि देव प्रसन्न होते है, कुंडली की समस्त ग्रह बाधाएं दूर होती है। आज भाई दूज का पर्व है। आचार्य मुक्तिनारायण पाण्डेय के अनुसार आज के दिन प्रत्येक पुरुष को अपनी बहन के घर जाकर उनसे तिलक लगवाकर वहाँ पर भोजन करना चाहिए फिर उसे यथाशक्ति अपनी बहन को भेंट देना चाहिए, इससे उसे नरक के दर्शन नहीं होते है उसके सौभाग्य में वृद्धि होती है। आपने आज शनिवार का पंचांग पढ़ा ? नहीं तो लिंक पर तुरंत क्लिक करें
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Saturday
माँ लक्ष्मी के 18 पुत्रो के नाम
माँ लक्ष्मी के 18 पुत्रो के नाम
धन की देवी माँ लक्ष्मी के 18 पुत्र माने जाते हैं। अगर आपको अचानक पैसे रुपए की ज़रुरत पड़ जाए तो लक्ष्मी माता को नहीं, बल्कि उनके पुत्रों को पुकारिये। मान्यता है कि जब लक्ष्मी जी के पुत्रों का नाम लेंगे, तो मां दौड़ी चली आती है........ दीपावली के 5 दिवसीय पर्व में तो इनके नाम के आरंभ में ॐ और अंत में 'नम:' लगाकर जप करने से निश्चय ही अतुल ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। जानिए माँ लक्ष्मी के 18 पुत्रो के नाम
http://www.memorymuseum.net/hindi/ma-lakshmi-ke-18-putr.php
शुक्रवार के पंचांग
शुक्रवार के पंचांग
लक्ष्मी बीज मन्त्र :- "ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीभयो नमः"॥ आज कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि गोवर्धन पूजा का शुभ पर्व दिन शुक्रवार है। शुक्रवार को माँ लक्ष्मी की गुलाब का पुष्प अर्पण करके आराधना करने, श्री सूक्त का पाठ करने से माँ लक्ष्मी उस घर में सदैव निवास करती है। आज गोवर्धन पूजा / अन्नकूट पूजा का पर्व है । अन्नकूट का अर्थ है अन्न का इस लिए इस दिन सुख , सौभाग्य एवं वर्ष पर्यंत आर्थिक समृद्धि के लिए विभिन्न प्रकार के शाक, फल, अन्न, दूध, दूध से बने पदार्थ मिष्ठान, मालपुए, आदि से भगवान श्रीकृष्ण / भगवान श्री विष्णु जी को भोग लगाया जाता है ।आज के दिन गायों की सेवा करने का बहुत महत्व है। शुक्रवार के दिन सफ़ेद वस्तुओं के दान से आर्थिक पक्ष मजबूत होता है , आज शुक्रवार के पंचांग के लिए लिंक पर क्लिक करे
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Friday
जानिए माता लक्ष्मी के प्रिय भोग
जानिए माता लक्ष्मी के प्रिय भोग
इस पृथ्वी में जैसे लकड़ी के बिना लाचार व्यक्ति चलने में असमर्थ है उसी प्रकार धन अर्थात माता लक्ष्मी की कृपा के बिना इस भौतिक संसार में कोई भी कार्य करना, अपने कर्तव्यों का पालन करना लगभग असंभव ही है। जानिए ज्योतिषाचार्य अखिलेश्वर पाण्डेय जी के अनुसार माँ लक्ष्मी को कई चीज़े बहुत ही प्रिय है , कहते है यदि दीपवाली की रात्रि में माता को उन पदार्थो का भोग लगाया जाय तो माँ शीघ्र प्रसन्न होती है, जानिए माता लक्ष्मी के प्रिय भोग । दीवाली पर माँ लक्ष्मी का प्रशाद
http://www.memorymuseum.net/hindi/maalaxmi-ka-priye-bhog.php
दीपावली के अति शुभ दिन का पंचांग
दीपावली के अति शुभ दिन का पंचांग
ॐ श्रीं ह्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्मयै नम:' ॥ आज कार्तिक माह की अमावस्या 'दीपावली का महापर्व' है।, दीपावली के दिन विष्णु प्रिया माता लक्ष्मी का पूजन विघ्नहर्ता गणेश जी के साथ धन समृद्धि एवं सौभाग्य की प्राप्ति के लिए किया जाता है। इस दिन लोग माँ लक्ष्मी की कृपया प्राप्त करने के लिए अपने घरो , व्यापारिक प्रतिष्ठानों को दीपको से सजाकर उनकी पूजा करते है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अमावस्या के दिन किये गए उपाय बहुत ही प्रभावशाली होते है। पितृ दोष हो या किसी भी ग्रह की अशुभता को दूर करना हो, आर्थिक, पारिवारिक और मानसिक सभी तरह की परेशानियाँ इस दिन थोड़े से प्रयास से ही दूर हो सकती है। जानिए आचार्य मुक्तिनारायण पाण्डेय के अनुसार क्या है दीपावली के अति शुभ दिन का पंचांग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Thursday
दिवाली पर लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय
दिवाली पर लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दीपावली माँ लक्ष्मी की आराधना करने का वर्ष के सर्वश्रेष्ठ दिन है। इस दिन माँ लक्ष्मी की पूजा करने से घर में स्थाई सुख समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है । दीपावली के दिन हकीक / कौड़ियों / गोमती चक्र का आसान सा उपाय करने से घर पूरे वर्ष धन का आगमन बना रहता है, नौकरी / रोजगार में श्रेष्ठ लाभ मिलता है, जानिए पंडित कृष्ण लाल शर्मा के दिवाली पर लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय http://www.memorymuseum.net/hindi/diwali-par-laxmi-prapti-ke-upay.php
http://www.memorymuseum.net/hindi/diwali-par-laxmi-prapti-ke-upay.php
दीपावली क्यों मनाई जाती है
दीपावली क्यों मनाई जाती है
ज्यादातर लोग यही जानते है कि 'भगवान श्रीराम जी के लंकापति रावण का वध कर माता सीता को मुक्त कराकर वनवास से लौटने की ख़ुशी में' दीपावली का पर्व मनाया जाता है, लेकिन दीपावली का पर्व मनाने का केवल यही एकमात्र कारण नहीं है इस हर्ष-उल्लास के पर्व को मनाने के और भी कई धार्मिक और ऐतिहसिक कारण है .......आचार्य डा० उमाशंकर जी से जानिए दीपावली क्यों मनाई जाती है,...दीपावली किन किन कारणों से मनाई जाती है http://www.memorymuseum.net/hindi/dipawali-kyon-manai-jati-hai.php
http://www.memorymuseum.net/hindi/dipawali-kyon-manai-jati-hai.php
नरक चतुर्दशी के दिन क्या करें
नरक चतुर्दशी के दिन क्या करें
दीपावली पर्व से एक दिन पहले कार्तिक कृष्ण पक्ष चतुर्दशी को छोटी दीपावली / नरक चतुर्दशी / रूप चतुर्दशी के नाम से जाना जाता है। "ब्रह्म पुराणमें लिखा की जो मनुष्य वर्ष में इस दिन सूर्योदय से पूर्व स्नान करता है वह नरक का भागी नहीं होता है"। हस्तरेखा, कुंडली, रत्न विशेषज्ञ 'आचार्य उमाशंकर जी ' के अनुसार "इस दिन स्नान से पूर्व तिल्ली के तेल से मालिश करने एवं लौकी का एक उपाय करने से आरोग्य की प्राप्ति होती है, नरक का भय दूर होता है", जानिए छोटी दीपावली / नरक चतुर्दशी के दिन क्या करें
http://www.memorymuseum.net/hindi/narak-chaturdashi-ke-upay.php
मंगलवार का पंचांग
मंगलवार का पंचांग
"सुनु सिय सत्य असीस हमारी। पूजिहि मन कामना तुम्हारी"॥ आज कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की त्रियोदशी तिथि दिन मंगलवार, धनतेरस का पावन पर्व है। मंगलवार को हनुमान जी को लाल गुलाब अर्पण करके, गुड़ चना चढ़ाकर हनुमान चालीसा पढ़ने से समस्त भय और संकट दूर होते है। हिन्दू धर्म में धनतेरस के पर्व का अत्यंत महत्व है, धनतेरस के दिन कुबेर देव और धन्वन्तरि जी की पूजा करने से सुख-समृद्धि और आरोग्य की प्राप्ति होती है। धनतेरस के दिन पीतल, चाँदी, सोना खरीदने से घर में आरोग्य, सौभाग्य की प्राप्ति होती है भाग्य प्रबल होता है, धन समृद्धि में 13 गुना वृद्धि होती है। जानिए आज मंगलवार का पंचांग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday http://www.memory
धनतेरस के धन लाभ के उपाय
धनतेरस के धन लाभ के उपाय
धनतेरस के दिन इन 7 उपायों में कोई भी 2 उपाय भी कर ले,....तो धन-सम्पत्ति, ऐश्वर्य की कोई भी नहीं होगी कमी,.. जानिए "भृगु संहिता, कुंडली विशेषज्ञ ज्योतिषचार्य अखिलेश्वर पाण्डेय" जी के धनतेरस के धन लाभ के 7 उपाय http://www.memorymuseum.net/hindi/dhanteras-ke-dhan-labh-ke-upay.php
http://www.memorymuseum.net/hindi/dhanteras-ke-dhan-labh-ke-upay.php
जानिए धनतेरस के शुभ मुहर्त
जानिए धनतेरस के शुभ मुहर्त
धनतेरस दीपावली के 5 पर्वो में सबसे प्रथम और माँ लक्ष्मी एवं कुबेर जी की कृपा प्राप्त करने का सबसे प्रमुख दिन है। धनतेरस के दिन शुभ मुहूर्त में पूजा करने खरीददारी करने से विशेष लाभ प्राप्त होता है, पूरे वर्ष धन का आगमन बना रहता है, जानिए धनतेरस के शुभ मुहर्त http://www.memorymuseum.net/hindi/dhanteras-ka-muhurat.php #धनतेरसकेशुभमुहूर्त, #धनतेरस, #dhanteras, #dhanteraskeshubhmuhurth
http://www.memorymuseum.net/hindi/dhanteras-ka-muhurat.php
रविवार का पंचाग
रविवार का पंचाग
सूर्य मन्त्र :- "ऊँ घृणि सूर्याय नम:'।। आज कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी 'रमा एकादशी' दिन रविवार है । जीवन में यश और सफलता के लिए प्रत्येक रविवार को भगवान सूर्य को प्रात: ताम्बे के बर्तन में लाल चन्दन, गुड़, और लाल पुष्प डाल कर अर्घ्य दे एवं आदित्यहृदयस्तोत्रम्‌ का पाठ करें। स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं। एकादशी भगवान विष्णु को अत्यंत प्रिय है, एकादशी के दिन जल में आँवले का चूर्ण / रस डाल कर नहाने से पुण्य की प्राप्ति होती है, एकादशी के दिन चावल का सेवन करने से रोग और शत्रु बढ़ते है। रविवार के दिन अदरक का सेवन ना करे, जानिए क्या है रविवार का पंचाग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday
शनिवार का पंचाग
शनिवार का पंचाग
शनि मन्त्र :- "ऊँ शं शनैश्चाराय नमः।" आज कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि दिन शनिवार है। शनिवार को सुबह पीपल पर मीठा जल चढ़ाकर उसकी 7 परिक्रमा करने, सांय काल शनि देव पर तेल चढ़ाने से शनि देव प्रसन्न होते है। शनिवार को किसी ना किसी रूप में काले चने, उड़द की खिचड़ी या काले नमक का सेवन अवश्य ही करें। दशमी तिथि के देवता यमराज जी हैं।दशमी को इनकी पूजा करने, इनसे अपने पापो के लिए क्षमा माँगने से जीवन की समस्त रोग, बाधाएं दूर होती हैं, नरक के दर्शन नहीं होते है अकाल मृत्यु के योग भी समाप्त हो जाते है। नित्य पंचाग पढ़ने वाले जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में निश्चय ही सफलता प्राप्त करते है, जानिए क्या है आज शनिवार का पंचाग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Saturday
दीपावली के महत्वपूर्ण सुझाव
दीपावली के महत्वपूर्ण सुझाव
दीपावली हिन्दुओं का सबसे प्रमुख पर्व है । इस दिन कुछ बातो को ध्यान में रखकर अवश्य ही लाभ प्राप्त किया जा सकता है । जैसे दीपावली के पूजन में चावल का बिलकुल भी प्रयोग नहीं होता है उसकी जगह खीलों का प्रयोग करें । जानिए दीपावली के महत्वपूर्ण सुझाव http://www.memorymuseum.net/hindi/diwali-ke-mahatwapurn-sujhaw.php
http://www.memorymuseum.net/hindi/diwali-ke-mahatwapurn-sujhaw.php
शुक्रवार के पंचाग
शुक्रवार के पंचाग
जीवन में निरंतर शुभ समय के लिए पंचाग को पढ़ना कभी भी ना भूलें, नित्य पंचाग पढ़ने वाले जातक संसार में सभी सुखो का भोग करते है, आयु, यश, बल और आरोग्य की वृद्धि होती है, ज्ञान, बुद्धि और कौशल का विकास होता है। शुक्रवार के पंचाग के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करे, http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Friday
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Friday
रविवार का पंचाग
रविवार का पंचाग
सूर्य मन्त्र :- "ॐ घृणि सूर्याय नम:"।।आज कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि दिन रविवार है। जीवन में यश, श्रेष्ठ सफलता के लिए रविवार को भगवान सूर्य को प्रात: ताम्बे के बर्तन में लाल चन्दन, गुड़,लाल पुष्प डाल कर अर्घ्य दे एवं आदित्यहृदयस्तोत्रम्‌ का पाठ करे। तृतीया को देवताओं के कोषाध्यक्ष कुबेर जी पूजा करने से जातक को विपुल धन-धान्य, समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। आज करवा चौथ का पर्व है आज सुहागिन स्त्रियां अपने अखंड सौभाग्य की कामना और अपने पति की दीर्घायु के लिए निर्जल व्रत रखती हैं। मान्यता है कि इससे पति की सभी संकटो से रक्षा होती है, दाम्पत्य जीवन सुखमय होता है, तृतीया को परवल खाने से शत्रुओं की वृद्धि होती है। रविवार का पंचाग पढ़ने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करे http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday #पंचांग, #panchang, #आजकापंचांग, #aajkapanchang
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Sunday
माँ अष्टलक्ष्मी के दिव्य नाम
माँ अष्टलक्ष्मी के दिव्य नाम
आज कार्तिक माह का शुक्रवार है | शुक्रवार को माँ अष्टलक्ष्मी के इन नामो / मन्त्र का मात्र 11 बार ही नाम लेने से ही, समस्त भौतिक ऐश्वर्यों की दात्री माँ लक्ष्मी की कृपा मिलती है , धन, यश, सुख-समृ्द्धि, व्यापार, कारोबार में बढोतरी होती है। जानिए माँ अष्टलक्ष्मी के दिव्य नाम https://www.memorymuseum.net/hindi/ashtlakshmi-sadhna.php #माँअष्टलक्ष्मी, #maashtlakshmi
https://www.memorymuseum.net/hindi/ashtlakshmi-sadhna.php
करवा चौथ का महत्व,
करवा चौथ का महत्व,
कार्तिक माह की कृष्ण चन्द्रोदय चतुर्थी के दिन पत्नियाँ अपने अखंड सौभाग्य की कामना और अपने पति की दीर्घायु के लिए करवा चौथ का निर्जल ब्रत रखती हैं। मान्यता है कि इस ब्रत के कारण पति की किसी भी अनिष्ट से रक्षा होती है। माना जाता है कि अपने पति की लंबी उम्र के लिये इससे श्रेष्ठ कोई उपवास अतवा व्रतादि नहीं है। जानिए करवा चौथ का महत्व, कैसे करे इस ब्रत की तैयारी http://www.memorymuseum.net/hindi/karva-chowth-ka-mahatv.php
http://www.memorymuseum.net/hindi/karva-chowth-ka-mahatv.php
पूर्णिमा के अचूक उपाय
पूर्णिमा के अचूक उपाय
आज शरद पूर्णिमा है, आज करेंगे कुछ सात्विक उपाय, तो धन, यश और पारिवारिक सुखो की होगी प्राप्ति, माँ लक्ष्मी की मिलेगी कृपा, होगी सभी संकटो से रक्षा , जानिए पूर्णिमा के अचूक उपाय / पूर्णिमा के टोटके https://www.memorymuseum.net/hindi/purnima-ke-achuk-upay-totke.php
https://www.memorymuseum.net/hindi/purnima-ke-achuk-upay-totke.php
गुरुवार का पंचांग
गुरुवार का पंचांग
"ॐ नमो भगवते वासुदेवाये "।। आज अश्विन माह की पूर्णिमा 'शरद पूर्णिमा' दिन गुरुवार है। गुरुवार को शंख से भगवान विष्णु को स्नान करा के पीले फूल अर्पित करके पूजा करने से भगवान श्री विष्णु और माँ लक्ष्मी दोनों की ही कृपा प्राप्त होती है। शास्त्रों के अनुसार शरद पूर्णिमा के दिन माँ लक्ष्मी धरती पर आती है और जो जातक इस रात में जागकर मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना करते हैं मां लक्ष्मी की उन पर अवश्य ही कृपा होती है। शरद पूर्णिमा के दिन माँ लक्ष्मी को खीर का भोग लगाने से कुंडली में धन का प्रबल योग बनता है। शरद पूर्णिमा की रात्रि में भगवान श्रीकृष्ण ने बंसी बजाकर गोपियों को अपने पास बुलाकर उनके साथ रास रचाया था शरद पूर्णिमा को 'रास पूर्णिमा' या 'कामुदी महोत्सव' भी कहा जाता है। जानिए आज गुरुवार का पंचांग http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Thursday
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Thursday
पूर्णिमा के उपाय
पूर्णिमा के उपाय
प्रत्येक पूर्णिमा के दिन किसी शिव मंदिर में जाकर एक उपाय अवश्य ही करें, इस उपाय को करने से भगवान भोलेशंकर की कृपा से आरोग्य की प्राप्ति होती है, समस्त आर्थिक संकट / अड़चने दूर होते है, घर करोबार में माँ लक्ष्मी का वास होता है, कार्य क्षेत्र में श्रेष्ठ सफलता मिलती है। जानिए पूर्णिमा के भगवान शंकर की कृपा प्राप्त करने, पूर्णिमा के भाग्य चमकाने वाले उपाय http://www.memorymuseum.net/hindi/purnima-ka-mahatwa-upay.php #पूर्णिमाकेउपाय, #purnima, #पूर्णिमा
http://www.memorymuseum.net/hindi/purnima-ka-mahatwa-upay.php
पूर्णिमा के अचूक उपाय
पूर्णिमा के अचूक उपाय
5 अक्टूबर को शरद पूर्णिमा है। पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए 11 कौड़ियां का एक आसान उपाय करे। इस उपाय से धन की कोई भी कमी नहीं होती है, जातक को सुख-समृद्धि और ऐश्वर्य प्राप्त होता है। घर , कारोबार पर माँ लक्ष्मी की स्थाई कृपा बनी रहती है। जानिए ज्योतिष के अनुसार पूर्णिमा के अचूक उपाय http://www.memorymuseum.net/hindi/purnima-ka-mahatwa-upay.php
http://www.memorymuseum.net/hindi/purnima-ka-mahatwa-upay.php
परिवार में सुख शान्ति के अचूक उपाय
परिवार में सुख शान्ति के अचूक उपाय
यदि पति पत्नी के बीच मतभेद होते हो, घर में अशांति रहती हो तो गुड़ और नमक का एक उपाय करे इससे उस घर में पति-पत्नी या अन्य सदस्यों में बिलकुल भी लड़ाई झगड़े नहीं होते है । ....... इस उपाय को सोमवार, बुधवार, बृहस्पतिवार, शुक्रवार या रविवार को करें। जानिए परिवार में सुख शान्ति के अचूक उपाय
http://www.memorymuseum.net/hindi/parivar-me-sukh-shanti-ke-upay.php
बुधवार के पंचाग
बुधवार के पंचाग
गणपति मन्त्र :-"ॐ श्री महागण गणपतये नम:"।। आज अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि दिन बुधवार है बुधवार को विघ्नहर्ता गणेश जी को रोली का तिलक लगाकर, दूर्वा अर्पित करके गुड़ अथवा लड्डुओं का भोग लगाकर उनकी पूजा करने से सभी विघ्न दूर रहते है, बुधवार को बाल/दाढ़ी कटवाने तेल लगाने से धन लाभ के योग बनते है। चतुर्दशी तिथि के स्वामी भगवान शिव है, चतुर्दशी को भगवान शिव की आराधना, शिवलिंग का अभिषेक करने से समस्त संकट दूर रहते है। नित्य पंचाग पढ़ने वाले जातको को देवताओं का आशीर्वाद मिलता है, कुंडली के ग्रह शुभ फल देने लगते है अत: जीवन में निरंतर अच्छे समय के लिए पंचाग पढ़ना अपनी अनिवार्य आदत बनाये बुधवार के पंचाग के लिए लिंक पर क्लिक करें, आप सभी का दिन अत्यंत शुभ हो।
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Wednesday
शरद पूर्णिमा का महत्व
शरद पूर्णिमा का महत्व
5 अक्टूबर गुरुवार को शरद पूर्णिमा है। शास्त्रों के अनुसार शरद पूर्णिमा के दिन ही माँ लक्ष्मी का अवतरण हुआ था। शरद पूर्णिमा को रास पूर्णिमा भी कहते है। मान्यता है कि द्वापर युग में मां लक्ष्मी राधा रूप में अवतरित हुई और शरद पूर्णिमा की रात्रि में ही भगवान श्रीकृष्ण ने बंसी बजाकर गोपियों को बुलाकर उनके साथ रास रचाया था इसीलिए शरद पूर्णिमा को 'रास पूर्णिमा' या 'कामुदी महोत्सव' भी कहा जाता है। जानिए शरद पूर्णिमा का महत्व
http://www.memorymuseum.net/hindi/sharad-purnima.php
मंगलवार का पंचाग
मंगलवार का पंचाग
"प्रबिसि नगर कीजे सब काजा। हृदयँ राखि कोसलपुर राजा"॥ आज अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की त्रियोदशी तिथि दिन मंगलवार है। संकटमोचन हनुमान जी की आराधना से समस्त भय और संकट दूर होते है, मंगलवार को हनुमान जी को गुड़-चने का भोग लगाकर, लाल पुष्प अर्पित करके आराधना करने से जातक निर्भय हो जाता है उसके शत्रु परास्त होते है। त्रयोदशी तिथि के स्वामी प्रेम के देवता कामदेव हैं। इनकी पूजा करने से जातक रूपवान होता है, उसे प्रेम में सफलता एवं इच्छित एवं योग्य जीवनसाथी प्राप्त होता है, पूर्ण वैवाहिक सुख भी मिलता है। त्रयोदशी तिथि यात्रा एवं शुभ कार्यो के लिए श्रेष्ठ होती है। त्रियोदशी को बैगन नहीं खाना चाहिए।नित्य पंचाग पढ़ने से भाग्य साथ देने लगता है, जानिए आज मंगलवार का पंचाग
http://www.memorymuseum.net/hindi/aaj-ka-panchag.php?dayName=Tuesday
 शरद पूर्णिमा की पूजा विधि
शरद पूर्णिमा की पूजा विधि
शरद पूर्णिमा आश्चिन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को मनाई जाती है, जो इस वर्ष 2017 में 5 अक्तूबर, को मनाई जाएगी।शरद पूर्णिमा को कोजोगार पूर्णिमा, रास पूर्णिमा और कौमुदी व्रत भी कहते है। शास्त्रो के अनुसार इस दिन माता लक्ष्मी अवतरित हुई थी इसलिए इस दिन माँ लक्ष्मी की पूजा आराधना से अक्षय पुण्य प्राप्त होता है। जीवन में कभी भी धन का अभाव नहीं होता है, जानिए शरद पूर्णिमा / शरद पूर्णिमा की पूजा विधि
http://www.memorymuseum.net/hindi/sharad-purnima-ki-puja-vidhi.php
पंचक के उपाय
पंचक के उपाय
इस समय 2 अक्टूबर प्रात: से 6 अक्टूबर प्रात: 8.55 तक पंचक चल रहे है। धनिष्ठा का उतरार्ध, शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उतरा भाद्रपद व रेवती इन पांच नक्षत्रों को पंचक कहते है। पंचक में पाँच कार्यो को वर्जित कहा गया है। जानिए पंचक क्या है, इसमें कौन से पाँच कार्य नहीं करने चाहिए , पंचक के उपाय
http://www.memorymuseum.net/hindi/panchak.php
तुरंत सुंदरता बढ़ाने का उपाय
तुरंत सुंदरता बढ़ाने का उपाय
अगर आपको किसी पार्टी में जाना हो, या कोई विशेष अवसर हो तो तुरंत सुन्दर दिखने, चमकती दमकती त्वचा के लिए करे ये उपाय इस उपाय को करने से आप पार्टी में सबसे अलग नज़र नज़र आएंगे, लोगो की नज़र आपके चेहरे से हट नहीं पायेगी जानिए तुरंत सुंदरता बढ़ाने का / '10 मिनट में गोरा होने' का अचूक उपाय
http://www.memorymuseum.net/hindi/sundarta-badane-ke-upay.php